गेहूं का ब्रेड ( Whole wheat bread )

गेहूं का ब्रेड, होल व्हीट ब्रेड क्या है ? ग्लॉसरी, इसका उपयोग, स्वास्थ्य के लिए लाभ, रेसिपी Viewed 13533 times

गेहूं का ब्रेड, होल व्हीट ब्रेड क्या है?


गेहूँ से बनी ब्रेड एक मशहुर प्रकार की ब्रेड है, जिसे विश्व भर में लोगों द्वारा पसंद किया जाता है। हर प्रदेश का इसे बनाने का अपना अलग तरीका होता है। गेहूं के ब्रेड को भरपुर मात्रा में संपूर्ण गेहूं के आटे से बनाया जाता है जैसे गेहूं या राई और इसे रंग प्रदान करने के लिए, अन्य सामग्री जैसे मोलासस्, कॉफी और कैरॅमल का प्रयोग भी किया जा सकता है। इसमें गेहूं के आटे का ब्रेन और अंकुर बना रहता है- जो इसे स्वास्थ्य के प्रति सचेक के लिए अच्छा सुझाव बनाते हैं। यह बहुत से विकल्प में उपलब्ध है जैसे ब्रेड रोल, ब्रेड बन और लोफ।

गेहूं के ब्रेड में मुख्य तौर पर पाँच मुख्य सामग्री होते हैः गेहूं या राई का आटा, नमक, शक्कर, पानी और खमीर। ब्रेड बनाने के लिए यह सुनिश्चित करें कि आप सामग्री को अच्छी तरह वजन कर प्रयोग करें। ऐसा करने के बाद, इससे आटा बनाया जा सकता है। आटे को उपतुक्त समय के लिए खमीर किया जा सकता है जिससे फूला हुआ आटा मिलें। खमीर आते समय, खमीर के सेल शक्कर पर काम कर कार्बोहाईड्रेट और अल्कोहोल उत्तपन्न करते हैं। खमीर आने के बाद, आटे में गैस भरने के कारण यह फूल जायेगा। इस फूले आटे को दबाकर हवा निकाली जाती है और गीले सूती कपड़े से ढ़का जाता है। आट एक और बार फूल जाएगा और इससे हवा निकालने के बाद सुबारा दबाया जाता है। इसे पसंद के आकार में बेलकर बेक किया जाता है।

ब्रेड के आटे को विभिन्न आकार में बनाया जा सकता है। बेकर्स विभिन्न मिलाने वाले पदार्थ मिला सकते हैं, जिसे एक साथ ब्रेड इम्प्रूवर कहा जाता है को अच्छे गुणों वाला, मुलायम रुप, नरम क्रम्ब्स् वाला, फूला हुआ और बेहतर ब्रेड लौफ बनाते हैं। मिनरल एडीटिव, एनरीचिंग पदार्थ या यीस्ट के खाने जैसे माल्ट, शक्कर, डीमेररा शक्कर आदि ब्रेड एडीटिव के प्रकार हैं।

जब गेहूं की ब्रेड थोड़ी पुरानी हो जाये, इसे अवन में सूखाया जा सकया है या आँच पर टोस्ट कर पीसकर इसके ब्रेड क्रम्ब्स् बनाये जा सकते हैं। इसके अलावा, ब्रेड के टुकड़े बनाकर उन्हें तलकर क्रुटोन्स् बनाकर लंबे समय तक रखा जा सकता है।

ब्रेड खराब होने पर खाने में सूखे और चुरा किये हुए लगते हैं। जैसे ब्रेड खराब होने लगती है, इसका स्वाद बेकार होने लगता है। स्टार्च में बदलाव के कारण ब्रेड खराब होने लगती है। अर्थात ब्रेड के खराब होने का मतलब है कि लोफ के अंदर ही नमी का हटना और ना ही नमी का कम होना। इसलिए, ब्रेड बनाने वाले ब्रेड के रुप को बेहतर बनाने के लिए और फूलाने के लिए, एन्टी-स्टेलिंग पदार्थ का प्रयोग करते है, जैसे लेसीथीन, सोया का आटा, जीएमएस आदि।

टोस्डेड गेहूं के ब्रेड की स्लाईस (toasted whole wheat bread slices)
टोस्टेड टोस्डेड गेहूं के ब्रेड का अर्थ है खुली आंच पर या टोस्टर में कुरकुरा होने तक ब्रेड को पकाना। आप गेहूं की ब्रेड स्लाइस को टोस्ट करने के लिए, ब्रेड स्लाइस को गर्म तवे या पॅन पर रखें और दोनों तरफ से कुरकुरा और सुनहरा भूरा होने तक पकाएं। आप इन्हें थोड़ा सा मक्खन या तेल का उपयोग करके भी टोस्ट कर सकते हैं। टोस्ट करने से ब्रेड न केवल कुरकुरा और स्वादिष्ट बनता है, बल्कि टॉपिंग टोस्टेड स्लाइस पर बिना नम किए उसे सुरक्षित रूप से रहने देता है। टोस्टेड होल व्हीट ब्रेड को सैंडविच और टोस्ट जैसे कई तरह के व्यंजनों में इस्तेमाल किया जा सकता है। उन्हें क्रूटॉन्स में भी काट सकते हैं और सूप और शोरबा में जोड सकते हैं।

गेहूं का ब्रेड, होल व्हीट ब्रेड चुनने का सुझाव (suggestions to choose whole wheat bread, gehun ka bread)


• हमेशा ताज़ा गेहूं का ब्रेड खरीदें; क्रस्ट के रुप और ब्रेड के खुशबु देखकर इसके ताज़गी की जांच कर सकते हैं।
• कभी भी उत्पादन और समापन के दिनांक और पैकिंग की जांच किये बिना ना खरीदें।

गेहूं का ब्रेड, होल व्हीट ब्रेड के उपयोग रसोई में (uses of whole wheat bread, gehun ka bread in Indian cooking)


• गेहूं के ब्रेड लोफ के व्यंजन अनुसार, पतले या लंबे स्लाईस बना सकते हैं। स्लाईस करते समय, आप क्रस्ट को निकला सकते हैं या रख सकते हैं।
• स्लाईस किये हुए गेहूं के ब्रेड लोफ का प्रयोग अकसर विबिन्न भरवां मिश्रण के साथ सेन्डविच बनाने के लिए किया जा सकता है, जैसे सब्ज़ीयाँ, पतला लंबा कटा हुआ चिकन, सलामी, चीज़, जैम आदि। इसे विभिन्न तरीके से बनाया जा सकता हैः टोस्टड या ग्रिल्ड, ओपन टोस्ट, हॉट डॉग रोल, सबमरीन आदि।
• गेहूं का ब्रेड सूप के साथ परोसने के लिए उपयुक्त है। यह ब्रेड अकसर ब्रेड रोल, ग्रीसनी स्टिक आदि के रुप में होते हैं।
• गेहूं के ब्रेड को जब बन के रुप में बेक किया जाता है, इन्हें बर्गर का बेस बनाया जा सकता है। बर्गर बन पर अकसर खस-खस या तिल छिड़के जाते हैं।
• गेहूं के ब्रेड के कुछ स्लाईस पर मक्ख़न लगायें और प्रत्येक स्लाईस पर लहसुन छिड़के। टुकड़ो में काटकर अवन में करारा होने तक बेक कर लें। इसे सूप के क्रूटोन्स् के रुप में प्रयोग करें। इनमें हर्ब, चीज़ आदि का स्वाद भी भरा जा सकता है।
• मीठी मकई, खूंभ जैसी सब्ज़ीयों को हर्ब और चीज़ मिलाकर क्रीमी सॉस के सात पकाकर, इस मिश्रण को ब्रेड के आटे में भरकर बेक किया जा सकता है- जो एक बेहतरीन नाश्ता बनाता है।
• आप ब्रेड के आटे को पतला बेलकर इसके उपर खस-खस या तिल आदि छिड़क सकते हैं। इसे पतले स्ट्रिप या त्रिकोन आकार में काटकर, सुनहरा और करारा होने तक बेक कर सकते हैं। इन स्ट्रिप को क्रेकर के रुप में या सलाद को सजाने के लिए प्रयोग कर सकते हैं।

गेहूं का ब्रेड, होल व्हीट ब्रेड संग्रह करने के तरीके


• ताज़े गेहूं से बनी ब्रेड को खाना बेहतर होता है। फिर भी, अगर आप इसे लंबे समय तक रखना चाहें तो इसे प्लास्टिक फिल्म में लपेटकर ब्रेड बॉक्स् में रखें या फ्रिज में रखें। इसे जितनी जल्दी हो सके प्रयोग कर लें।
• इसके अलावा, आप इसे ब्रेड क्रम्ब्स् में पीसकर या टुकड़ों में काटकर ब्रेड क्रुटोन्स् बनाकर, कुछ दिन तक हवा बंद डब्बे में रख सकते हैं।
• गरम और नमी वाली जगह रखी हुई ब्रेड में फफूंद लग सकती है। इसलिए ऐसे वातावरण में ब्रेड ना रखें।

गेहूं का ब्रेड, होल व्हीट ब्रेड के फायदे, स्वास्थ्य विषयक (benefits of whole wheat bread, gehun ka bread in Hindi)

खैर, ब्रेड का उपयोग ज्ञातिय और व्यक्तिपरक है। रिफाइंड मैदे से बने सफेद ब्रेड की तुलना में गेहूं का ब्रेड थोडा बेहतर विकल्प है। मैदा-आधारित ब्रेड की तुलना में, जिसका निश्चित रूप से सेवन नहीं करना चाहिए, गेहूं का ब्रेड जो पूरी तरह से गेहूं से बना होता है वह एक स्वस्थ विकल्प है। गेहूं का ब्रेड में सफेद ब्रेड की तुलना में अधिक फाइबर होता है, जो रक्त शर्करा और रक्त कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बेहतर बनाए रखने में मदद करता है। हालाँकि ब्रेड की दोनों किस्में अपने कार्ब गणना में लगभग बराबर हैं। तो कोई भी ब्रेड मॉडरेशन में खाना महत्वपूर्ण है।



Try Recipes using गेहूं का ब्रेड ( Whole Wheat Bread )


More recipes with this ingredient....

गेहूं का ब्रेड (30 recipes), टोस्डेड गेहूं के ब्रेड की स्लाईस (9 recipes)