विलायती जीरा ( Caraway seeds )

विलायती जीरा ( Caraway Seeds ) Glossary |स्वास्थ्य के लिए लाभ, पोषण संबंधी जानकारी + विलायती जीरा रेसिपी ( Caraway Seeds ) | Tarladalal.com Viewed 4313 times

अन्य नाम
शाही जीरा

वर्णन
विलायती या परशियन ज़ीरा एपीयाकी परिवार का एक द्वयवर्षीय पौधा है, जो युरोप और पश्चिमी एशिया का मूल है। जिसे हम अकसर विलायती ज़ीरा कहते हैं वास्तविक रुप से पौधे का फल है, लेकिन इन्हें विश्व भर के लोग बीज कहते हैं! इसके फल चापाकार और लगभग 2 सिमी लबे, भुरे रंग के और छुने में तेज़ होते हैं जिनके 5 किनोरे होते हैं।

इन फल का प्रयोग अकसर साबूत किया जाता है, जिसकी खुशबु तेज़, चक्रफूल जैसी होती है और इसकी खुशबु ज़रुरी तेल, आमतौर पर कार्वोन और लीमोनीन से आती है। इनका प्रयोग ब्रेड में मसाले के रुप में किया जाता है, खासतौर पर राई ब्रेड में। विलायती ज़ीरा का प्रयोग लिकर, कैसेरोल और अन्य खाद्य पदार्थ जैसे सॉरक्रॉट में किया जाता है। इसका प्रयोग चीज़ को स्वाद प्रदान करने के लिए भी किया जाता है।

चुनने का सुझाव
• विलायती ज़ीरा काफी हद तक जीरा जैसा दिखते हैं।
• यह भुरे रंग के होते हैं, जिन्हें साबूत या पीसा हुआ खरीदा जा सकता है।
• फीके भुरे रंग के किनारों वाले भुरे रंग के साबूत बीज चुनें।
• पीसा हुआ विलायती ज़ीरा भी गहरे भुरे रंग का होता है।

रसोई में उपयोग
• विलायती जीरा का प्रयोग ब्रेड, बिस्कुट, केक और चीज़ को स्वाद प्रदान करने के लिए किया जाता है।
• सात ही इसका प्रयोग पेट संबंधित बिमारी से आराम प्रदान करने की दवाई के रुप में किया जाता है।

संग्रह करने के तरीके
• हवा बंद डब्बे में रखकर ठंडी और सूखी जगह पर रखें, जिससे इसकी खुशबु और इसके स्वाद को लंबे समय तक बनाया रखा जा सकता है।
• पीसा हुआ विलायती ज़ीरा हमेशा कम-कम मात्रा में खरीदें और हवा बंद डब्बे में रखें।

स्वास्थ्य विषयक
• विलायती जीरा में भरपुर मात्रा में नमी, प्रोटीन, वसा होता है और ऐश, कॅलशियम, फोसफोरस, सोडियम, लौह, थायामीन, राईबोफ्लेविन और नायासीन के अलावा भरपुर मात्रा में कार्बोहाईड्रेट होते हैं। सात ही इसमें विटामीन सी और ए भी होते हैं।
• यह ग्रंथि को एक्टीवेट करने में मदद करते हैं, साथ ही किडनी के कार्य को बढ़ाने में मदद करते हैं।
• इन बीज का प्रयोग पेट के कार्य को मज़बुत करने में भी मदद करता है। विशिष्ट रुप से, यह गैस से आराम प्रदान करते हैं और पेट दर्द से आराम प्रदान करते हैं, जो किसी दवाई के कसारण हो सकता है। गैस के लिए, विलायती जीरा से बनी एक कप चाय को खाने के बाद दिन में तीन बार पीने से आराम मिलता है।
• विलायती जीरा का तेल को साँस की बदबु या कड़वेपन से आराम प्रदान करता है।

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन