इलायची पाउडर ( Cardamom powder, elaichi powder )

इलायची पाउडर क्या है, इसका उपयोग,स्वास्थ्य के लिए लाभ, रेसिपी Viewed 16626 times

इलायची पाउडर क्या है?


पीसी हुई इलायची पाउडर के समान बारीक होती है। यह भारतीय खाने की मुख्य सामग्री है। हालाँकि इलायची वजन अनुसार सबसे महंगा मसाला है, इसके पाउडर की बहुत ही कम मात्रा खाने को अनोखा स्वाद प्रदान करती है।

इलायची पाउडर बनाने के लिए, पहले छिलका निकालकर बीज अलग कर लें। इन्हें बारीक या दरदरा पीस लें। इसके छिलके को फेंक सकते हैं या चाय पत्ती के साथ मिलाकर रख सकते हैं, जो चाय को अच्छी खुशबु पर्दान करता है। बड़ी मात्रा में इलायची पाउडर बनाते समय, इसे मिक्सर में पीसा जा सकता है, कुछ लोग बारीक पाउडर के लिए और पाउडर को सूखने से बचाने के लिए इसे छिलके के साथ पीसते हैं।

हइलायची पाउडर चुनने का सुझाव (suggestions to choose elaichi powder)
• घर पर इलायची पाउडर बनाते समय, हरे रंग की इलायची चुनें क्योंकि इनका स्वाद और इनकी खुशबु अच्छी होती है।
• बाज़ार से खरीदते समय, अच्छी तरह सील किया हुआ पैकेट खरीदें और समापन के दिनांक की जांच कर लें।
• पुराना पाउडर ना खरीदें, क्योंकि पीसी हुई इलायची अपना स्वाद और अपनी खुसबु जल्दी खो देती है।

इलायची पाउडरके उपयोग रसोई में (uses of elaichi powder in cooking )

इलायची पाउडर का उपयोग करके भारतीय डेसर्ट | Indian desserts using cardamom powder |

1. गेहूं के आटे का शीरा एक लोकप्रिय गुजराती मिठाई है जो सरल सामग्रियों से बनाई जाती है, जो भारतीय रसोई में आसानी से उपलब्ध हैं। वास्तव में आप सभी की जरूरत है गेहूं का आटा, घी, चीनी, इलायची और बादाम। मैं आटे के शीरे को सबसे आसान मिठाई में से एक मानती हूं। हमने इसे माइक्रोवेव में बनाकर और भी आसान बना दिया है, खाना पकाने का समय ५ मिनट तक कट जाता है।

2. आटा का शीरा | सभी गुजराती मिठाईयों में से मुझे आटा का शीरा सबसे आसान लगती है- जिसमें बहुत कम मात्रा में सामग्री का प्रयोग किया गया है, जो आपके रसोई में आसानी से मिलते हैं। केवल कुछ बातों का ध्यान रखें और आप इस व्यंजन को बेहतरीन तरह से बना सकते हैं।

3. खोया के साथ हमारा गाजरका हलवा एक पंजाबी गाजर का हलवा रेसिपी है। कई शॉर्टकट हो सकते हैं, लेकिन कभी-कभी मिठाई बनाने की पारंपरिक विधि सबसे रीच स्वाद देती है! प्रामाणिक गाजर का हलवा का यह प्रामाणिक नुस्खा साबित होता है!

4. खजूर और ओट्स की खीर, ओट्स और खजूर से बनी एक स्वादिष्ट खीर है, यह आपके क्रेविंग को स्मार्ट और हेल्दी तरीके से संतृप्त करने के लिए निश्चित है। ओट्स खजूर पायसम किसी भी चीनी का उपयोग नहीं करता है।

5. अखरोट का शीरा : आपने आज तक रवा से बना हुआ या फिर किसी और आटे बनाया हुआ शिरा चखा होगा। लेकिन यह अखरोट का शीरा , अखरोट से बनने वाला अनोखा है। इसकी बनावट और स्वाद दोनों सचमुच ही दिलचस्प है। बस एक चमम्च भर वॉलनट शीरा आपकी डीश में रखिए और इसका आनंद लीजिए। 

6. श्रीखंड एक आसान तरीके से, दही का एक मिठाई में चमतकारी बदलाव है। इसे बनाने के लिए पकाने की आवश्यक्ता नहीं होती और इसे रविवार के खाने में, त्यौहारों में और साथ ही फराली खाने में अकसर परोसा जाता है!

7. कई भारतीय मिठाइयों में से, चावल की खीर भगवान को सबसे लोकप्रिय प्रसाद में से एक है।खीर की कई किस्में हैं, और प्रत्येक पूजा, त्योहार या शादी के लिए एक या दूसरे को तैयार किया जाता है। चावल की खीर निस्संदेह खीर का राजा है! यह पूरे भारत में बनाया जाता है। दक्षिण भारत में पायल पायसम के रूप में जाना जाता है, यह शादियों में एक आवश्यक सेवा है।

8. बेसन के लड्डू भारतीय व्यंजनों में सबसे लोकप्रिय मठाई में से एक है। इसे विभिन्न नामों से जाना जा सकता है, लेकिन मसालेदार और मीठा बेसन का यह स्वादिष्ट लड्डू पूरे देश में प्रसिद्ध है।

9. गुजराती डेसर्ट के सबसे प्रसिद्ध में से एक, लापसी (fada ni lapsi | dalia sheera) भुनी और पकी हुई टूटी हुई गेहूं की एक बहुत ही आकर्षक मिठाई है जो चीनी के साथ मीठा और इलायची पाउडर के साथ सुखद स्वाद देता है। टूटे हुए गेहूँ को घी में भूनने से गुजराती टूटे हुए गेहूं को एक अमीर भूरा रंग, तीव्र सुगंध और अच्छा स्वाद मिलता है।

10. मूंग दाल शीरा : यह व्यंजन सभी मीठा पसंद करने वालों के लिए अमृत है, खासतोर पर उनके लिए जिन्हें शीरा बेहद पसंद आता है। इस दरदरे, गरमा गरम मिठाई को बनाने के लिए लंबा समय लगता है- क्योंकि इसे पकाने के लिए लगातार हिलाते हुए धिमी आँच पर पकाना ज़रुरी होता है- लेकिन यह व्यर्थ नहीं है!


• इलायची पाउडर का प्रयोग भारतीय मीठाई, आईस-क्रीम, दूध से बने व्यंजन और गरम मसाला दूध में किया जाता है।
• यह बहुत से चावल व्यंजन, सब्ज़ी और अन्य बेहतरीन व्यंजन को स्वाद और खुशबु प्रदान करता है।
• इसका प्रयोग पारंपरिक रुप से कॉफी और चाय में किया जाता है।

इलायची पाउडर को कैसे स्टोर करें, how to store elaichi powder in hindi
• इलायची पाउडर के ज़रुरी तेल के उड़ते ही यह अपनी खुसबु खो देते हैं।
• इसलिए, कम मात्रा में पाउडर बनाकर हवा बंद डब्बे में रखकर ठंडी और सूखी जगह पर रखें।
• साथ ही, इस पाउडर की थोड़ी मात्रा को बोतल में रखकर रोज़ के प्रयोग के लिए रखकर, बचे हुए पाउडर को फ्रिज में रखा जा सकता है।
• इसका तीन महीने के अंदर प्रयोग कर लेना चाहिए।

इलायची पाउडर के फायदे, स्वास्थ्य विषयक (benefits of elaichi powder
• यह पाचन तंत्र को संतुलित रखता है और गैस से आराम प्रदान करता है।
• इसका चिकित्सक कार्य फेफड़ो में रक्तसंचार बढ़ाने में मदद करता है और इसलिए दमा और ब्रोन्काईटीस् से बचाता है।
• यह पेट में तीक्षता को कम कर सकता है।
• यह भुख बढ़ाता है और साँस की बदबू से आराम प्रदान करता है।
• पीसी हुई इलायची को थोड़े पुदिने के साथ 1 कप पानी में उबालने से, हिचकी से आराम मिलता है।

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन