उड़द दाल ( Urad dal )

उड़द दाल क्या है? लाभ | का उपयोग करता है | रेसिपी | urad dal in hindi | Viewed 16969 times

उड़द दाल क्या है?


उड़द दाल में छिलका होता है, साथ ही इसका तेज़ स्वाद होता है। छिलका निकाली हुई उड़द दाल सफेद रंग की होती है और काफी हद तक बेस्वाद होती है।
उबलने पर, दाल को रुप अनोखा हो जाता है। खुशबुदार मसाले मिलाने पर, इस दाल को रोटी और चावल के साथ परोसा जा सकता है।
इसे आटे में या पेस्ट में पीसकर, इसका प्रयोग डोसा, इडली, वड़ा और पापड़ जैसे व्यंजन बनाने के लिए किया जाता है। दक्षिण भारतीय पाकशैली में, उड़द दाल को तड़के रुप में प्रयोग किया जाता है। इस तरह के प्रयोग के लिए, सफेद उड़द दाल को चुना जाता है।

उबली हुई उड़द दाल (boiled urad dal)
जैसा इसका नाम है, उड़द को उबालने पर उबली हुई उड़द दाल बनायी जाती है। प्रति एक कप दाल के लिए आप 2 कप पानी को चुन सकते हैं। यह माप ढ़ककर बर्तन में पकाने के लिए होता है। इस तरह पकाने से, यह जल्दी पकती है, ऊर्जा कम उपयोग होती है साथ ही ज़्यादा से ज़्यादा से विटामीन बने रहते हैं। मिश्रण को उबाल लें और आँच को मध्यम-कम कर लें। दाल गाढ़ी होने पर थोड़ा और पानी मिलायें। दाल पकने पर पानी गाढ़ा हो जायेगा। आप उड़द को नमक से साथ या नमक के बिना भी प्रैशर कुकर में उबलते पानी में 7-10 मिनट तक पका सकते हैं। पकने के बाद इसमें अपनी पसंद और व्यंजन अनुसार सब्ज़ीयाँ, मसाले या उबले हुए चावल भी मिला सकते हैं।
भिगोई हुई उड़द दाल (soaked urad dal)
उड़द दाल को छाँटकर इसमे से पत्थर या अन्य कंकड़ निकाल लें। पानी से धो लें। रातभर पानी में भिगो दें। भिगोई हुई उड़द दाल को मुलायम या दरदरे पेस्ट में पीसा जा सकता है और व्यंजन ानुसार प्रयोग किया जा सकता है।

चुनने का सुझाव
• उड़द पहले से पैक की हुई या थोक में, किरानें की दुकानों में आसानी से मिलती है।
• पहले से पैक की हुई उड़द खरीदने पर, समापन के दिनांक की जांच कर लें।
• किसी भी अन्य खाद्य पदार्थ की तरह, थोक में खरीदने पर, इस बात का ध्यान रखें कि दाल धूल से मुक्त है और दुकान में ताज़ा माल ही मिलता है।
• चाहे थोक में खरीदें या पेकेट में, इस बात का ध्यान रखें कि दाल नमी से मुक्त हो।

उड़द दाल के उपयोग रसोई में (uses of urad dal in cooking )

उड़द दाल का उपयोग दक्षिण भारतीय व्यंजनों में किया जाता है | urad dal used in South Indian dishes in hindi |

 ज्यादातर दक्षिण एशिया के दक्षिणी क्षेत्रों में उगाया जाता है, भारतीय व्यंजनों को तैयार करते समय उड़द की दाल का बड़े पैमाने पर उपयोग किया जाता है। 

1. इडली : इडली एक बहुत ही लोकप्रिय दक्षिण भारतीय नाश्ता है जो मुंबई स्ट्रीट फूड का भी पसंदीदा है। हम आपको इडली बनाने की विधि बताते हैं | परफेक्ट इडली बैटर बनाने की विधि के बारे में स्टेप बाय स्टेप रेसिपी के साथ।

2. डोसा : डोसा दक्षिण भारतीय पाकशैली का मुख्य भाग है और लोकप्रियता में यह इडली के बाद आते हैं! आप चाहें त नीचे दी गई विधी का प्रयोग कर डोसा रेसिपी के लिए अलग घोल बना सकते हैं या इडली के घोल में थोक में बनाकर दोनो व्यंजन बनाने के लिए प्रयोग कर सकते हैं, जिनमें अंतर केवल इतना है कि इडली के घोल में लंबे समय तख खमीर लाया जाता है और डोसा के घोल को उतने लंबे समय तक खमीर की आवश्यक्ता नहीं होती। आप इस घोल को पीसने के तुरंत बाद प्रयोग कर सकते हैं, या इसे फ्रिज में रखकर प्रयोग करने के 15 मिनट पहले फ्रिज से निकाल सकते हैं।

3. आपको इडली पसंद है लेकिन आप तब क्या करेंगे जब आपके पास घोल तैयार नहीं है? पेश है इडली का एक झटपट और स्वादिष्ट विकल्प, क्विक रवा इडली रेसिपी। चूंकि क्विक रवा इडली स्टीम्ड होती है, इसलिए इसे उपमा की तुलना में पचाना आसान होता है | टिफिन बॉक्स के लिए सूजी इडली अधिक समय तक नम रहती है।

4. कांचीपुरम इडली रेसिपी | मसाला इडली | होटल जैसी कांचीपुरम इडली | कोवील इडली | kanchipuram idli in hindi.

उड़द दाल का उपयोग करके स्वस्थ व्यंजनों | healthy recipes using urad dal in hindi |

1. किनोआ डोसा की रेसिपी | क्विनोआ डोसा | हेल्दी स्नैक्स | हेल्दी डोसा | quinoa dosa in hindiउड़द के साथ क्विनोआ और गेहूं के आटे को मिश्रित करने वाले एक बल्लेबाज के साथ बनाया गया, ये क्विनोआ डोसा बहुत स्वादिष्ट होते हैं और एक अद्भुत मुंह-महसूस भी करते हैं। बैटर को किण्वन की आवश्यकता नहीं होती है, इसलिए आप इस डोसा को किसी भी समय बना सकते हैं, हालांकि आपको इसे पीसने से पहले उड़द को भिगोने के लिए एक घंटे का समय प्रदान करना होगा।

2. कुट्टू डोसा रेसिपी | कुट्टू के आटे का डोसा | झटपट बक्वीट डोसाbuckwheat dosa in hindi | एक प्रकार का अनाज डोसा जिसे कुट्टू डोसा के रूप में जाना जाता है, एक त्वरित अनाज का डोसा है जिसे किसी किण्वन की आवश्यकता नहीं होती है। यहाँ एक आसान और स्वस्थ भारतीय कुट्टू का दलिया है जो एक प्रकार का अनाज और उड़द की दाल से तैयार किया जाता है।

3. ओट्स इडली रेसिपी |  झटपट ओट्स इडली | लो कैलरी ओट्स इडली |  मधुमेह के लिए हेल्दी ओट्स इडली |  oats idli in hindi | हालांकि मूल इडली अपने आप में काफी पौष्टिक है, ओट्स इडलीका यह अभिनव संस्करण और भी अधिक पौष्टिक और भरने वाला है। इस इंस्टेंट ओट्स इडलीओट्स इडली बनाना सीखें।

4. 4 फ्लॉर डोसा रेसिपी मिक्स आटा डोसा ज्वार, बाजरे, रागी और गेहूं के आटा का डोसा | आटे का हेल्दी डोसा mixed flour dosa recipe in hindi language |  एक अनोखा डोसा, जिसे भिगोए और पीसे उड़द दाल के खमीर वाले घोल को 4 तैयार आटे के पर्याप्त मात्रा के साथ मिलाकर बनाया गया है, यह 4 फ्लॉर डोसा रेसपी बेहद स्वादिष्ट और पेट भरने वाला व्यंजन है!


• उड़द दाल का प्रयोग दक्षिण भारतीय घरों में रोज़ के खने में वड़ा, इडली, डोसा के घोल बनाने के लिए और बहुत से व्यंजन में तड़का लगाने के लिए किया जाता है।
• उबली हुई दाल, तले हुए टमाटर, लहसुन और प्याज़ के साथ स्वादिष्ट लगती है। आप इसमें सब्ज़ीयाँ भी मिला सकते हैं।

संग्रह करने के तरीके
• उड़द दाल से पत्थर या अन्य धूल जैसे पदार्थ छाँट कर निकाल लें।
• इसे लंबे समय तक हवा बंद डब्बे में रखकर ठंडी और सूखी जगह पर रखा जा सकता है।
• पकी हुई उड़द दाल को फ्रिज में रखकर 3 से 4 दिन तक रखा जा सकता है।

उड़द दाल के फायदे
• उड़द की दाल (urad dal benefits in hindi): 1 कप पकी हुई उड़द की दाल आपकी 69.30% फोलिक एसिड की दैनिक आवश्यकता को पूरी करती है। उड़द की दाल में मौजूद फोलिक एसिड आपके शरीर में नई कोशिकाओं, विशेष रूप से लाल रक्त कोशिकाओं के उत्पादन और रखरखाव में मदद करती है।  फॉस्फोरस से भरपूर होने के कारण यह कैल्शियम के साथ मिलकर हमारी हड्डियों का निर्माण भी करती है। इसमें फाइबर भी भरपूर है और इसलिए यह दिल के लिएकोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए और मधुमेह के लिए अच्छा है। उड़द दाल के 10 सुपर फायदे के लिए यहाँ देखें।

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन