एवकाडो ( Avocado )

एवकाडो का उपयोग,स्वास्थ्य के लिए लाभ, रेसिपी, ग्लॉसरी, Avocado in Hindi Viewed 5218 times

अन्य नाम
बटर फ्रूट, कुल्लू नाशपती या मक्ख़नफल

वर्णन
एवकाडो एक बड़ा, गुदे वाला नाशपती के आकार की बैरी है। इसके अंदर एक ही बड़ा बीज होता है जो मक्ख़न जैसे गुदे से ढ़का हुआ होता है और इसका छिल्का सख्ता होता है। इसके बाहार का छिल्का पीले-हरे रंग से मरुन या बैगनी रंग का होता है और वहीं इसका गुदा फीके पीले-हरे रंग का होता है।

इसके गुदे जा रुप पके हुए केले जैसा मुलायम और मक्ख़नी होता है और इसका स्वाद हल्का मेवेदार होता है। इसका प्रयोग सेन्डविच से लेकर सलाद से लेकर स्मूदी और मिल्कशेक में किया जाता है।

एवकाडो के टुकड़े (avocado cubes)
एवकाडो का पल्प (avocado pulp)
एवकाडो को काटने के लिए, इसे अपने हाथ में रखें और छिल्के से काटते हुए, गुदे से लेकर बीच के भाग तक लंबा काट लें। प्रत्येक आधे भाग को उलटी तरफ मोड़ते हुए अलग कर लें, बीज को निकालकर फेंक दें और चम्मच का प्रयोग कर गुदा निकाल लें। काटकर, मिक्सर में पीसकर मुलायम पल्प बना लें।
एवकाडो की पट्टियाँ (avocado strips)
कटे हुए एवकाडो (chopped avocado)
एवकाडो काटने के लिए, उसे अपने हाथ मे पकड़े और सभी तरफ से छिल्के और गुदे के साथ लंबे आकार में स्लाईस कर लें। प्रत्येक आधे टुकड़े को उल्टी दिशा में मोड़कर अलग कर लें, बीज निकालकर फेंक दें और चम्मच का प्रयोग कर गुदा निकाल लें। आवश्यक्ता अनुसार काट लें।
मसले हुए एवकाडो (mashed avocado)
पके हुए एवकाडो को उपर दी गई विधी अनुसार काट लें और काँटे का प्रयोग कर मसल कर मुलायम क्रिमी पल्प बना लें।
स्लाईस्ड एवकाडो (sliced avocado)
एवकाडो को स्लाईस करने के लिए उसे अपने हाथ में पकड़े और सभी तरफ से छिल्के और गुदे के साथ लंबे आकार में स्लाईस कर लें। प्रत्येक आधे टुकड़े को उल्टी दिशा में मोड़कर अलग कर लें, बीज निकालकर फेंक दें और चम्मच का प्रयोग कर गुदा निकाल लें। एवकाडो को फाँको में स्लाईस कर लें। बहुत ज़्यादा पके हुए एवकाडो को स्लाईस करना मुशकिल हो जाता है, इसलिए स्लाईस करने के लिए कम पके हुए एवकाडो चुनें।

चुनने का सुझाव
• समान और बिना दाग वाले वजनदार फल चुनें, जो हर तरफ से समन तरीके से सख्त या नरम हों।
• बिना दाग वाले या नरम धब्बे वाले फल चुनें और गुदे और छिल्के के बीच नरम दीखने वाले फल ना चुनें।
• जाँच करने के लिए एवकाडो को हिलाकर देखें। अगर अंदर का भाग ढ़ीला हो, तो उसे ना चुनें।
• तोड़ने से पहले एवकाडो कभी नहीं पकते हैं, इसलिए ताज़े फल पत्थर की तरह सख्त होते हैं। लेकिन यह आपके फल के बाउल में अपने आप पक जाते हैं, इसलिए घबराऐं नहीं!
• देखा गया तो, बेहतर यही होता है कि आप बाज़ार से सख्त एवकाडो खरीदें और घर पर पकने दें, क्योंकि बाज़ार में मिलने वाले पके हुए एवकाडो में दाग बहुत जल्दी पड़ जाते हैँ।
• आपका एवकाडो प्रयोग करने के लिए तैयार है या नहीं, इस बात की जाँच करने के लिए हल्का दबाकर देखें। अगर फल दब जाए तो वह पक चुका है।

रसोई में उपयोग
• एवकाडो का स्वाद सौम्य और लगभग मक्ख़न जैसा होता है। इसमें थोड़ा सा नमक चमतकार कर देता है जिससे इसका स्वाद उभर कर आता है। साथ ही इसमें हल्का नींबू का रस और भी कमाल कर देता है।
• चूंकी कटा हुआ फल आसानी से अपना रंग बदल देता है, इसे काटने के बाद तुरंत नींबू के रस के साथ मिला लेना चाहिए या तुरंत प्रयोग कर लेना चाहिए।
• एवकाडो और टमाटर पर्याप्त मेल हैं- टमाटर में प्रस्तुत एसिड एवकाडो के स्वाद को निखार देते हैं। इन्हें एक आसान से सलाद में मिलाकर देखें।
• मसले हुए एवाकाडो का प्रयोग अकसर सेन्डविच स्प्रैड के रुप मे किया जाता है और इन्हें मक्ख़न या चीज़ की जगह प्रयोग किया जाता है। स्लाईस्ड एवकाडो का प्रयोग सेन्डविच में भी किया जा सकता है।
• इसका प्रयोग ग्वुकामोल नामक मेक्सिकन डिप का आधार बनाने में किया जाता है।
• साथ ही इसे डेज़र्ट या मुख्य व्यंजन में भी मिलाया जा सकता है।

संग्रह करने के तरीके
• कच्चे फल को फ्रिज में ना रखें, क्योंकि इससे वह पकेंगे नहीं।
• पके हुए फलों को फ्रिज में सब्ज़ी रखने वाली जगह पर 2-3 दिनों के लिए रखा जा सकता है।
• एवकाडो फ्रीज़ करने के लिए, गुदे को 1 टेबल-स्पून नींबू के रस या विनेगर के साथ पीसकर पल्प बना लें और हवा बंद डब्बे में रखकर संग्रह करें।

स्वास्थ्य विषयक
• एवकाडो संपूर्ण और पचाने में आसान होते हैं और इनमें उच्च गुणों वाला प्रोटीन भी होता है।
• पाचन संबंधित बिमारीयों के लिए यह एक बेहतरीन उपचार है और मूँह से बदबू आने के लिए भी यह एक आसान उपाय है।
• एवकाडो विटामीन ई के बेहतरीन स्रोत होते हैं, जो ना केवल शरीर के कार्य के लिए ज़रुरी होता है, लेकिन साथ ही यह एक लाभदायक ऑक्सीकरण तत्व होता है जो सेल कणों में पोलीअनसैच्यूरेटड वसा को मुक्त रेडिकल हमले से बचाते हैं। यह इसे हृदय संबंधित रोगियों के लिए लाभदायक बनाता है।
• साथ ही एवकाडो में भरपुर मात्रा में विटामीन सी होता है, जो नये सेल और टिशू के बढ़ाव के लिए कोलॅजन उत्पादन के लिए आवश्यक होता है। साथ ही यह किटाणु को सेल कणों में जाने से बचाता है और इसमें शक्तिशाली ऑक्सीकरण शक्ती भी होते हैँ।
• एवकाडो में प्रस्तुत थायामीन कार्बोहाईड्रेट को ग्लुकोस में बदलता है जो दिमाग और तंत्रिका तंत्र के लिए ऊर्जा होता है, वहीं राईबोफ्लेविन हमारे शरीर को प्रोटीन, कार्बोहाईड्रेट और वसा से ऊर्जा उत्पन्न करने में मदद करता है।

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन