तेजपत्ता ( Bayleaf )

तेजपत्ता , Bay leaf in hindi Glossary, स्वास्थ्य के लिए लाभ, + तेजपत्ता रेसिपी Viewed 4893 times

वर्णन
तेजपत्ता एक खूशबुदार पत्ता है जिसे इसकी तेज़ संगंध के लिए, अकसर सूप, ग्रेवी !र चावल से बने व्यंजन में डाला जाता है।

यह छोटा पेड़ उशिया मायनर का मूल है, जहाँ से यह मध्यसागरीय और समान मौसम वाले अन्य प्रांत में फैलाया जाता है। तलामपत्र का उपरी भाग चमकीला, जैतूनी हरे रंग का होता है और नीचे के भाग का रंग फीका जैतूनी रंग का होता है। इस पत्ते की लंबाई 2.5 से 7.5 सेन्टीमीटर के बीच होती है और इसकी चौड़ाई 1.6 से 2.5 सेन्टीमीटर के बीच होती है। इस पत्ते का आकार अंडाकार, नोकीला और मुलायम होता है। सूखने के बाद, इस पत्ते की खुशबु हर्बल, हल्की फूल जैसी और काफी हद तक ऑरेगानो और थाईम जैसी होती है।

भारतीय तेजपत्ता(Indian Bayleaf)
भारतीय तेजपत्ता को तेज़पत्ता भी कहा जाता है और इसका स्वाद दालचीनी जैसा होता है, लेकिन थोड़ा सौम्य। इसकी खुशबु कासीया जैसी होती है। भारतीय तमलापत्र दिखने में अन्य तेजपत्ता जैसा होता है, लेकिन इसका खाने में प्रयोग अलग तरीके से किया जाता है।

ग्रीक तेजपत्ता (Greek Bayleaf)
यह पत्ते बेहद खुशबुदार और लोरल (लोराकी) परीवार से सबंधित होते हैं। इनके अलग स्वाद और खुशबु के लिए, इनका प्रयोग बिभिन्न व्यंजन में किया जाता है।

मध्यसागरीय तेजपत्ता (Mediteranean Bayleaf)
लारुस नोबीलीस को मध्यसागरीय तेजपत्ता कहा जाता है, जिसका स्वाद सौम्य और खुशबु सौम्य होती है। छाँटने और सूखाने के हफतों के बाद भी, इनका स्वाद बना रहता है।

कॅलीफोरनीया तेजपत्ता (California Bayleaf)
कॅलीफोरनीया तमलापत्र बहुत ही ज़्यादा खुशबुदार होता है और इसे कभी-कभी मेक्सिकन तमलापत्र, ओरेगोन माईरतल या पैपरवुड भी कहा जाता है। इसका स्वाद मध्यसागरीय तेजपत्ता से तेज़ होता है, हालाँकि यह दिखने में एक जैसे लगते हैं।

इन्डोनेशियन तेजपत्ता या इन्डोनेशियन लौरेल (तेजपत्ता) (Indonesian Bayleaf or Indonesian laurel (salam leaf))
इन्डोनेशिया के बाहर ना मिलने वाला, इस बेहद मूल्य मसाले को माँस में लगाया जाता है और इसका प्रयोग सब्ज़ी में बहुत ही कम मात्रा में किया जाता है।

चुनने का सुझाव
• सूखे पत्ते साबूत और जैतूनी रंग के होने चाहिए। भुरे पत्तों का स्वाद फीका पड़ जाता है।
• बाज़ार में दोनो सूखे और ताज़े पत्ते मिलते हैं। जहाँ दोनो का प्रयोग पकाने में किया जाता है, क्रश किये हुए और पीसे हुए पत्तों की खुशबु तेज़ होती है और यह बेहद स्वादिष्ट होता है।

रसोई में उपयोग
• ताज़े और सूखे पत्तों का प्रयोग खाने का स्वाद और खने की खुशबु निहारने के लिए किया जाता है।
• इन पत्तों का प्रयोग अकसर सूप, स्ट्यू, ब्रैस और मध्यसागरीय पाकशैली में पाते को स्वाद प्रदान करने के लिए किया जाता है।
• यह पत्ते क्लासिक बोइलाबायसौ और बुईलोन जैसे फ्रेंच व्यंजन में स्वाद प्रदान करने के लिए किया जाता है।
• भारतीय पाकशैली में, अकसर साबूत पत्ते का प्रयोग सब्ज़ी या बिरयानी में तड़का लगाने के लिए किया जाता है और परोसने से पहले निकला दिया जाता है।
• तेजपत्ता को पकाने से पहले क्रश (या पीसा) भी जा सकता है।
• क्रश किये हुए तेजपत्ता की खुशबु साबूत तेजपत्ता से ज़्यादा होती है और पत्ते को चबाने की आशंका कम हो जाती है।
• इनका प्रयोग मछली, माँस, पिल्ट्री को स्वाद प्रदान करने के लिए और आम अचार के हर्ब के लिए किया जाता है।

संग्रह करने के तरीके
• सूखे हवा बंद डब्बे में रखने से, साबूत पत्ते की खुशबु को लगभग 2 साल तक संग्रह किया जा सकता है।

स्वास्थ्य विषयक
• तेजपत्ता के गुण रक्त में उच्च मात्रा में शक्करा, सरदर्द, किटाणू और फफूंद इन्फेक्शन और गैस के अलसर को ठीक करने में मदद करता है।
• तेजपत्ता और बेरी का प्रयोग उनके स्तंभक, वातहर, प्रस्वेदक, पाचक, मूत्रवर्धक, वमनकारी और पेट संबंधित गुणों के लिए किया जाता है।
तेजपत्ता प्रतिजीवाणु और एन्टीफंगल भी होते हैं।

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन