चेड्डार चीज़ ( Cheddar cheese )

चेड्डार चीज़ ग्लॉसरी |स्वास्थ्य के लिए लाभ, पोषण संबंधी जानकारी + चेड्डार चीज़ की रेसिपी( Glossary & Recipes with Cheddar Cheese in Hindi) Tarladalal.com Viewed 4324 times

वर्णन
चेड्डार चीज़, पहले सिर्फ सोमेरसेट, इंगलेण्ड में बनता था और इसलिये इसका नाम चेड्डार इस गाँव पर रखा गया था, अब यह सारे विश्व में बनता है। यह तेज़ स्वाद वाला चीज़ अपने अनोखे स्वाद के लिये मशहूर है जो वक्त के साथ और भी तेज़ होता जाता है। चेड्डार चीज़ कि खासीयत का के वर्णन के लिये कुछ शब्द हैः सौम्य, मध्य, तेज़, स्वादिष्ट, तीक्ष, बहुत तीक्ष, प्रौढ़, पुराना या विशिष्ट।

यह चीज़ चेड्डारिंग नामक तकनीक से बनता है, जिसमे दही को नमक के साथ गूंथा जाता है। उसके बाद काटकर सारा पानी छानकर एक तरफ रखकर घुमाया जाता है।

हल्के पीले से हल्का सफेद, गहरे नारंगी से सफेद, चेड्डार चीज़ के विभीन्न रंग होते है (एन्नेटो जैसे पदार्थो कि वजह से) लेकिन जब इसके रुप और स्वाद कि बात अती है तो इसकि खासीयत है इस चीज़ के दरदरे कण, जो मूँह मे जाते ही पिघल जाते है। चेड्डार मे सबसे तेज़ पुराना या विशिष्ट होता है। यह १५ महीनो तक प्रौढ़ किये जाते है जिससे इसका तेज़ स्वाद उभरकर आता है।

कटा हुआ चेड्डार चीज़ (chopped cheddar cheese)
चीज़ को काटने के बोर्ड पर रखकर छोटे टुकड़ो मे काट ले। व्यंजन के अनुसार चीज़ को बारीक, छोटे-बड़े या बड़े टुकड़ो मे काटा जा सकता है।
कसा हुआ चेड्डार चीज़ (grated cheddar cheese)
इसके लिये चीज़ के किसनी से कीसना पड़ता है। कसा हुआ चीज़ मुलायम होता है और बेक्ड व्यंजन जैसे औग्रेटिन या कैसेरोलस्। आवश्यक्ता अनुसार मोटा या बारीक कीस लें।
शार्प चेड्डार चीज़ (sharp cheddar cheese)
यह एक पुराना चीज़ होता है, लगभग ६-९ महीने पुराना। वही एक्सट्रा शार्प चेड्डार चीज़ १.५ से २ साल पुराना होता है। चीज़ जितना शार्प होगा, उसका स्वाद उतना ही तीखा और मिश्रित होगा। व्यंजन के अनुसार इसे काटा, कसा या गोल टुकड़ो मे काटा जा सकता है।
स्लाईस्ड चेड्डार चीज़ (sliced cheddar cheese)
आप चीज़ को स्लाइसर मे डालकर काट सकते है या तेज़ धार वाले वाकु का प्रयोग कर, व्यंजन के अनुसा, मोटे या पतले गोल टुकड़ो मे काट सकते है।

चुनने के सुझाव
• चेड्डार का स्वाद उसके निकास और प्रौढ़ता के समय पर निर्भर करता है।
• जैसे जैसे चेड्डार प्रौढ़ होता जाता है, उसमे नमी कम होने लगती है और उसका रुप सूखा और दरदरा होने लगता है।
• इसकि तीक्षता १२ और १८ महीने ( बहुत पुराना चीज़) तक तक सुस्पष्ट होने लगती है।
• प्रौढ़ होने का सर्वोत्कृष्ट समय ५-६ साल है; तथापि ३ साल पुराना चीज़ ठिक होता है और ५ साल पुराना चीज़ खास मौको के लिये संभालकर रखा जा सकता है।
• चेड्डार चीज़ बहुत ज्यादा दरदरा या सूखा नही होना चाहिए और रंग पूर्णतया समान होना चाहिए।
• समापन कि दिनाँक जाँच कर किसी भी प्रकार का रंग मे बदलाव या फफूंद के दाग को ध्यान से जाँचे।
• एैसे विकल्प के चुने जो प्रति आउन्स ५ ग्राम से ज्यदा वसा प्रदान ना करे।

रसोई में उपयोग
• चीज़, खासतौर पर चैड्डार चीज़ का आनंद अपने आप मे ही लिया जा सकता है।
• इस चीज़ का आनंद के लिये इसे क्रैकर के साथ या सूप मे डालकर, सॉसस्, डिप्स और पिघलाकर नाश्तो जैसे मैश्ड पटैटोस्, नाचेस, मॅक एण्ड चीज़ और शैफर्ड पाइ पर डालकर खाया जा सकता है।
• चेड्डार चीज़ बॉल्स और पौपर्स भले ही आपके लिये पौष्टिक ना हो लेकिन बेहद स्वादिष्ट होते है।
• सेण्डविच, ऑमलेट, पिज्जा, सूफले, ऑ ग्रेटिन और फोन्डयू चेड्डार के साथ स्वादिष्ट लगते है।
• सेब, नाश्पति और खरबूजे जैसे फल चैड्डार के साथ खूबसुरती से जजते है।

संग्रह करने के तरीके
• सभी प्रकार के चीज़ को अच्छी तरह लपेटकर फ्रिज के सबसे गरम कोने मे रखना चाहिए। (फ्रिज का दरवाज़ा ही अक्सर सबसे गरम कोना होता है)।
• चीज़ के संग्रहण का समय का संबसध उसकी नमी कि मात्रा से होता है, इसलिये, चीज़ जितना नरम होगा, उसके संग्रहण का समय उतना ही कम होगा।
• साधारण तौर पर, ठोस और अर्ध ठोस चीज़ जैसे चैड्डार को २ हफ्ते तक रखा जा सकता है।

स्वास्थ्य विषयक
• भले ही किसी भी प्रकार के दूध का प्रयोग किया हो, चैड्डार चीज़ कॅलशियम के साथ साथ, दूध मे प्रस्तूत पौष्टिक आहारो का संकेन्द्रित स्रोत है।
• कम वसा कि मात्रा वाले चीज़ कि एक पोषण संबन्धित खामी है कि उसमे वसा भरपूर चीज़ के मुकाबले सोडियम कि मात्रा अधिक होती है।
• चैड्डार मे अन्य पौष्टिक तत्वो कि मात्रा भी ज्यादा होती है, जैसे फौसफोरस, ज़िन्क, राइबोफ्लेविन, विटामीन बी १२ और विटामीन ए।
• यह उत्तम प्रकार के प्रोटीन का अच्छा स्रोत है।

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन