अंकुरित वाल ( Sprouted vaal )

अंकुरित वाल ( Sprouted Vaal ) Glossary | Recipes with अंकुरित वाल ( Sprouted Vaal ) | Tarladalal.com Viewed 3277 times

वर्णन
अंकुरित वाल का स्वाद बेहद तेज़ होता है जो विभिन्न प्रकार के व्यंजन को जजता है। यह हल्के सफेद रंग के बीनस् विभिन्न आकार में मिलते हैं और साथ ही दाल के रुप में भी मिलते हैं।
वाल को अंकुरित करने के लिए, बीनस् को पहले साफ कर धो लें। बीनस् को रातभर (8 से 12 घंटे के लिए), भरपुर गरम पानी में भिगो दें। बीनस् के फूलने के बाद, पानी छान लें और गीले सूती के कपड़े में बाँध दें और अंकुरित होने दें। समय-समय पर पानी छिड़कर कपड़े को गीला रखें। वाल को अंकुरित होने में 36-48 घंटे लगते हैं। अंकुरित होने पर, धोकर छान लें और किसी भी प्रकार के बेरंग दाने को अलग कर लें और बचे हुए दानों को छिल लें। ऐसा करने के लिए, आप बीनस् को गरम पानी में रखकर ऊँगलीयों से रगड़कर निकाल लें। यह आसानी से छिले जा सकते हैं।

उबले हुए अंकुरित वाल (boiled sprouted vaal)
ज़रुरत मात्रा में पानी उबाल लें (प्रति कप अंकुरित दानें के लिए 2-3 कप पानी) और अंकुरित वाल डाल दें। ढ़ककर पका लें। इससे यह जल्दी पक जाते हैं और ज़्यादा से ज़्यादा पौषणतत्व बने रहते हैं। इन अंकुरित दानों को पकने में लगभग 20-25 मिनट लगते हैं, क्योंकि यह अन्य अंकुरित दानों से ज़्यादा सख्त होते हैं। आप इन अंकुरित वाल को नमक वाले या बिना नमक के पानी में प्रैशर कुक भी कर सकते हैं। ढ़क्कन खोलने से पुर्व सारी भाप निकलने दें। अंकुरित दानों को उनके नरम होने तक या ऊँगलीयों के बीच रखकर मसल जाने तक पका लें। अंकुरित वाल का प्रयोग विभिन्न प्रकार के व्यंजन में किया जा सकता है, जैसे कढ़ी, सब्ज़ीयाँ, खिचड़ी आदि।

चुनने का सुझाव
• हालाँकि घर पर बने अंकुरित दाने बनाना अच्छा होता है, अंकुरित वाल किराने की दुकानों में पहले से पैक मिलते हैं।
• पैकेट वाले दाने खरीदने पर, समापन के दिनांक की जांच कर लें।
• यह सुनिश्चित करें कि दुकान में ताज़ा माल मिलता हो और ताज़े खाद्य पदार्थ मिलते हों।
• हरे और पीले रंग के करारे दानों को चुनें। मुरझाये हुए और भुरे रंग के दाने ना चुनें।
• अंकुरित दानें को खरीदने के बाद जल्द से जल्द प्रयोग करें। बहुत लंबे समय तक ना रखें, क्योंकि यह खट्टे हो सकते हैं।

रसोई में उपयोग
• पकाने पर, अंकुरित वाल की खुशबू तेज़ और मेवेदार हो जाती है और इसका स्वाद मलाईदार और हल्का कड़वा हो जाता है। यह नारीयल, गुड़ और अदरक के साथ बेहद जजता है।
• अंकुरित दानों को तला जा कसता है, जिससे इसके छिलके अलग हो जाते हैं और इसमें नमक और/या मसाले मिलाकर एक स्वादिष्ट नमकीन और कुरकुरा नाश्ता बनाया जा सकता है।
• आप अंकुरित वाल को सूप, सेन्डविच और सलाद में मिला सकते हैं।
• सूरती वाल दाल के साथ चावल (एक गुजराती व्यंजन) एक पौष्टिकता से भरा आहार बनाता है।
• इसका प्रयोग अंकुरित वाल पुलाव बनाने के लिए भी किया जाता है।
• अंकुरित वाल का प्रयोग मशहुर महाराष्ट्रियन व्यंजन, उसल बनाने के लिए भी किया जाता है। गुड़ और कोकम का मेल उसल को खट्टा-मीठा स्वाद प्रदान करता है, जो रोटी और चावल के साथ बेहद जजता है।

संग्रह करने के तरीके
• अंकुरित दानों को जल्द से जल्द प्रयोग करें और प्रयोग करने से पहले धो लें।
• पके हुए अंकुरित दानों को फ्रिज में रखकर 3-4 दिनों के अंदर प्रयोग कर लेना चाहिए।

स्वास्थ्य विषयक
• अंकुरित दानें जीवीत खाद्य पदार्थ हैं और इनके बढ़ते बढ़ते इनकी पौष्टिक्ता बढ़ते जाती है।
• इनमें भरपुर मात्रा में विटामीन, मिनरल, प्रोटीन, एन्ज़ाईम, फायटोकेमिकलस्, ऑक्सीकरणरोधी, नाइट्रोसमाईन, ट्रेस मिनरल, बायोफ्लेवोनोइड और कीमो-प्रोटेक्टेनटस् जैसे सल्फोराफेन और आइसोफ्लरवोन, जो टाक्सिन के अनुकुल काम करते हैं, उत्परिवर्तन सेल और शरीर के प्रतिरक्षा प्रणाली को मज़बूत करते हैं।
• यह प्रोटीन के साथ-साथ विटामीन ए, बी-कॉमप्लेक्स और ई से भरपुर होते हैं, साथ ही विभिन्न मिनरल और ऐन्ज़ाईम से भरपुर होते हैं।
• यह कैंसर और थकान से बचने में मदद करते हैं।
• अंकुरित दाने रेशांक से बी भरपुर होते हैं, जो आपका पेट भरा रखने में मदद करते हैं, वजन बढ़ने से रोकने में मदद करते हैं।
• रेशांक पाचन शक्ति बढ़ाने में मदद करते हैं और यह मधुमेह और हृदय रोग जैसी बिमारीयों से बचने में मदद करते हैं।
• यह बीनस् रक्त में शक्करा की मात्रा को संतुलित रखने में मदद करते हैं।

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन