This category has been viewed 6389 times
 Last Updated : Aug 12,2019


 भारतीय स्वस्थ > कैंसर रोगियों के लिए व्यंजन



Cancer Patients - Read In English
કેન્સરના દર્દીઓ માટે પૌષ્ટિક વ્યંજન - ગુજરાતી માં વાંચો (Cancer Patients recipes in Gujarati)


Top Recipes

शानदार! ऐसा है यह सलाद। भुनी हुई शिमला मिर्च और अल्फा-अल्फा स्प्राउट्स के अनोखे मेल के साथ और उससे भी ज़्यादा स्वादिष्ट ड्रेसिंग के साथ, जिसे मूंगफली और नींबू से बनाया गया है, यह सलाद ओमेगा-3 फॅटी एसिड, विटामीन बी1 और बी3 का अच्छा स्रोत है, जो इसे कॅलरी से भरपुर होने के बाद भी पौष्टिक चुनाव बनाता है। रोस्टड कॅप्सिकम एण्ड अल्फा-अल्फा स्प्राउट्स सलाद इन पीनट ड्रेसिंग मे मिलने वाले बी कॉम्प्लेक्स् विटामीन शरीर की रस प्रक्रिया के लिए बेहद ज़रुरी होते हैं।
हमने यह बार-बार सुना है कि अलसी ओमेगा-3 फॅटी एसिडस के बेहतरीन स्रोत होते हैं और खासतौर पर शाकाहरी के लिए यह ज़रुरी होते हैं। लेकिन, हममें से बहुत इस सामग्री को रोज़ के खाने में प्रयोग करने के बारे में सोच में पड़ जाते हैं। जहाँ हम इसे मुखवास, रायता आदि जैसे व्यंजन में प्रयोग करते हैं, यहाँ हमने इस रेशांक, कॅल्शियम और ओमेगा-3 फॅटी एसिड भरपुर सामग्री को अनोखे तरह से करारे हर्बड क्रॅकर बनाने के लिए प्रयोग किया है। इन्हें पुदिना के स्वाद वाले बीटरुट डिप के साथ परोसकर स्वाद और पौषणतत्व को बढ़ाऐं।
चटकीले लाल रंग का और स्वाद से भरा, यह सूप मधुमेह के लिए पर्याप्त है। शिमला मिर्च में विटामीन ए और फोलिक एसिड, एक ऑक्सीकरण तत्व होता है को मुक्त रेडिकल से लड़ने में मदद करता है जो अन्यथा हृदय को हानी पहूँचा सकते हैं और बिमारी का कारण बन सकते हैं। रेशांक से भरपुर ओट्स रक्त में शक्करा की मात्रा कम करने में मदद करता है। दो सामग्री से बना सूप और लहसुन, टमाटर और मसालों के स्वाद से भरा, खाने की शुरुआत करने के लिए बेहतरीन उपाय है और आपके मेहमानों को खाने का ईंतज़ार करने के लिए मजबूर कर देगा।
इन्हें गरमा गरम घी के साथ परोसने पर यह बेहद स्वादिष्ट लगते हैं…इन सादी रोटी को हल्का सा लहसुन एक नया रुप प्रदान करता है…बनाने में बेहद आसान और इसे ज़रुर बनाकर देखें!
गाजर और लाल शिमला मिर्च इनसे बना यह ज्यूस दृष्टि के लिए बेहत अच्छा है। विटामिन c से भरपूर शिमला मिर्च आपकी रोग प्रतिरोध क्षमता बढ़ाता है और तनाव को भी कम करता है।
यह एक अनोखा सलाद है, जिसमें मिले-जुले अंकुरित दानों को टमाटर, मूली, मेथी और कटे हुए हरा धनिया के साथ मिलाया गया है, जिससे आपको पर्याप्त मात्रा में मिले-जुले आहार तत्व प्राप्त होंगे जो आपके रक्त में शक्करा की मात्रा को संतुलित रखने में मदद करते हैं। इस मिक्स्ड स्प्राउट्स सलाद को तड़के से और भी मज़ेदार बनाया गया है, जो इन करारी और रसभरी सब्ज़ीयों के स्वाद को और भी मज़ेदार बनाता है।
आसानी से उपलब्ध होने वाले गाजर, टमाटर और चुकंदर से विटामिन a और फाइबर प्राप्त होता है जो दिन की शुरूवात करने के लिए बहुत उत्तम है। इसके रंग को देख के बच्चे भी इसे विशेष रूप से पसंद करेंगे।
आपमें में बहुत कम लोगो ने ककड़ी के प्रयोग से पेय बनाने के बारे में सोचा होगा! कॅल्शियम भरपुर लो-फॅट दही से बना यह पर्याप्त स्वादिष्ट पेय पुदिने के स्वाद से भरा है। ककड़ी और लो-फॅट दही साथ मिलकर मज़ेदार लो-फॅट कूलर बनाते हैं।
आपके बच्चे की बढ़ती ऊर्जा और प्रोटीन की ज़रुरतों को पुरा करने के लिए दाल मैश एक बेहतरीन खाना है। सादे दाल मैश के साथ शुरुआत कर आप धीरे-धीरे उसमें सब्ज़ीयाँ मिला सकते हैं। जब आपके बच्चे की उम्र 6 माह से ज़्यादा हो जाये, आप इसमें थोड़ौ काली मिर्च और नींबू का रस मिलाकर इसके स्वाद को उभार सकते हैं।
लैट्यूस एक अनदेखा खज़ाना है! बहुत से लोगों यह नहीं पता कि लैट्यूस लौहतत्व का अच्छा स्रोत होता है। यह एक लैट्यूस से बना एक क्रिमी सूप है जिसे बारीक कटी हुई फूलगोभी से गाढ़ा बनाया गया है, जो ना केवल क्रिमी रुप प्रदान करता है, साथ ही लैट्यूस के स्वाद को संतुलित बनाता है। फूलगोभी के प्रयोग से इसमें दूध का प्रयोग भी नहीं करना पड़ता है! कटे हुए प्याज़ और कालीमिर्च इस लौह भरपुर और संपूर्ण लैट्यूस एण्ड कॉलीफ्लॉवर सूप को स्वाद और खुशबु प्रदान करते हैं।

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन