This category has been viewed 786 times
 Last Updated : Jul 16,2019


 त्योहार और दावत के व्यंजन > अलग-अलग महीनों में पकाने के लिए भारतीय व्यंजन > जनवरी महिना में पकाने के लिए भारतीय व्यंजन:

38 recipes

જાન્યુઆરીમાં બનતી ભારતીય રેસિપી - ગુજરાતી માં વાંચો (Indian Foods to cook in January recipes in Gujarati)

जनवरी महिना के् लिए सर्वोच्च भारतीय फलों और सब्जियों की सूची

1. Strawberry स्ट्रॉबेरी
2. Surti Papadi सुरती पापड़ी
3. Carrots गाजर
4. Kand called Purple Yam सूरन
5. Guava called Peru अमरूद / पेरू
6. Sweet Lime called Mosambi मौसंबी
7. Orange called Narangi संतरे / नारंगी
8. Fresh Green Garlicताजा हरा लहसून
9. Amla अमला
10. Black Grapes काले अंगूर
11. Pomegranate अनार
12. Ponkh (Hurda) पोंक
13. Chawli leaves चवली के पत्ते
14. Grapefruit चकोतरा
15. Figs अंजीर



इन्हें गरमा गरम घी के साथ परोसने पर यह बेहद स्वादिष्ट लगते हैं…इन सादी रोटी को हल्का सा लहसुन एक नया रुप प्रदान करता है…बनाने में बेहद आसान और इसे ज़रुर बनाकर देखें!
कलाकंद एक लोकप्रिय और पसंदीदा मिठाई है जो समय की हर परीक्षा पर खरा उतरा है। उत्तर भारत की यह उत्पत्ती आज समस्त भारत के साथ-साथ दुनिया भर में भी प्रसिद्ध है, क्योंकि आज कल विश्व भर की भारतीय दुकानों में मोहक और स्वादिष्ट मिठाइयाँ मिलना असामान्य नहीं है। यह झटपट कलाकंद आप अपने ही रसोइघर में बहुत ही ....
धनिया और ताज़े हरे लहसुन का यह अनोखा मेल इस कोरीयेन्डर ग्रीन गार्लिक चटनी को स्वादभरा, रंग-बिरंगा और पौष्टिक बनाता है! हालांकि हरा लहसुन मौसमी होता है, इसे इस चटनी में ज़रुर मिलाऐं क्योंकि यह लहसुन के लाभ को दुगना कर देता है। इस लो-कॅल चटनी को पहले बनाकर रखें और फ्रिज में रखें।
झटपट बनने वाले आईस-क्रीम पाउडर और बाज़ार से लाई गयी तैयार आईस-क्रीम में अकसर गेहूं का ग्लूटन होता है, इसलिए सबसे अच्छा सुझाव है कि आप ताज़ी सामग्री से घर पर ही आईस-क्रीम बनाऐं। यह बेहद क्रिमी स्ट्रॉबेरी आईस-क्रीम, दोनो बच्चे और बढ़ो को ज़रुर पसंद आएगी!
जहाँ रायता को अकसर सब्ज़ीयों से बनाया जाता है, आपने सेब और संतरे जैसे फलों से इसे बनाकर कभी देखा होगा। लेकिन, क्या आपने कभी स्ट्रॉबेरी एण्ड ब्लैक ग्रेप रायता बनाने के बारे में सोचा है? यह कितना शानदार रायता है, इस बात पर भरोसा करने के लिए आपको इसे बनाकर देखना होगा! फलों का यह अनोखा मेल एक बेहद स्वाद ....
कंद, आलू और क्रश की हुई मूंगफली से बने करारे और स्वादिष्ट पकौड़े, यह कंद आलू पकौड़ा ठंड के दिनों में मसाला चाय के साथ बेहद अच्छे लगते हैं। इन करारे कंद पकौड़ो में मूंगफली ना केवल मज़ेदार स्वाद प्रदान करते हैं, लेकिन साथ ही इनका रुप और भी करारा बनाते हैं। सबसे अच्छी बात यह है कि इन स्वादिष्ट पक ....
गाजर का हलवा एक ऐसा पारंपरिक व्यंजन है जो भारतीयो की तरह हर पीढ़ी को खुश करता आया है। खोया का उपयोग करने के बजाय, मैंने इस हलवे के मलाइदार स्वाद और बनावट को बनाए रखने के लिए गाजर को दूध में पकाया है जिससे खोया बनाने का समय भी बच गया। और बस कुछ ही मिनटों में गाजर का हलवा (झट पट गाजर का हलवा) तैयार ....
एक आसान सी बनने वाली स्वादिष्ट चटनी, जिसे आपका बार-बार खाने का मन करेगा!
यह स्ट्रॉबेरी प्रालाइन केक एक मज़ेदार डिज़र्ट है जिसमें संतरे के रस में डुबोए हुए नाईस बिस्कुट के उपर व्हीप्ड क्रिम की परत और उपर से
उपवास के दिनों में बनते ककड़ी रायते को छोड़कर कुछ नया सोचें। अगर हम उबले और मसले कन्द का रायता बनायें तो? आप इस व्यंजन को खाते रह जायेंगे।
इस आसान सी लहसुन चटनी में टमाटर और हरी पयाज़ मिलाकर इसे बदलकर बनाया गया है। भरपुर मात्रा में विटामीन प्रदान करने के साथ-साथ, इस गर्लिक टमॅटो चटनी को टमाटर ज़रुरी खट्टपन भी प्रदान करते हैं, वहीं धनिया और हरी प्याज़ के पत्ते करारापन प्रदान करते हैं। साथ ही लहसुन हृदय रोग, साँस संबंधित रोग, मधुमेह और उ ....
स्ट्रॉबेरी योगहर्ट, सादे सौम्य दही को अनोखा रुप! रसभरी स्ट्रॉबेरी के साथ, इसका परिणाम इतना क्रिमी होता है कि आपको यह पता ही नहीं चलेगा कि यह लो-कॅल व्यंजन है। काम के बाद कुछ मीठा खाने के लिए पर्याप्त, जो सभी वजन के प्रति सचक को पसंद आएगा। पौषण और स्वाद के पर्याप्त मेल के लिए इसे
अकसर मधुमेह से पीड़ीत के लिए चावल मना होते हैं, क्योंकि यह रक्त में शक्करा की मात्रा को तेज़ी से बढ़ाते हैं। सफेद चावल के उच्च ग्लाईसमिक ईन्डेक्स् के असर को विरुद्ध करने के लिए, इन्हें रेशांक भरपुर ब्राउन राईस से बदलें और साथ ही लहसुन और मेथी जैसे मधुमेह के लाभदायक सामग्री के साथ-साथ रेशांक भरपुर सब ....
एक ऐसा रसम जो कहसुन के गुणों से भरा हुआ है, यह पाचन के साथ-साथ स्वस्थ के लिए भी लाभदायक होता है। इस रसम को कम से कम 15 दिन में एक बार ज़रुर बनाऐं और इसके पौषण लाभ के साथ इसके स्वाद का मज़ा लें।
लोग अकसर सब्ज़ीयों की पौष्टिक्ता को मैदा से बने रैप में लपेटकर उसकी पौष्टिक्ता को अनदेखा कर देते हैँ। इस रैप के लिए, क्यों ना हम बची हुई चपाती का प्रयोग करें-जैसा इस व्यंजन में दिया गया है? बचे हुए खाने को प्रयोग करने का यह एक अनोखा तरीका है जो पौषण ततव भी प्रदान करते हैं। अगर आपके पास गार्लिक-टमॅटो ....

Top Recipes

Goto Page: 1 2 3 

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन