दूध का पाउडर ( Milk powder )

दूध का पाउडर ( Milk Powder ) Glossary | Recipes with दूध का पाउडर ( Milk Powder ) | Tarladalal.com Viewed 32744 times

अन्य नाम
मिल्क पाउडर

वर्णन
दूध का सारा पानी एक प्रक्रिया का प्रयोग कर भाप में बदल दिया जाता है। इससे मिले सफेद पाउडर को विटामीन ए और डी से दृढ़ीकृत कर दूध पाउडर के रुप में बेचा जाता है। दूध से सारा पानी सूखाने का उद्देश्य उसे लंबे समय तक संग्रह कर, उसके पोषण तत्वों को संग्रह कर आसानी से निर्वासन करना होता है। दूध पाउडर बहुत सारे देश का मुख्य उपज है क्योंकि इसे अअसानी से संग्रह किया जा सकता है और पानी मिलाकर दूध में बदला जा सकता है।

चुनने के सुझाव
• विभीन्न प्रकार के उद्योग दूध पाउडर बनाते है जैसे वार्शने भानू कम्पनी प्राईवेट लिमीटेड, अमूल ईन्सटेन्ट फूल क्रीम मिल्क पाउडर…आदि।
• लगभग सभी किराने कि दुकान में आसानी से मिलने वाला दूध पाउडर है एवरीडे मिल्क क्रीमर।
• रिलायन्स फ्रेश में यह खुला भी मिलता है।
• यह अलग-अलग प्रकार के पैकेट में आसानी से मिलता है जैसे छोटे सैशेच या बड़े पैकेट में।
• बाज़ार से खरीदने के दौरान, ध्यान रखें कि दूध पाउडर में किसी भी प्रकार के डल्ले ना हों, जो दूध पाउडर में प्रस्तुत नमी कि वजह से बन सकते है, खासतौर पर बारिश के मौसम में।
• खरीदने पुर्व बनाने और समापन कि दिनाँक ज़रुर जाँच लें।

रसोई में उपयोग
• दूध पाउडर का प्रयोग कर स्वादिष्ट व्हाईट सॉस और चीज़ सॉस बनाये जा सकते हैं।
• दूध पाउडर का भारतीय मीठाई जैसे हलवा और बर्फी बनाने में भी किया जाता है।

संग्रह करने के तरीके
• दूध कि तुलना में दूध पाउडर को संग्रह करना आसान होता है, लेकिन इसका एक अलाभ यह है कि इसमें पानी मिलाने से इसका स्वाद वैसा नही लगता।
• दूध का वसा होने कि वजह से इसका पैकेट खोलने के बाद इसे हमेशा फ्रिज में रखें। बंद पैकेट को साफ सूखी जगह पर रखा जा सकता है।
• आप इसे ग्लास या हवा बंद प्लास्टिक बोतल में निकाल सकते है। इसे निकालने के लिये सूखी चम्मच का प्रयोग करें और निकालने के बाद तुरंत ड़ब्बा बंद कर रखें जिससे उसमें नमी कि वजह से डल्ले नही बनेंगे। पानी मिलाने के बाद दूध या अन्य दूध से बने पेय कि तरह फ्रिज में रखें।

स्वास्थ्य विषयक
• दूध एक संपूर्ण आहार है जो संतुलित आहार का मुख्य भाग माना जाता है।
• दूध और दूध पाउडर में सामान मात्रा में प्रोटीन (२६%) और कार्बोहाईड्रेट (३७%) होते है, हालाँकि पानी कि मात्रा ३% तक कम हो जाती है। फिर भी बाज़ार मे मिलने वाले दूध पाउडर में वसा कि मात्रा २५ से २८% बदलते रहती है।
• दूध का प्रोटीन कॅसीन शरीर को संतुलित रखने में और माँस-प्रोटीन के संश्लेषण में मदद करता है।
• दूध को विटामीन ए और डी के साथ आरक्षित किया जाता है। विटामीन ए आँखों कि दृश्ती अच्छी करने में मदद करता है, वहीं विटामीन डी हड्डीयाँ बनाने में मदद करता है। दोनों विटामीन त्वचा को निखारने में मदद करते है।
• दूध पाउडर में प्रस्तुत कॅलशियम सर्वत्र जीवन दाँत और हड्डीयों को मज़बूत रखने में मदद करता है

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन