This category has been viewed 1081 times
 Last Updated : Jul 18,2017


  >



GUJARATI INTL - Read In English

Top Recipes

जहाँ खिचड़ी का नाम सुनते ही हमें घर पर बने सादे खाने की याद आती है, यह सादी खिचड़ी का एक शानदार रुप है।रोज़ प्रयोग होने वाले मसालों से बने दाल-चावल के मेल के उपर आलू की स्वादिष्ट सब्ज़ी की परत और तड़के लगे दही को डालकर इसे बनाया गया है। गरमा गरम परोसने पर, यह बादशाही खिचड़ी एक ऐसा खाना बनाती है को राजा को परोसने के लिए पर्याप्त हो। हाँ, यह देखना मज़ेदार है कि इस व्यंजन में आसानी से मिलने वाली सामग्री का प्रयोग किया गया है और इसे बनाना भी बेहद आसान है!
मकई नी खिचड़ी एक बेहद स्वादिष्ट व्यंजन है जिसे नरम मकई से बनाया गया है। बिना किसी शंका के मकई अपने आप में ही बेहद स्वादिष्ट सामग्री है! लेकिन, मसालों का सोचा-समझा चुनाव मकई के साथ मिलकर इस व्यंजन को और भी स्वादिष्ट बनाता है, जिसे आप नाश्ते के रुप में या रात में खाने में सब्ज़ी के साथ परोसा जा सकता है। इस व्यंजन की सबसे खास बात यह है कि इसमें शक्कर, नींबू का रस और नमक जैसे ज़रुरी सामग्री का संतुलित मेल है- इसलिए इस बात पर बहुत ध्यान दें।
जैसा इसका नाम है, यह कड़ी भाटीया समाज का मूल है। यह एक मीठा-खट्टा विकल्प है जिसे तुवर दाल के पानी, दही और सब्ज़ीयों से बनाया जाता है। सामग्री का यह मज़ेदार मेल इसे स्वाद और खुशबु के मामले में भिन्न बनाता है। आप इस व्यंजन में स्लाईस्ड आलू भी मिला सकते हैं।
अगर आपके पास ढ़ोकले तैयार हैं, तो इस स्वादिष्ट संपूर्ण व्यंजन को झटपट बनाया जा सकता है! रसावाला ढ़ोकला और कुछ नही लेकिन मीठे और तीखे रस (पतला सॉस) में भिगोए हुए खमन ढ़ोकले हैं। ढ़ोकले को रसे में परोसने के तुरंत पहले डालकर धिमी आँच पर उबाल लें, जिससे इस व्यंजन को पर्याप्त तरह से बनाया जा सके और आप इसके स्वाद का मज़ा ले सके।
अमिरी खमन और कुछ नहीं लेकिन एक तीखा चटपटा चाय के साथ परोसने के लिए नाश्ता है, जिसे चूरे किये हुए खमन ढ़ोकले में लहसुन और अनार दाना और नारियल का तड़का लगाकर बनाया जाता है। हम यह भी कह सकते हैं कि इस व्यंजन का उत्पादन बचे हुए खमन ढ़ोकलो को प्रयोग करने के लिए किया गया होगा! सेव से सजाकर इस झटपट बनने वाले नाश्ते के अनोखे स्वाद का मज़ा लें। जिन्हें लहसुन पसंद ना हो, वह ना डालें।
इस सदैव पसंदिदा व्यंजन को तिल और ज़ीरे के स्वाद से भरपुर बनाया गया है। इस व्यंजन को फराली बनाने के लिये बेसन को सिंघाड़े के आटे से बदला गया है।

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन