This category has been viewed 28221 times
 Last Updated : Sep 11,2019


 बच्चों के लिए > माँ का दूध छुडाने के समय बच्चों का आहार (8 से 9 महीने)

16 recipes

माँ का दूध छुडाने के समय बच्चों का आहार , 8 से 9 महीने: Recipes for Weaning in Hindi



यह एक बहुत ही रंग-बिरंगा सूप है और शुरुआत में आपके शिशु के बीप में बहुत से दाग लगने वाले हैं। गाजर विटामीन ए प्रदान करता है जो आपके बच्चे की तवचा के लिए अच्छा होता है और चकुंदर मीठास, रंग और रेशांक प्रदान करता है। नीचे दिये गए अन्य विकल्प बनाकर देखें क्योंकि "विभिन्नता ज़िन्दगी मज़ेदार बनाती है"। म ....
आपके शिशु के लिए यह एक और सूप है जो 4 सब्ज़ीयों का मेल है। फूलगोभी, लौकी, गाजर और टमाटर। टमाटर आपके शिशु के आहार में खट्टा-मीठा स्वाद प्रदान करेगा। मैंने यहाँ दो सब्ज़ीयों को मिलाकर शुरुआत की है और इस सूप में अन्य सब्ज़ीयाँ मिलायी है। इस बात का ध्यान रखें कि आपने यह सुनिश्चित किया है कि आपके बच्चे क ....
यह खजूर क्रीम चीज़ आपके बच्चे के दिना भर की कॅल्शियम की ज़रुरत को पुरा करता है, कयोंकि अकदर 7 महीने की उम्र तक के बच्चों को दूध कम पसंद आता है। यह व्यंजन आपके बच्चे की क़ल्शियम के दिन भर की ज़रुरत को लगभग पुरा करने के साथ-साथ विटामीन ए की ज़रुरत को भी पुरा करता है।
ज्वार और रागी जैसे अनाज का यह मेल आपके बच्चे के लिए इस समय एक संपूर्ण और पेट भरने वाले पॉरिज का अच्छा विकल्प है क्योंकि अब वह तेज़ी से बढ़ने लगी है और उसकी भूख भी बढ़ने लगी है। यह उसका पेट लंबे समय तक भरा रखने में मदद करेगा। खजूर इस पॉरिज को मीठा बनाता है और साथ ही भरपुर मात्रा में लौह और रेशांक प्र ....
यह संपूर्ण पॉरिज ओट्स, सेब और दूध से बना है जिसे आपके बच्चे की 6 महीने की उम्र के बाउसे सुबह के नाश्ते या मीठे व्यंजन के रुप में परोस सकते हैं। दूध कॅल्शियम का अच्छा स्रोत है, जो आपके बच्चे की बढ़ती हड्डीयाँ और दाँतों के लिए बेहद ज़रुरी होता है। ओट्स ऊर्जा, प्रोटीन और रेशांक से भरपुर होता है।
यह स्वादिष्ट केले और पपीते को मिलाकर बनी प्यूरी भी आपके बच्चे के लिए पौष्टिक है। केला ऊर्जा से भरपुर होता है और इसलिए यह बढ़ते बच्चों के लिए पौष्टिक माना जाता है। पपीते से मिला रेशांक पाचन में मदद करता है।
फलों से भरा आहार जो बच्चों को ज़रुर पसंद आयेगा। यह व्यंजन खाने से आपके बच्चे को खाना निगलने से पहले चबाने की आदत हो जायेगी। दाँत आने से पहले भी अकसर बच्चे बिस्कुट चबाते हैं। इस व्यंजन में एक बिस्कुट डाला गया है जो इस व्यंजन को करारापन प्रदान करता है और साथ ही आपके बच्चे को जाना-पहचाना स्वाद प्रदान ....
अन्य फलों की तुलना में स्ट्रॉबेरी का स्वाद ज़्यादा तेज़ होता है, इसलिए इसके स्वाद को संतुलित बनाने के लिए सेब जैसे सौम्य फल का प्रयोग करें। दूध कॅलशियम प्रदान करता है और स्ट्रॉबेरी विटामीन सी प्रदान करते हैं को आपके बच्चे के प्रतिरक्षी तत्र को मज़बुत करने के लिए ज़रुरी होता है। आप इसमें सेब की जगह क ....
आपके नन्हे शिशु को यह विटामीन ए और सी भरपुर पपीता और आम का नींबू के रस के साथ का यह मेल ज़रुर पसंद आयेगा। इस पपाया एण्ड मैन्गो पयूरी का स्वाद खट्टा मीठा है।
दुध छुड़ाने के बाद खाने की शुरुआत में अकसर उबले और मसले हुए चावल खिलाने का सुझाव दिया जाता है। यह पचाने में आसान होते है और साथ ही फलों का रस जैसे दुसरे आहार की तुलना में ज़्यादा स्वस्थ और पौषटिक होते है, क्योंकि अन्य खाद्य पदार्थ में किटाणूओं के पनपने की आशंका ज़्यादा होती है। पके हुए चावल को दूध ( ....
क्योंकि अब आपकी बच्ची तेज़ी से बढ़ रही है और उसकी भूख भी बढ़ते जा रही है। यह संपूर्ण और पौष्टिक पॉरिज उसका पेट कुछ घंटो के लिए भरा रखेगा। बाजरा प्रोटीन और लौह से भरपुर होता है। इस पॉरिज को मीठा बनाने के लिए खजूर का प्रयोग किया गया है कयोंकि यह ज़रुरी मात्रा में लौह और रेशांक प्रदान करते हैं।
आपके बच्चे की बढ़ती ऊर्जा और प्रोटीन की ज़रुरतों को पुरा करने के लिए दाल मैश एक बेहतरीन खाना है। सादे दाल मैश के साथ शुरुआत कर आप धीरे-धीरे उसमें सब्ज़ीयाँ मिला सकते हैं। जब आपके बच्चे की उम्र 6 माह से ज़्यादा हो जाये, आप इसमें थोड़ौ काली मिर्च और नींबू का रस मिलाकर इसके स्वाद को उभार सकते हैं।
चूंकी अब आपके बच्चे की उम्र 6 महीने से ज़्यादा हो गई है, इस गेहूं से बने पास्ता प्युरी को बनाकर देखें। इसमें मिलाई गयी पालक लौह और फोलिक एसिड प्रदान करती है। पनीर इसे और भी स्वादिष्ट बनाने के साथ-साथ बच्चे की हड्डीयों को मज़बुत बनाने के लिए कॅल्शियम प्रदान करता है। यह प्युरी विटामीन ए का अच्छा स्रोत ....
खिचड़ी अपने आप में ही एक संपूर्ण आहार है जो आपके बच्चे के लिए भरपुर मात्रा में ऊर्जा, प्रोटीन और फोलिक एसिड प्रदान करता है। इसमें मिलाया गया गाजर इसे विटामीन ए और रेशांक से भरपुर बनाता है। आपके बच्चे के आहार में हलका मसालेदार खाना शामिल करने का यह एक अच्छा तरीका है।
बहुत से बच्चों को 7 महीने की उम्र तक दूध कम पसंद आने लगता है। उनके कॅलशियम की ज़रुरत को पुरा करने के लिए क्रीम चीज़ (जिसे हम पनीर भी कहते हैं) ऊर्जा, प्रोटीन और कॅलशियम का एक बेहतरीन स्रोत है। साथ ही व्यंजन आपके बच्चे के दिन भर की ज़रुर को पुरा करता है और साथ ही यह विटामीन ए और सी का अच्छा स्रोत है।

Top Recipes

Goto Page: 1 2 

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन