This category has been viewed 752 times
 Last Updated : May 04,2019


 त्योहार और दावत के व्यंजन > अलग-अलग महीनों में पकाने के लिए भारतीय व्यंजन > अगस्त महिना में खाना पकाने के लिए

9 recipes

Foods to cook in August - Read In English
ઑગસ્ટ મહિનામાં બનતી રેસિપિ - ગુજરાતી માં વાંચો (Foods to cook in August recipes in Gujarati)
List of Top Fruits and Vegetables in season for August in India

अगस्त महिना के् लिए सर्वोच्च भारतीय फलों और सब्जियों की सूची

1. Plums आलूबुखारे
2. Peaches पीच / आडू
3. Cucumber ककड़ी
4. Capsicum शिमला मिर्च



एक अद्भूत मिठाई जो मिनटों में तैयार की जा सकती है। इसे बहुत अग्रिम तैयारी की आवश्यकता नहीं है और बहुत ही थोडे समय के अतंर में बनाई जा सकती है। रवा शीरा परंपरागत है पर अपनी सादगी में अभी तक आधुनिक है और इसलिए असल में सबका प्रिय भी है। यह शीरा
कंद, आलू और क्रश की हुई मूंगफली से बने करारे और स्वादिष्ट पकौड़े, यह कंद आलू पकौड़ा ठंड के दिनों में मसाला चाय के साथ बेहद अच्छे लगते हैं। इन करारे कंद पकौड़ो में मूंगफली ना केवल मज़ेदार स्वाद प्रदान करते हैं, लेकिन साथ ही इनका रुप और भी करारा बनाते हैं। सबसे अच्छी बात यह है कि इन स्वादिष्ट पक ....
गणेश चतूर्थी का पर्व है! समय आ गया है विभिन्न प्रकार के मोदक बनाने का, जो गणेश जी के पसंदिदा है। यह मोदक की एक व्यंजन विधी है जहाँ चावल से आटे से बने मोदक को गुड़ और नारियल के मिश्रण से भरकर बनाया गया है। जहाँ यह व्यंजन
कहते हैं कि एक अच्छी पुरन पोली बनाना आसान कार्य नहीं है और काफी अभ्यास के बाद ही इसे बनाया जा सकता है…देखा गया तो यह एक कला है! महाराष्ट्रियन पपुरन पोली के अनुकुल, जिनमें चना दाल का प्रयोग किया जाता है, गुजराती विकल्प में तुवर दाल का प्रयोग किया जाता है। इसके अनोखे स्वाद और खुशबु का श्रेय इसमें प्रय ....
बटाट वड़ा एक और गुजराती व्यंजन है जिसने विश्व भर में मशहुर होने के लिए सभी भूगोलिक और पारंपरिक हदें पार दी है! यह और कुछ नहीं लेकिन बेसन के घोल मे लपेटे हुए आलू के करारे फ्रिटर्स हैं, जिनका सभी कभी-कभी मज़ा लेते हैं…वहीं कुछ इसे रोज़ के खाने का भाग बनाते हैं! ऐसे लोगों के लिए, जिन्हें बटाटा वड़ा रोज ....
महाराष्ट्र के इस आम व्यंजन को एक मनोरंजक मोड़ दिया गया है। मैनें इस व्यंजन को राजगीरे का आटा और कसे हुए आलू के मेल से बनाया है। एक हल्के-फुल्के और पौष्टिक व्यंजन के लिये इसे हरी चटनी और ताज़े दही के साथ परोसें।
परोसने में आसान और स्वाद से भरपुर, यहाँ हम पेश करते हैं मधहुर राजस्थानी चुरमा, लड्डू के रुप में! पारंपरिक चुरमा, जिसे गुड़ से मीठा बनाया जाता है और नारियल और तिल के स्वाद से सजाया जाता है, इन्हें लड्डू के रुप में बनाकर संग्रह करना और परोसना आसान होता है। बेहतरीक रुप और स्वाद के लिए, दरदरे पीसे हुए ग ....
यह एक ऐसा दक्षिण भारतीय व्यंजन है जिसे किसी परिचय की आवशआयक्ता नहीं है, और यह सभी में से सबसे ज़्यादा बहुउपयोगी है। हर परिवार अलग-अलग माप में सामग्री का प्रयोग करता है। आप अपनी पसंद अनुसार भी सामग्री के माप को बदल सकते हैं। साम्भर में (या किसी भी कूज़ाम्बू में) मिलाई गई सब्ज़ीयों को थान कहते हैं। वि ....
त्यौहारों के समय सबसे पहले खाने में पाल पायसम की चर्चा की जाती है! पारंपरिक रुप से दूध को धिमी आँच पर लंबे समय तक उबालना चाहिए जिससे वह गाढ़ा हो जाये और स्वाद मलाईदार हो जाये। इसके अलावा, इसे झटपट बनाने के लिए आप कन्डेन्स्ड मिल्क का प्रयोघ भी कर सकते हैं।

Top Recipes

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन