This category has been viewed 5482 times

24 रागी का आटा recipes

Last Updated : Feb 02,2020

ragi flour recipes - in English
રાગીનો લોટ રેસીપી - ગુજરાતી માં વાંચો (ragi flour recipes in Gujarati)

Goto Page: 1 2 
मशहुर पालक-पनीर के मेल को चावल के आटे और रागी के आटे के साथ मिलाकर इन रोटी को बनाऐं, जिनमे से दोनो ही ग्लुटन मुक्त हैं।
खट्टे टामटर और मज़ेदार धनिया एक दुसरे के लिए ही बने हैं। इस मेल से बनी ग्रेवी विजेता से कम नहीं है! यह स्वादिष्ट ग्रेवी, फोलिक एसिड का खज़ाना है, और वहीं पत्तागोभी, सोया ग्रैन्यूल्स् और पनीर से बने कोफ्ते रेशांक, प्रोटीन और कॅल्शियम से भरपुर हैं। बेहतरीन स्वाद और रुप के लिए, इन कैबॅज सोया कोफ्तास् इ ....
हालांकि यज विश्व भर में मशहुर नहीं है, रागी में भरपुर मात्रा में लौहतत्व और कॅल्शियम होता है जो लाल रक्त कण बनाने में और हड्डीयों को मज़बूत रखने में मदद करते हैं। हरी पयाज़, गाजर और हरी मिर्च का पेस्ट इन रागी रोटीयों को करारापन और स्वाद प्रदान करते हैं।
एक अनोखी लेकिन बेहद पौष्टिक रोटी, जिसे रागी और गेहूं के आटे के मेल से बनाकर, कम कार्बोहाईड्रेट वाली मूली और उसके पत्तों से बनाया गया है। मूली के पत्तों का तेज़ और हल्का कड़वा स्वाद इन रॅडिश नाचनी रोटी को मज़ेदार बनाते हैं, जिनमें तिल और भुना हुआ ज़ीर डाला गया है, जिन्हें हालांकि बहुत कम मात्रा में म ....
पालक और पनीर से बेहतरीन सब्ज़ी बन सकती है ना? यहाँ आप देख सकते हैं कि कैसे इन दोनो के मेल से स्वादिष्ट रोटीयाँ भी बनाई जा सकती है! चावल और रागी के आटे के अनोखे मेल का प्रयोग कर, यह पालक पनीर रोटी बेहद पौष्टिक और स्वादिष्ट बनते हैं।
एक पर्याप्त संपूर्ण सुबह का नाश्ता बनाने के लिए, रागी के आटे में मूंग दाल और पनीर मिलाकर इसे मज़ेदार बनाऐं! पकी हुई मूंग दाल आटे को बाँधने में भी मदद करती है।
नाचनी लौहतत्व के बहतरीन स्रोत में से एक है और इसकी रोटी बनाना बहुत अच्छा तरीका है। लेकिन इसे एक ही रुप में बनाने में हम बोर सकते हैं। इसलिए, इस सामग्री के पौषणतत्व को समझने के बाद, आप इसे विभिन्न तरीकों से बनाकर अपने आहार का भाग बना सकते हैं। यहाँ हमनें नाचनी परोसने का एक बेहद स्वादिष्ट तरीका ....
स्वाद भी! स्वास्थ भी! कैल्शियम और प्रोटीन से भरपूर, रागी की रोटी पौष्टिक हेने के साथ-साथ स्वादिष्ट भी है। दही की हल्कि खट्टास, मिर्च के तीखापन, कद्दूकस किया हुआ गाजर और हरा प्याज़ रोटी के स्वाद को बढाते है। थोडा सा परथन लगाकर रोटी बेलने में मुश्किल नही होनी चाहिए। लेकिन अगर आप नहीं बेल पा रहे हों ....
रागी और सोया के आटे से बने यह क्रिस्प्स्, लौहतत्व, कॅल्शियम और प्रोटीन से भरपुर है। इन्हें तवे पर पकाना पौष्टिक विकल्प है, लेकिन आप इन्हें तल भी सकते हैं। इन पुरी को पहले से बनाकर रखें और हवा बन्द डब्बे में रखकर ग्लूटेन मुक्त नाश्ते का मज़ा लें।
सोया का आटा, ज्वार का आटा और रागी का आटा साथ मिलकर इन सौम्य मसालेदार पराठों को बनाते हैं। यह आटे ना केवल ग्लुटेन से मुक्त हैं, लेकिन साथ ही लौहतत्व, कॅल्शियम, रेशांक और प्रोटीन के अच्छे स्रोत भी।
Goto Page: 1 2 

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन