दूधी मुठिया रेसिपी | गुजराती दूधी मुठीया की रेसिपी | लौकी मुठिया | - Doodhi Muthia ( Gujarati Recipe)
द्वारा

दूधी मुठिया रेसिपी | गुजराती दूधी मुठीया की रेसिपी |  लौकी मुठिया | in Hindi

This recipe has been viewed 73823 times
5/5 stars  100% LIKED IT   
1 REVIEW ALL GOOD




दूधी मुठिया रेसिपी | गुजराती दूधी मुठीया की रेसिपी | लौकी मुठिया | doodhi muthia recipe in hindi language | with 25 amazing images.


दूधी मुठिया मुठ्ठी के आकार का एक गुजरातियों का पसंदीदा नाश्ता है। इसमें दूधी और प्याज़ के साथ उपयुक्त मात्रा में सूजी, गेहूं के आटे और बेसन का संयोजन है।

जबकि हरी मिर्च, अदरक और धनिया इस दूधी मुठिया को अधिक लज़ीज बनाते हैं, तो दूसरी ओर सरसों और तिल का पारंपारिक तड़का इन्हें खूश्बूदार और करकरापन प्रदान करते है। स्टीमर से निकालकर गरमा-गरम ही इनका आनंद लें।

मैं सही दूधी मुठिया बनाने के लिए कुछ सुझाव देना चाहूंगा। 1. फिर कसा हुआ और निचोड़ा हुआ प्याज डालें, लेकिन यह वैकल्पिक है, यदि आप प्याज नहीं डालना चाहते तो ना डालें। कसा हुआ गोभी, गाजर कुछ अन्य सब्जियां हैं जीसका आप उपयोग कर सकते हैं। 2. जीरा डालें। ये छोटे-छोटे बीज मुठिया के स्वाद को बढ़ा देंगे। अपनी विशिष्ट सुगंध और स्वाद के कारण जीरा व्यापक रूप से भारतीय और अंतरराष्ट्रीय व्यंजनों में जीरा और जीरा पाउडर के रूप में उपयोग किया जाता है। 3. फिर शक्कर डालें। नींबू के रस के साथ जोडने से मुठिया में एक मीठा और खट्टा स्वाद मिलेगा, जिसके लिए गुजराती रेसिपीओ को जाना जाता है। 4. फिर सोडा-बी-कार्ब डालें, जीसे बेकिंग सोडा के रूप में भी जाना जाता है। यह मुठिया को मुलायम बनाने में सहायक है। 5. अगर जरूरत हो तो थोड़ा पानी डालें और एक नरम आटा बना लें। पारंपरिक रेसिपी में पानी का उपयोग नहीं करते है, सब्जियों के पानी का उपयोग करके आटा बना लेते है।

उबली हुई लौकी मुठिया को हरी चटनी के साथ परोसें।

नीचे दिया गया है दूधी मुठिया रेसिपी | गुजराती दूधी मुठीया की रेसिपी | लौकी मुठिया | doodhi muthia recipe in hindi language | स्टेप बाय स्टेप फोटो और वीडियो के साथ।

दूधी मुठिया रेसिपी | गुजराती दूधी मुठीया की रेसिपी | लौकी मुठिया | - Doodhi Muthia ( Gujarati Recipe) in Hindi

तैयारी का समय:    पकाने का समय:    कुल समय :     ४ मात्र के लिये
मुझे दिखाओ मात्र

सामग्री

दूधी मुठीया बनाने के लिए सामग्री
२ कप कसी हुई लौकी
१/४ कप कसे हुए प्याज़
१/२ कप गेहूं का आटा
१/२ कप सूजी
१/२ कप बेसन
१ टी-स्पून अदरक की पेस्ट
१ टी-स्पून हरी मिर्च की पेस्ट
१/२ टी-स्पून हल्दी पाउडर
१/२ टी-स्पून ज़ीरा
१ टी-स्पून नींबू का रस
१ टी-स्पून शक्कर
२ टेबल-स्पून कटा हुआ हरा धनिया
चुटकी बेकिंग सोडा
३/४ टी-स्पून हींग
नमक , स्वादानुसार
३ १/४ टी-स्पून तेल
१/२ टी-स्पून सरसों
कडी पत्ते
१ टी-स्पून तिल

दूधी मुठीया सजाने के लिए
२ टेबल-स्पून बारीक कटा हुआ हरा धनिया
विधि
    Method
  1. दूधी मुठीया की रेसिपी बनाने के लिए, लौकी और प्याज़ से सारा पानी नीचोड कर निकाल दीजिए और पानी को फेंक दीजिए।
  2. एक बाउल में लौकी, प्याज़, गेहूं का आटा, सूजी, बेसन, अदरक की पेस्ट, हरी मिर्च की पेस्ट, हल्दी पाउडर, ज़ीरा, नींबू का रस, शक्कर, धनिया, बेकिंग सोडा, 1/2 टी-स्पून हींग, नमक और 1 टी-स्पून तेल डालकर अच्छी तरह से मिलाकर नरम आटा गूँथ लीजिए।
  3. अपने हथेलियों पर 1/4 टी-स्पून तेल लगा लीजिए और मिश्रण को 4 बराबर भागों में बाँट लीजिए।
  4. प्रत्येक भाग को लगभग 150 मि. मी. (6") के लंबे और 25 मि. मी. (1") व्यास के बेलनाकार में बेल लीजिए।
  5. 2 रोल को तेल से चुपड़ी हुई छन्नी में रख दीजिए और स्टीमर में रखकर 20 मिनट के लिए स्टीम कर लीजिए।
  6. विधि क्रमांक 5 को दोहराकर 2 और रोल पका लीजिए।
  7. रोल को स्टीमर से निकालकर हल्का ठंडा होने दीजिए, फिर उन्हें 12 मि. मी. (1/2") के स्लाईस में काट दीजिए और एक तरफ रख दीजिए।
  8. तड़के के लिए, बचे हुए २ टी-स्पून तेल को एक नॉन-स्टिक कढ़ाई में गरम कीजिए और उसमें सरसों, कडी पत्ते, तिल और बचा हुआ हींग, डालकर मध्यम आँच पर 30 सेकंड के लिए भून लीजिए।
  9. उसमें दूधी मुठीया के टुकड़े डालकर उसे मध्यम आँच पर 4 से 5 मिनट के लिए या सुनहरे भूरे रंग के और हल्के कुरकुरे होने तक भून लीजिए।
  10. धनिए से सजाकर, दूधी मुठीया तुरंत परोसिए।
पोषक मूल्य प्रति serving
ऊर्जा248 कैलरी
प्रोटीन8.4 ग्राम
कार्बोहाइड्रेट40.9 ग्राम
फाइबर6.4 ग्राम
वसा5.9 ग्राम
कोलेस्ट्रॉल0 मिलीग्राम
सोडियम24.1 मिलीग्राम
विस्तृत फोटो के साथ दूधी मुठिया रेसिपी | गुजराती दूधी मुठीया की रेसिपी | लौकी मुठिया |

दुधी मुठिया के लिए आटा बनाने के लिए

  1. दूधी मुठिया बनाने के लिए, सबसे पहले दूधी (लौकी) को कद्दूकस कर लें, फिर दूधी का सारा पानी निचोड़कर एक गहरे कटोरे में डालें।
  2. फिर कसा हुआ और निचोड़ा हुआ प्याज डालें, लेकिन यह वैकल्पिक है, यदि आप प्याज नहीं डालना चाहते तो ना डालें। कसा हुआ गोभी, गाजर कुछ अन्य सब्जियां हैं जीसका आप उपयोग कर सकते हैं।
  3. गेहूं का आटा डालें। मेरी दादी इसमें बाजरा और ज्वार का आटा मिलाती हैं।
  4. फिर सूजी डालें, यह मुथिया को एक अच्छी बनावट देगा।
  5. बेसन डालें।
  6. फिर मुठिया में मसाले के लिए थोड़ा अदरक-हरी-मिर्च की पेस्ट डालें।
  7. फिर हल्दी पाउडर डालें। भारत में हल्दी का उपयोग प्राचीन काल से किया जाता है, वास्तव में अब यह अपने स्वास्थ्य के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर लाभ दाइ है। साथ ही, यह एक अद्भुत पीला रंग भी प्रदान करता है।
  8. जीरा डालें। ये छोटे-छोटे बीज मुठिया के स्वाद को बढ़ा देंगे। अपनी विशिष्ट सुगंध और स्वाद के कारण जीरा व्यापक रूप से भारतीय और अंतरराष्ट्रीय व्यंजनों में जीरा और जीरा पाउडर के रूप में उपयोग किया जाता है।
  9. फिर सौंफ डालें।
  10. स्वाद को बढ़ाने के लिए  नींबू का रस डालें।
  11. फिर शक्कर डालें। नींबू के रस के साथ जोडने से मुठिया में एक मीठा और खट्टा स्वाद मिलेगा, जिसके लिए गुजराती रेसिपीओ को जाना जाता है।
  12. कटा हआ हरा धनिया डालें। यह एक लेमनी सिट्रस स्वाद वाला हर्ब है, जीसे व्यापक रूप से विभिन्न तरीकों से भारतीय रेसिपी में उपयोग किया जाता है। पेपी की चटनी, मैरिनेड या करी पेस्ट बनाने के लिए या सब्जियां, दाल, सलाद, नाश्ते इत्यादि में सजाने  के लिए उपयोग करते है।
  13. फिर सोडा-बी-कार्ब डालें, जीसे बेकिंग सोडा के रूप में भी जाना जाता है। यह मुठिया को मुलायम बनाने में सहायक है।
  14. फिर हींग डालें। यह पाचन करने मे सहायता करती है।
  15. नमक डालें। नमक प्राकृतिक स्वादों को बाहर लाता है और खाद्य पदार्थों को अधिक स्वादिष्ट बनाता है। इसकी अधिक मात्रा भोजन और आपके स्वास्थ्य को बर्बाद कर सकता है। इसलिए, सही मात्रा में नमक डालें।
  16. आखिर में तेल डालें।
  17. सभी सामग्री को अच्छी तरह मिलाएं।
  18. अगर जरूरत हो तो थोड़ा पानी डालें और एक नरम आटा बना लें। पारंपरिक रेसिपी में पानी का उपयोग नहीं करते है, सब्जियों के पानी का उपयोग करके आटा बना लेते है।
  19. मुठिया के आटे की यह एकदम सही स्थिरता है। यदि वह चिपचिपा हो जाता है, तो थोड़ा बेसन जोड़ लें।

लौकी मुठिया स्टीम करने के लिए

  1. लौकी मुठिया स्टीम करने के लिए | दुधी मुठिया | गुजराती दुधी मुठिया की रेसिपी | doodhi muthia in hindi | स्टीमर में पानी डालें और उबालने के लिए रख दें।
  2. स्टीमर प्लेट को तेल से चुपड लें।
  3. तेल से चुपड हुई हथेलियों और उंगलियों से आटे को ४ बराबर भागों में विभाजित करें। मुठिया के आटे का एक भाग लें और इसे एक लंबा बेलनाकार आकार दें।
  4. १ और भाग के साथ दोहराएं और उन्हें एक दूसरे से थोड़ी दूरी पर घी से चुपडी हुई स्टीमर प्लेट पर रख दें, ताकि वे एक दूसरे से चिपके नहीं और स्टीम होने के बाद फुलाने पर भी वे एक दूसरे से न चिपके।
  5. स्टीमर प्लेट को स्टीमर में रखें और २० मिनट के लिए स्टीम कर लें। आप चाकू या टूथपिक डालकर जांच कर सकते हैं कि क्या वे पके हैं या नहीं। यदि वह साफ निकलता है, मतलब वे पक गये है। यदि नहीं, तो थोड़ी देर और स्टीम कर लें।
  6. ढक्कन खोलें और स्टीम मुठिया निकाल दें और शेष आटे के २ भागों को स्टीम करने के लिए रख दें। आप उन्हें माइक्रोवेव में भी पका सकते हैं।
  7. दुधी मुठिया | गुजराती दुधी मुठिया की रेसिपी | लौकी मुठिया | doodhi muthia in hindi | स्टीम हो कर तैयार हैं। मुठिया को स्टीम करने से वे एक अच्छा हेल्दी नाश्ता बनाता है!
  8. दुधी मुठिया को | गुजराती दुधी मुठिया की रेसिपी | लौकी मुठिया | doodhi muthia in hindi | ठंडा करें और स्लाइस में काट लें। उन्हें ठंडा करना बहुत महत्वपूर्ण है अन्यथा, वे स्लाइस करने पर टूट जाएंगे।

पारंपरिक गुजराती तड़के के लिए

  1. तड़का लगाने के लिए, एक नॉन-स्टिक पैन में तेल गरम करें और सरसों डालें।
  2. जब सरसों चटकने लगे तो तिल डालें। तिल एक अच्छा क्रन्च और स्वाद देता है।
  3. एक चुटकी हींग डालें।
  4. इस तड़के में कटे हुए मुठिया के टुकड़े डालें। मध्यम आंच पर ४ से ५ मिनट के लिए  या जब तक वे हल्के भूरे रंग में बदल जाए और कुरकुरे हो जाए तब तक पका लें।
  5. दुधी मुठिया को | गुजराती दुधी मुठिया की रेसिपी | लौकी मुठिया | doodhi muthia in hindi | हरी चटनी के साथ परोसें। वे ठंडा होने पर भी अच्छा स्वाद देते हैं, इसलिए आप उन्हें डब्बा में पैक करके भी रख सकते हैं।


Reviews