सेंधा नमक ( Rock salt )

सेंधा नमक क्या है ? ग्लॉसरी | इसका उपयोग | स्वास्थ्य के लिए लाभ | रेसिपी | Viewed 12944 times

सेंधा नमक क्या है?


सेँधा नमक और कुछ नही केवल सोडीयम क्लोराईड का मिनरल रुप हलाईट है। यह अक्सर बेरंग या पीले रचग का होता है, लेकिन कभी-कभी हल्के नीले रंग, गहरे नीले रंग या गुलाबी रंग का भी हो सकता है, जो इसमे प्रस्तुत अशुद्ध तत्व पर निर्भर करता है।

नमक के पहाड़ से उत्तपन्न हुआ सेंधा नमक तलछटी के पास बचे मिनरल मे मिलता है। इसका मतलब यह है कि यह पानी मे घुलने वाला मिनरल तत्व है जो तालाब, समुद्र और पानी के जलीय घोल के सूखने पर बनता है। नमक कि परत सौ मीटर तक मोटी हो सकती है और काफी फैली हुई हो सकती है। व्यावसायिक रुप से खदान से निकले सेंधा नमक को आम व्यक्ति के लिये बनाया जाता है।
इसके खने मे प्रयोग और चिकित्सक प्रयोग के अलावा, ठंड के मौसम मे सेँधा नमक सड़को पर छिड़का जाता है, जिससे पानी के बर्फ बनने का तापमान कम होता है और सड़को पर बर्फ नही जमती।

सेंधा नमक चुनने का सुझाव (suggestions to choose rock salt, sendha namak)


• सेंधा नमक के कण बड़े और बिना छना हुआ होता है। यह सुझाव किया जाता है कि पहचान और नामी दुकान से साफ किया हुआ सेंधा नमक खरीदना चाहिए, क्योंकि सेंधा नमक मे अशुद्ध पदार्थ अक्सर खायने योग्य नही होते।
• क्योकि भारत मे सेंधा नमक का उत्तपादन कम होता है, इस प्रकार का नमक काफी महँगा मिलता है। इसका दाम आम नमक से चार गुना ज़्यादा होता है।
• क्योंकि यह स्वाद मे काफी फीका होता है, आम नमक जैसे स्वाद के लिये इस नमक को ज़्यादा मात्रा मे प्रयोग करना पड़ता है। इसलिये, इसका अधिक दाम और साथ ही अधिक मात्रा मे प्रयोग करने कि वजह से, यह ज़्यादा किफ़ायती नही होता।
• हालाँकि यह बाज़ार मे आसानी से मिलता है, लेकिन अधिक्तर मात्रा में इसका प्रयोग उपवास मे किया जाता है।

सेंधा नमक के उपयोग रसोई में (uses of rock salt, sendha namak in Indian cooking)



• भारतीय पाकशैली में सेँधा नमका का मसाले और खाने हो संग्रह करने के रुप मे प्रयोग किया जाता है, खासतौर पर उपवास के दिनों में।
• चाट, चटनी, रायता और अन्य भारतय नमकीन नाश्ते और सब्ज़ी को यह स्वाद प्रदान करता है।
• इसके दरदरे रुप कि वजह से इसे पकड़कर खाने मे पकाने से पुर्व या बाद मे डालने मे मदद करता है।
• घर पर बनाने वाले आईस-क्रीम के व्यंजन विधी में अक्सर आईस-क्रीम के मिश्रण से भरे बर्तन को ढ़कने वाले बर्फ मे सेंधा नमक मिलाने का सुझाव दिया जाता है। नमक बर्फ को पिघलने मे मदद करता है, जिससे नमक और पानी का मिश्रण कम तापमान पर जमता है। इससे आईसृक्रीम जल्दी जमती है।
• सेंधा नमक का आयुर्वेद चिकित्सा मे भी प्रयोग किया जाता है।

सेंधा नमक संग्रह करने के तरीके 


• सेंधा नमक को हवा-बंद डब्बे मे रखें, वरना वह जम जाता है।

सेंधा नमक के फायदे, स्वास्थ्य विषयक (benefits of rock salt, sendha namak in Hindi)

सेंधा नमक कम संसाधित होता है और इसलिए इसमें कुछ पोषक तत्व जैसे पोटेशियम, जिंक, मैग्नीशियम आदि हो सकते हैं। आयुर्वेद में इसका उपयोग एक रेचक और पाचन सहायता के रूप में किया जाता है। कुछ अध्ययनों से यह भी पता चला है कि यह सामान्य समुद्री नमक के विपरीत, यह रक्तचाप में वृद्धि नहीं करता है। गले की खराश के लिए सेंधा नमक के पानी से गरारे करना भी एक सामान्य उपाय है। पर, सेंधा नमक आयोडीन से रहित हो सकता है, जो टेबल नमक में पाया जाता है। आयोडीन एक महत्वपूर्ण पोषक तत्व है जो थायरॉयड फ़ंक्शन और चयापचय के लिए आवश्यक है। इसके अलावा हम किसी भी स्वास्थ्य जटिलताओं से बचने के लिए सीमित मात्रा में सेंधा नमक का सेवन करने की सलाह देते हैं। इसके स्वास्थ्य लाभों को साबित करने के लिए और अधिक अध्ययन अभी भी आवश्यक हैं। 

Try Recipes using सेंधा नमक ( Rock Salt )


More recipes with this ingredient....

सेंधा नमक (24 recipes)