चवली-मसूर दाल की रेसिपी के पोषण संबंधी जानकारी | चवली-मसूर दाल की रेसिपी की कैलोरी | calories for Chawli Masoor Dal in hindi
द्वारा

This calorie page has been viewed 203 times Last Updated : Sep 19,2020



कोर्स रेसिपी, वेज मुख्य व्यंजनों
रोज़ की दाल रेसिपी, दाल रेसिपी पूरे भारत से
कुकिंग बेसिक
प्रेशर कुक
चवली-मसूर दाल की रेसिपी
Calories for Chawli Masoor Dal - Read in English 

चवली मसूर दाल की कितनी कैलोरी होती हैं?

चवली-मसूर दाल की एक सर्विंग 82 कैलोरी देती है। जिसमें से कार्बोहाइड्रेट में 48 कैलोरी होती है, प्रोटीन में 20 कैलोरी होती है और शेष कैलोरी वसा से होती है जो 14 कैलोरी होती है। चवली-मसूर दाल की एक सेवारत 2,000 कैलोरी के मानक वयस्क आहार की कुल दैनिक कैलोरी आवश्यकता का लगभग 4 प्रतिशत प्रदान करती है।

चवली-मसूर दाल कैलोरी
देखने के लिए यहां क्लिक करें। इस नुस्खे में चवली के पत्ते और मसूर दाल के संयोजन में एक स्वादिष्ट मसालों की पेस्ट मिलाई गई है, जो निश्चय ही सबका दिल जीत लेगी।


इसके अनूठे स्वाद के अलावा, कई और कारण हैं जो इस चवली-मसूर दाल को पौष्टिक बनाते हैं, खास करके गर्भावस्था के लिए।

चवली के पत्ते विटामिन ए का सबसे अच्छा स्त्रोत है, जो गर्भावती महिलाओं के लिए आदर्श है। दाल से मिलने वाले विटामिन ए के साथ प्रोटिन त्वचा और दृष्टि दोनों ही स्वस्थ बनाए रखने में मदद रूप होता है। हमने इस स्वादिष्ट दाल में थोडा-सा नींबू का रस भी मिलाया है, जिसकी विटामिन–सी की मात्रा लौह के अवशोषण में मदद रूप होती है।

 रोटी रेसिपी | चपाती रेसिपी | मुलायम रोटी | फुल्का रेसिपी | - Roti ( How To Make Soft Roti Or Phulka Or Chapati)

 रोटी रेसिपी | चपाती रेसिपी | मुलायम रोटी | फुल्का रेसिपी | - Roti ( How To Make Soft Roti Or Phulka Or Chapati)


इस सब्ज़ी को रोटी या चावल के साथ परोसें। पालक तुवर दाल और दाल बंजारी जैसे अन्य रेसिपी जरूर आज़माइए।

 दाल बंजारा रेसिपी | राजस्थानी दाल बंजारा | पौष्टिक दाल बनजारा | - Dal Banjara, Rajasthani Dal Banjara

 दाल बंजारा रेसिपी | राजस्थानी दाल बंजारा | पौष्टिक दाल बनजारा | - Dal Banjara, Rajasthani Dal Banjara

क्या चवली-मसूर दाल स्वस्थ है?

हां, यह सभी के लिए अच्छा और स्वस्थ है।


आइए समझते हैं चवली-मसूर दाल की सामग्री।

चवली-मसूर दाल में क्या अच्छा है।

चवली के पत्ते (Benefits of Chawli Leaves, Amaranth Leaves, chawli ke patte in Hindi) : चवली के पत्ते शरीर से खराब कोलेस्ट्रॉल (LDL) को कम करने में मदद करता है। इसचवली के पत्ते के अलावा इसमें पोटेशियम और मैग्नीशियम की भी थोडी मात्रा होती है और यह दो पोषक तत्व हृदय स्वास्थ्य को बनाए रखते हैं। चवली के पत्ते एनीमिया (anaemia) के लिए भी अच्छा होते हैं। विटामिन ए की दैनिक आवश्यकता को 32.2% पूरा करते हुए चवली के पत्ते सच में दृष्टि में सुधार की दिशा में काम करते हैं। इन पत्तों में पाया जाने वाला फाइबर है जो पाचन तंत्र बनाए रखने में और कब्ज पर काबू पाने के लिए अच्छा होता है। चवली के पत्तों के विस्तृत लाभ पढें।

मसूर दाल (स्प्लिट रेड मसूर, benefits of masoor dal, split red lentils in hindi), साबुत मसूर: 1 कप पकी हुई मसूर दाल 19 ग्राम प्रोटीन देती है। फॉस्फोरस से भरपूर होने के कारण यह कैल्शियम के साथ मिलकर हमारी हड्डियों के निर्माण में मददरुप है। साबुत मसूर या मसूर दाल फोलेट (विटामिन बी 9 या फोलिक एसिड) में समृद्ध है जो आपके शरीर में नई कोशिकाओं, विशेष रूप से लाल रक्त कोशिकाओं के उत्पादन में और उन्हें बनाए रखने में मदद करती है। मसूर की दाल मधुमेह और स्वस्थ हार्ट के लिए अच्छी भी है। मसूर दाल के 10 स्वास्थ्य लाभ विस्तृत में देखें।

हल्दी पाउडर (हल्दी, benefits of turmeric powder in hindi) : हल्दी भोजन के पाचन में मदद करती है जिससे अपच दूर करने में मददमिलती है। हल्दी पाउडर शरीर में वसा की कोशिकाओं की वृद्धि को कम करने में मदद कर सकती है। आयरन से भरपूर हल्दी एनीमिया के उपचारमें अत्यधिक मूल्यवान है और हल्दी के जड़ के साथ-साथ पाउडर भी एनेमिक आहार का नियमित हिस्सा होना चाहिए। हल्दी के स्वास्थ्य लाभों मेंसे एक यह सक्रिय यौगिक कर्क्यूमिन, जो अपने ऐन्टी-इन्फ्लैमटॉरी गुणों से जोड़ों की सूजन को दूर करने में मदद करता है और इस कारण गठियासे संबंधित दर्द को दूर करने के लिए यह एक सीढ़ी है।हल्दी में मौजूद करक्यूमिन बैक्टीरिया की सर्दी, खांसी और गले की जलन पैदा करने वालेबैक्टीरिया को मारता है। रक्त शर्करा के स्तर को कम करके मधुमेह के लिए भी लाभदायक पाई गई है।इसके एंटीऑक्सिडेंट और ऐन्टी-इन्फ्लैमटॉरी  प्रभाव मधुमेह के रोगियों के उपचार में उपयोगी होते हैं। यह दिमाग के लिए  अच्छा भोजन माना जाता है और अल्जाइमर जैसीबीमारियों को दूर रखता है। हल्दी के विस्तृत लाभों के लिए यहाँ देखें।

 वेजिटेबल ऑयल्स | vegetable oils benefits in hindi : कुछ वेजिटेबल ऑयल में केवल सोयाबीन तेल होता है, जबकि कुछ इसे सोयाबीन, कैनोला, सूरजमुखी, मक्का और अन्य ओमेगा -6 से भरपूर तेलों के मिश्रण के रूप में बढ़ावा देते हैं। ये कई तेलों की तुलना में अक्सर सस्ता विकल्प होते हैं, लेकिन ये अत्यधिक संसाधित तेल होते हैं। वे निस्संदेह के लिए बाहर नहीं जा सकते हैं, चाहे आप सलाद ड्रेसिंग, सॉस या खाना पकाने की तलाश कर रहे हों। खाना पकाने में उपयोग किए जाने वाले 5 सर्वश्रेष्ठ तेल जैतून का तेल (कम तापमान कम समय पकाने), एवोकैडो तेल, कैनोला तेल, नारियल तेल और मूंगफली तेल हैं। आप इस तथ्य को खोजने के लिए सुपर लेख अवश्य पढ़ें कि वनस्पति तेल से स्वास्थ्यवर्धक कौन सा तेल है।

जीरा (Benefits of Cumin Seeds, jeera in Hindi): जीरा का सबसे लाभ जो कई लोगों को पता है वह है पेट, आंत और पूरे पाचन तंत्र को  आराम पहुँचाना। जीरा जाहिर तौर पर आयरन का बहुत अच्छा स्रोत है। एक टेस्पून जीरे आयरन की दैनिक आवश्यकता का लगभग 20% पूरा कर सकते है। जीरे की थोड़ी मात्रा में भी कैल्शियम की भारी मात्रा होती है - यह एक हड्डियों का  भरण-पोषण करने वाला खनिज है। यह पाचन, वजन घटाने और इन्फ्लमेशन (inflammation) को कम करने में भी मदद करता है। जीरा के विस्तृत लाभ पढें।

नींबू, नींबू का रस benefits of lemon, lemon juice in hindi): नींबू विटामिन सी का एक बहुत अच्छा स्रोत है और इस प्रकार रक्त में सफेद रक्त कोशिकाओं और एंटीबॉडी के उत्पादन में मदद करता है जो आक्रमणकारी सूक्ष्मजीवों पर हमला करता है, संक्रमण को रोकता है और प्रतिरक्षा का निर्माण करता है। इसलिए आम सर्दी से बचाव के लिए नींबू का रस दिया जाता है। नींबू के रस में एस्कॉर्बिक एसिड भोजन से लोहे के अवशोषण में मदद करता है। तो अगर आपको आयरन की कमी है या एनीमिया ( anaemia ) है तो आयरन से भरपूर रेसिपी पर नींबू निचोड़ें। नींबू, नींबू के रस के विस्तृत लाभ देखें।

धनिया (कोथमीर, धनिया, corainder benefits in hindi): धनिया एक ताजा जड़ी बूटी है जिसे अक्सर भारतीय पाक कला में स्वाद बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इसका मुख्य रूप से एक गार्निश के रूप में उपयोग किया जाता है। यह इसका उपयोग करने का सबसे अच्छा तरीका है - कोई खाना पकाने नहीं। यह इसकी विटामिन सी की मात्रा को संरक्षित रखता है, जो हमारी प्रतिरक्षा का निर्माण करने और त्वचा में चमक लाने में मदद करता है। धनिया में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट विटामिन ए, विटामिन सी और क्वेरसेटिन हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने की दिशा में काम करते हैं। धनिया आयरन और फोलेट का भी काफी अच्छे स्रोत हैं - 2 पोषक तत्व जो हमारे रक्त में लाल रक्त कोशिकाओं (red blood cells ) के उत्पादन और रखरखाव में मदद करते हैं। धनिया कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए भी अच्छा है और मधुमेह रोगियों के लिए भी। विवरण समझने के लिए धनिए के 9 लाभ पढ़ें।

अदरक, अद्रक (Benefits of Ginger in Hindi)अदरक कन्जेशन, गले की खराश, सर्दी और खांसी के लिए एक प्रभावी इलाज है। यह अपाचन को ठीक करता है और कब्ज से भी राहत देता है। अदरक को माहवारी के दर्द (menstrual pain) से राहत देने में दवाओं के रूप में प्रभावी पाया गया है। अदरक उच्च कोलेस्ट्रॉल वाले रोगियों में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में भी मदद करता है। अदरक गर्भवती महिलाओं में जी मचलने (nausea) के लक्षणों को काफी कम करता है। अदरक के 16 सुपर स्वास्थ्य लाभ के लिए यहाँ पढें।

 लहसुन (garlic benefits in hindi): लहसुन कोलेस्ट्रॉल को कम करता है। लहसुन में मौजूद सक्रिय तत्व एलिसिन रक्तचाप को कम करने में सहायक होता है।  लहसुन मधुमेह के रोगियों  में रक्त शर्करा के स्तर को नियमित करने में भी मदद करता है। लहसुन हार्ट के लिए अच्छा  और संचार प्रणाली के लिए बहुत अच्छा है। लहसुन में एक रोगाणुरोधी, एंटीवायरल और एंटिफंगल फ़ंक्शन होता है और सामान्य सर्दी और अन्य वायरल संक्रमण से राहत दिलाने में मदद कर सकता है। अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने के लिए दिन में एक लहसुन का सेवन करें |  लहसुन एक एंटी वायरल सामग्री है। थायोसल्फेट यौगिक, लहसुन में पाया जाने वाला एलिसिन एक मजबूत एंटीऑक्सीडेंट के रूप में काम करता है और हमारे शरीर को मुक्त कणों से होने वाले नुकसान से बचाता है। लहसुन के संपूर्ण लाभों के लिए यहां पढ़ें।

सूखी कश्मीरी लाल मिर्च : सूखी कश्मीरी लाल मिर्च  विभिन्न रंग में उप्लब्ध, बेहतरीन विकल्प का रंग तेज़ लाल होता है और इन्हें इनके लंबे समय तक रंग बने रहेन के लिए मूल्य माना जाता है। यह व्यंजन को बिना ज़्यादा तीखा बनाए तेज़ लाल रंग प्रदान करते हैं और साथ ही व्यंजन को दिखने में ज़्यादा बेहतरीन बनाते हैं।

ध्यान दें : 1 कप = 200 मिलीलीटर (बाजार में आसानी से उपलब्ध है)। प्रत्येक घटक का ग्राम में वजन भिन्न होता है।

क्या मधुमेह रोगी, हृदय रोगी और अधिक वजन वाले व्यक्ति चवली मसूर दाल खा सकते हैं?

जी हां, यह नुस्खा मधुमेह, हृदय और वजन घटाने के लिए अच्छा है। चवली के पत्ते शरीर से खराब कोलेस्ट्रॉल (LDL) को कम करने में मदद करता है। इसचवली के पत्ते के अलावा इसमें पोटेशियम और मैग्नीशियम की भी थोडी मात्रा होती है और यह दो पोषक तत्व हृदय स्वास्थ्य को बनाए रखते हैं।मसूर की दाल मधुमेह और स्वस्थ हार्ट के लिए अच्छी भी है।

प्रोटीन मूल्य बढ़ाने के लिए अन्य स्वास्थ्यवर्धक दाल विकल्प क्या हैं?

रोटी को सुपर हेल्दी दाल रेसिपी जैसे कि पालक तुवर दालखट्टा उड़द दालसुवा मसूर दालहरियाली दाल और हेल्दी कढ़ी के साथ परोस सकते हैं। ध्यान रहे कि जब आप दाल के साथ धान्य जैसे कि बाजरा, ज्वार, रागी, कुट्टू, जौ या गेहूं के साथ मिलाते हैं तो भोजन में प्रोटीन का मूल्य बढ़ जाता है।

 खट्टी उड़द दाल की रेसिपी | खट्टा उड़द दाल | उड़द की दाल | खट्टा उड़द दाल बनाने की विधि - Khatta Urad Dal ( Zero Oil Urad Dal Recipe)

 खट्टी उड़द दाल की रेसिपी | खट्टा उड़द दाल | उड़द की दाल | खट्टा उड़द दाल बनाने की विधि - Khatta Urad Dal ( Zero Oil Urad Dal Recipe)

दाल + रोटी (धान्यप्रोटीन मूल्य बढ़ाता है।

दाल को बाजरे की रोटीज्वार की रोटीमूली नचनी रोटीसादी रागी रोटीपूरी गेहूं की रोटी या गेहूं की भाकरी के साथ परोस सकते हैं। ध्यान रहे कि जब आप दाल के साथ धान्य जैसे कि बाजरा, ज्वार, रागी, कुट्टू, जौ या गेहूं के साथ मिलाते हैं तो भोजन में प्रोटीन का मूल्य बढ़ जाता है।

 ज्वार रोटी रेसिपी | ज्वार की रोटी | पौष्टिक ज्वार रोटी | - Jowar Roti  

ज्वार रोटी रेसिपी | ज्वार की रोटी | पौष्टिक ज्वार रोटी | - Jowar Roti

क्या स्वस्थ व्यक्ति चावली मसूर दाल खा सकते हैं?

हां, यह सुपर हेल्दी दाल है।


चावली मसूर दाल  इन सभी के लिए अच्छा है।

1. स्वस्थ व्यंजनों जीवन शैली

2. वजन घटाने की खुराक

3. दिल के मुद्दों के साथ मधुमेह

4. स्वस्थ दिल की दाल

5. गर्भावस्था के बाद वजन कम होना

6. बच्चे उच्च फाइबर

7. सर्दी और खांसी

8. डायबिटिक दालें

9. गर्भावस्था पहली तिमाही


चावली मसूर दाल  में उच्च है।

1. विटामिन सीविटामिन सी खांसी और जुकाम के खिलाफ हमारीरोग प्रतिरोधक शक्ति बढाता है।


नोट: एक नुस्खा एक विटामिन या खनिज में उच्च माना जाता है अगर यह 2,000 कैलोरी आहार के आधार पर 20% और अनुशंसित दैनिक भत्ते से ऊपर मिलता है।

चावली मसूर दाल की एक सर्विंग से आने वाली 82 कैलोरी कैसे बर्न करें?

चलना (6 किमी प्रति घंटा)                                =   25 मिनट
दौड़ना (11 किमी प्रति घंटा)                             =    8 मिनट
साइकिल चलाना (30 किमी प्रति घंटा)              =   11 मिनट
तैराकी (2 किमी प्रति घंटा)                               =   14 मिनट


नोट: ये मूल्य अनुमानित हैं और प्रत्येक व्यक्ति में कैलोरी बर्निंग में अंतर है।

मूल्य प्रति serving% दैनिक मूल्य
ऊर्जा82 कैलरी4%
प्रोटीन5.1 ग्राम9%
कार्बोहाइड्रेट12 ग्राम4%
फाइबर2.3 ग्राम9%
वसा1.4 ग्राम2%
कोलेस्ट्रॉल0 मिलीग्राम0%
विटामिन
विटामिन ए531.8 माइक्रोग्राम11%
विटामिन बी 1 ()0.1 मिलीग्राम10%
विटामिन बी 2 ()0.1 मिलीग्राम9%
विटामिन बी 3 ()0.6 मिलीग्राम5%
विटामिन सी9.7 मिलीग्राम24%
विटामिन ई0 मिलीग्राम0%
फोलिक एसिड (विटामिन बी 9)19.7 माइक्रोग्राम10%
मिनरल
कैल्शियम48.6 मिलीग्राम8%
लोह1.7 मिलीग्राम8%
मैग्नीशियम14.5 मिलीग्राम4%
फॉस्फोरस60.8 मिलीग्राम10%
सोडियम20.9 मिलीग्राम1%
पोटेशियम145.5 मिलीग्राम3%
जिंक0.6 मिलीग्राम6%
प्रतिशत दैनिक मूल्य 2000 कैलोरी आहार पर आधारित हैं। आपका दैनिक मूल्य अधिक या कम हो ना आपकी प्रतिदिन की आवश्यक कैलोरी की जरूरतों पर निर्भर करता है।
अन्य संबंधित व्यंजनों की कैलोरी

Reviews

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन