सफेद मक्ख़न ( White butter )

सफेद मक्ख़न ( White Butter ) Glossary | Recipes with सफेद मक्ख़न ( White Butter ) | Tarladalal.com Viewed 2983 times

अन्य नाम
घर पर बना मक्ख़न, ताज़ा मक्ख़न

वर्णन
जैसा इसका नाम है, घर पर बना मक्ख़न वह होता है जो घर पर दुद कि मलाई को मिलाकर, फाड़कर और धोकर बनाया जाता है। घर पर मक्ख़न बनाना काफी आसान है और यह गरमा गरम टोस्ट पर या किसी भी खाने पर लागाकर बेहद स्वादिष्ट लगता है। और एक अच्छी बात यह है कि, क्योंकि आप इसे घर पर बना रहे है, इसमें किसी भी प्रकार का मिलावट नही होता। आप विभिन्न प्रकार से स्वाद वाले मक्ख़न भी बना सकते हैं जैसे पार्सले मक्ख़न, पैपर, हैल्यापीन्यो या धनिया के स्वाद वाला।

घर पर मक्ख़न बनाने के लिये इस विधी का पालन करें:
• दूध उबाल लें।
• ठंडा कर फ्रिज मे बिना हिलाये ५-६ घंटो के लिये रखे।
• उपर मलाई कि एक मोटी परत बन जायेगी।
• संभाल कर छेद वाली चम्मच से इसे निकालें।
• ढ़क्कन वाले बर्तन मे रखकर फ्रिज मे रखें।
• दूध गरम करने पर और भी मलाई इसमे मिलये। कम से कम २ मलाई एकत्रित होने तक रोज़ मलाई मिलाते रहें।
• अब दही मिलाकर, हल्के हाथों से मिलाकर ढ़क दे।
• अँधेरी और गरम जगह पर ५-६ घंटो के लिये रख दें।
• इस जमी हुई मलाई को छाछ से मक्ख़न अलग होने तक फैंट लें।
• 3 कप ठ़डा पानी मिलाकर सारे मक्ख़न का डल्ला बना लें।
• इस डल्ले को बतर्न के कोने में पकड़कर सारी छाछ निकाल दें।
• अगर स्वाद वाला या नमकीन मक्ख़न बनाना हो तो इसे और २-३ बार ठ़से पानी से धोये।
• सारा पानी निकालकर, घर पर बनर मक्ख़न का ज़रुरत अनुसार प्रयोग करें।
इस घर पर बने मक्ख़न का स्वाद अपको किसी भी दुकान में नही मिलेगा। इसका एक बेहतरीन मालईदार स्वाद होता है जो किसी बि बाज़ार मे मिलने वाले मक्ख़न कि तुलना में ज़यादा मज़ेदार होता है। एक पाईन्ट मलाई से १ कप माक्ख़न और १ कप छाछ मिलती है।
चुनने के सुझाव
• घर पर मक्ख़न बनाते समय इस बात पर ध्यान दें कि दूध फूल क्रीम दूध है जिससे मालई कि मोटी परत मिलती है।
• बेहतर परिणाम के लिये दूध को उबालकर फ्रिज मे रखें।
• छाछ को फेंके नही कयोंकि इसका कड़ी बनाने में या चपाती या पराठे का आटा गूँथने में प्रयोग किया जा सकता है।

रसोई में उपयोग
• यह घर पर बना मक्ख़न गरम कॉर्न ब्रेड, गरमा गरम कुट्टु पैनकेक, घर पर बने मफिन और दालचीनी वाले फ्रैंच टोस्ट के साथ अच्छा लगता है।
• गरमा गरम चपाती के उपर या ब्रेड स्लाईस के बीच लगाकर इसका मज़ा लिया जा सकता है।
• इस मक्ख़न से घी बनाया जा सकता है, जिसका बाद मे काफी व्यंजनों मे प्रयोग किया जा सकता है।
• इस मक्ख़न को बनाते वक्त मिली छाछ में मसाले मिलाकर ताज़ा पेय बनाया जा सकता है या इससे कड़ी भी बनायी जा सकती है।

संग्रह करने के तरीके
• मक्ख़न का ताज़ा स्वाद बनाये रखने के लिये इसे हवा बचद डब्बे में रखना ज़रुरी है।
• इसलिये मक्ख़न को चौड़े मुह वाले काँच के बतर्न मे रखें।
• मक्ख़न को दबाकर उनके बीच या बतर्न के किनारों में जगह ना रखें। अगर आपकि नमकीन मक्ख़न बनाना हो तो यह उचित समय है जब आप अपनी पसंद का नमक इस मक्ख़न मे मिलये।
• जब सारा मक्ख़न काँच के बतर्न मे रख दिया जाये, उपर से थोड़ा ठंडा पानी डालें और ढ़क्कन बंद कर दें। यह पानी कि परत आपके मक्ख़न को हवा मुक्त रखकर लंबे समय तक संग्रह करने में मदद मरेगा।
• बोतल को फ्रिज मे रखना चाहिए और ताज़े मक्ख़न का २-३ दिनो मे प्रयोग कर लेना चाहिए।

स्वास्थ्य विषयक
• घर पर बना मक्ख़न बाज़ार मे मिलने वाले मक्ख़न से अधिमान्य किया जाता हे क्योंकि इसमे किसी भी प्रकार का रंग या अन्य मिलावट नही होता है।
• बाज़ार मे मिलने वाले मक्ख़न और मारजरीन कि तुलना में इसमें सैच्यूरेटड वसा और कौलेस्ट्रॉल कि मात्र कम होती है।
• बाज़ार मे मिलने वाले मक्ख़न कि तुलना में इसमें सोडियम के मात्रा कम होती है।


Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन