बेसिल ( Basil )

बेसिल क्या है ? ग्लॉसरी, इसका उपयोग, स्वास्थ्य के लिए लाभ, रेसिपी  Viewed 30833 times

बेसिल क्या है?


बेसिल एक बेहतरीन और भारत में बहुत ही कम मात्रा मिलने वाला हर्ब है। लेकिन ग्रीक जैसे अन्य समुदाय में भी इसका प्रयोग किया जाता है। यह एक खाने में प्रयोग किये जाने वाला हर्ब है को इरान और एशिया के उष्ण क्षेत्र का मूल है, जिसे 5000 वर्ष से ज़्यादा समय से उत्पन्न किया जा रहा है। इसकी खुशबु तेज़ होती है और इसका प्रयोग अकसर इटॅलियन, थाई और वयतनमीस पाकशैली में किया जाता है।

बेसिल के 60 से ज़यादा विकल्प मिलते हैं, जैसे मीठा बेसिल, थाई बेसिल, होली बेसिल और लेमन बेसिल। इसके विकल्प बिभिन्न रंग में मिलते हैं जैसे गहरे हरे रंग का, लाल, बैंगनी आदि।

कटा हुआ बेसिल (chopped basil)






4 से 5 बेसिल के पत्तों को एक के उपर एक रखकर काटने के बोर्ड में रखें और लंबे आकार में पतला काट लें। आब स्लाईस किये हुए बेसिल को साथ रखकर काट लें। कटे हुए बेसिल का प्रयोग सूप, स्ट्यू और सॉस में किया जाता है।




पतले लंबे कटे बेसिल (shredded basil)





4 से 5 बेसिल के पत्तों में हाथ में रखकर पतले बेलनाआकार में बना लें। रोल किये हुए बेसिल को एक हाथ में रखकर दुसरे हाथ में चाकू रखें। अब रींग के किनारों से काटकर पतले लंबे बारीक आकार में काट लें। बारीक लबे कटे हुए बेसिल का प्रयोग पुज़्जा के टॉपिंग के रुप में या सूप को सजना के लिए आदि में किया जा सकता है। इसका प्रयोग बेसिल चाय बनाने में भी किया जाता है, जहाँ बारीक लबे कटे बेसिल को उबलते हुए पानी में डालकर 2 मिनट तक उबाला जाता है और दिन में पीया जा सकता है।





बेसिल चुनने का सुझाव (suggestions to choose basil)


• आप बेसिल के विकल्प, ताज़ा या सूखे में चुन सकते हैं।
• फिर भी, ताज़े बेसिल के पत्ते में सूखे विकल्प में ज़्यादा स्वाद होता है।
• ताज़े बेसिल के पत्ते दिखने में चमकते हुए और गहरे हरे रंग के होने चाहिए।
• इनमें किसी भी तरह के काले दाग या पीलापन नहीं होना चाहिए।

बेसिल के उपयोग रसोई में (uses of basil in Indian cooking)


• ताज़े बेसिल का प्रयोग करने का सबसे अच्छा तरीका यह है की इसे आखरी में डाला जाये, क्योंकि इसे पहले से पकाने से इसका स्वाद खराब हो सकता है। एैसा करने की वजह यह है कि बेसिल में तेज़ एसिड होते हैं जो ज़्यादा पकाने से नष्ट हो जाते हैं।
• पेस्तो एक बेसिल से बना सॉस है जिसका प्रयोग इटॅलियन खाने में पास्ता, पिज़्ज़ा, डिप आदि में किया जाता है। यहाँ बेसिल को जैतून के तेल, लहसुन, पाईन नट्स् और पारमेसान चीज़ के साथ पीसा जाता है।
• आप सूप, सलाद, स्टार्टर और मुख्य भोजन में स्वाद प्रदान करने के लिए इसका प्रयोग कर सकते हैं।
• इसका प्रयोग सलाद के ड्रेसिंग में पनीर को मेरीनेड करने के लिए कर सकते हैं।
• मोज़रेला और टमाटर का सलाद, ताज़े बेसिल के साथ बेहतरीन बन जाता है।
• ताज़े बेसिल को प्रयोग गोट्स् चीज़ के सात पिज़्जा के टॉपिंग के लिए करें। यह साथ में बहुत अच्छी तरह से जजते हैं। आप पिज़्जा सॉस में चाहे तो सूखा बेसिल भी डाल सकते हैं।
• बेसिल का प्रयोग आईस-क्रीम और चॉकलेट को स्वाद प्रदान करने के लिए भी किया जाता है। इसे दूध या क्रीम में उबालकर डेज़र्ट में मिला सकते हैं।
• बेसिल को हेल्दी स्टर-फ्राय में थाई व्यंजन का स्वाद प्रदान करने के लिए डाला जा सकता है, खासतौर पर जो बैंगन, पत्तागोभी, चिली पैपर, टोफू आदि से बनाया गया हो।
• क्रीम ऑफ टमॅटो सूप में ताज़े बेसिल के पत्ते मिलाने इसे अनोखा स्वाद मिलता है। यह सूप को और भी खूशबुसार और स्वादिष्ट बनाता है।
• कटे हुए बेसिल को उबले हुए पानी में डालकर, बेसिल चाय के गुनगुने कप का आनंद लें। यह स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होता है।
• बेसिल का प्रयोग पारंपरिक लिकर, चारट्रियुस में किया जाता है।
• इसका प्रयोग तेल में डालकर किया जाता है, जैसे स्टा-फ्राय बनाने के लिए बेसिल के तेल का प्रयोग।

बेसिल संग्रह करने के तरीके 


• ताजा बेसिल को जिप लॉक बैग में पैक किया जाना चाहिए और रेफ्रिजरेटर में संग्रहीत किया जाना चाहिए। हालांकि, आप बाद में उपयोग करने के लिए ताजा बेसिल को फ्रीज कर सकते हैं। ऐसा करने के लिए, पहले दो सेकंड के लिए उबलते पानी में बेसिल के पत्तों को डालें, बर्फ के ठंडे पानी में ताज़ा करें और फिर सूखा लें। फ्रीजर में एयरटाइट बैग में रखें। • सूखे बेसिल को एक ठंडे, अंधेरे और सूखे स्थान पर कसकर सील किए गए ग्लास कंटेनर में रखा जाना चाहिए जहां यह लगभग छह महीने तक ताजा रहेगा।

बेसिल के फायदे, स्वास्थ्य विषयक (benefits of basil in Hindi)

 
• बेसिल विटामीन के का बेसहतरीन स्रोत है और साथ ही लौह, कॅलशियम और विटामीन ए का अच्छा स्रोत है।
• विटामीन ए स्वस्थ आँख, त्वचा और बाल के लिए ज़रुरी होता है।
• साथ ही, बेसिल खाद्य रेशांक, मैन्गनीस, मैगनीशियम, विटामीन सी और पौटॅशियम् का अच्छा स्रोत है।
• हाल ही में की गई जांच के अनुसार यह कहा जाता है कि बेसिल तेल के पदार्थ में सूक्ष्मजीवीरोधी, एन्टीवायरल और ऑक्सीकरण रोधी पदार्थ होते हैं (क्योंकि इसमें कॅरटीनोईड्स् होते हैं)।
• बेसिल में ऑक्सीकरण गुण भी होते हैं, जो इसे आर्थराईटीस् से पीड़ित के लिए लाभदायक बनाता है।
• बेसिल की चाय दस्त, मिचली और गैस की वजह से पेट दर्द से आराम प्रदान करता है।
• यह पाचन मज़बूत कर गैस से आराम प्रदान करता है।
• इसका प्रयोग पारंपरिक रुप से स्ट्रैस, दमा, मधुमेह, सर्दी खांसी को ठीक करने के लिए किया जाता है।

Try Recipes using बेसिल ( Basil )


More recipes with this ingredient....

बेसिल (51 recipes), सूखी बेसिल (2 recipes), कटा हुआ बेसिल (34 recipes), थाई बेसिल (0 recipes), पतले लंबे कटे बेसिल (0 recipes)

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन