मल्टीग्रेन ब्रेड ( Multigrain bread )

मल्टीग्रेन ब्रेड क्या है ? ग्लॉसरी, इसका उपयोग, स्वास्थ्य के लिए लाभ, रेसिपी  Viewed 6519 times

मल्टीग्रेन ब्रेड क्या है?


मल्टीग्रन ब्रेड एक ऐसी ब्रेड है जिसमें बहुत से प्रकार के अनाज का प्रयोग किया जाता है जैसे ओट्स्, राई, जौ, मकई और गेहूं। सफेद ब्रेड की तुलना में मल्टीग्रन ब्रेड ज़्यादा नरम नहीं होता है कयोंकि विबिन्न प्रकार के अनाज इसे ज़्यादा बनावट और स्वाद प्रदान करते हैं। ब्रेड में प्रयोग किया गया विभिन्न अनाज का संतुलित मेल इसे ईच्छित स्वाद और बनावट प्रदान करता है।

मल्टीग्रन ब्रेड में इसमें डाले गए सभी अनाज की पौष्टिक्ता होती है, खसतौर पर उच्च मात्रा में प्रोटीन और रेशांक। अलग-अलग मल्टीग्रन ब्रेड में अलग प्रकार के अनाज होते हैं इसलिए इनके पौषण तत्व भी अलग होते हैं। जब मल्टीग्रन ब्रेड को साबूत धान के से बनाया जाता है, तब यह सफेद ब्रेड की तुलना में आपका पेट लंबे समय तक भरा रखता है, क्योंकि यह रक्त में कार्बोहाइड्रेट धीरे-धीरे बढाता है। हालांकि मल्टीग्रन ब्रेड के कुछ ब्रेन्ड में सफेद ब्रेड से ज़्यादा कॅलरी की मात्रा हो सकती है, पर फिर भी सफेद ब्रेड का प्रयोग से इस ब्रेड का प्रयोग करना ज़्यादा फायदेमंद होता है।

स्वास्थ्य के प्रति बढ़ती सचकता को धन्यवाद, आजकल मल्टीग्रन ब्रेड बेहद मशहुर होती जा गया है।

<

मल्टीग्रेन ब्रेड चुनने का सुझाव (suggestions to choose multigrain bread, multi flour bread)


• मल्टीग्रन ब्रेड के ऐसे ब्रेन्ड को चुने जिसमें साबूत अनाज का प्रयोग किया गया हो।
• ऐसे ब्रेन्ड को चुनें जिसमें मैदा की जगह गेहूं के आटे के साथ बहुत से अनाज का प्रयोग किया गया हो।
• खरीदने से पहले उत्पादन और समापन के दिनांक की जांच कर लें।

मल्टीग्रेन ब्रेड के उपयोग रसोई में (uses of multigrain bread, multi flour bread in Indian cooking)


• मल्टीग्रन ब्रेड का प्रयोग सेन्डविच बनाने के लिए किया जा सकता है, जो सफेद ब्रेड से बने सेन्डविच से पौष्टिक होता है।
• इसका प्रयोग सूप के लिए क्रूटोन्स् बनाने के लिए भी किया जा सकते है।
• मल्टीग्रन ब्रेड से बने ब्रेड क्रम्ब्स् का उपयोग विभिन्न व्यंजन जैसे क्रौकेस, कटलेट आदि के लिए किया जा सकते हैं।
• इसे बहुत से व्यंजन में सफेद ब्रेड की जगह प्रयोग किया जा सकता है, जैसे चिली चीज़ टोस्ट,ओट्स् मूंग टोस्ट, ब्रेड कप्स् आदि।

मल्टीग्रेन ब्रेड संग्रह करने के तरीके 


• खोलने के बाद, ब्रेड को सामान्य तापमान पर रखें।
• खोलने के बाद उसी के पेकेट में या ब्रेड बॉक्स् में रखकर फ्रिज में रखें।
• भले ही फ्रिज में रखा हो, लेकिन इसे समपान के दिनांक पहले इस्तेमाल कर लें।
• व्यर्थ न जाएं इसलिए आप पुराने ब्रेड से क्रम्ब्स् या क्रुटोन्स् बना सकते हैं।

मल्टीग्रेन ब्रेड के फायदे, स्वास्थ्य विषयक (benefits of multigrain bread, multi flour bread in Hindi)

मल्टीग्रेन ब्रेड फाइबर समृद्ध आटे से बना होता है, इसलिए इसमें सफेद ब्रेड की तुलना में ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम होता है और यह मधुमेह रोगियों, हृदय रोगियों और वजन पर नजर रखने वालों के लिए बेहतर विकल्प है। यह आपको लंबे समय तक भरा हुआ महसूस कराता है। इसमें मौजूद फाइबर पाचन को भी बढ़ावा देते हा। साथ ही इसमें मौजूद पाइटोकेमिकल्स शरीर में इन्फ्लमेशन को कम करने और कोशिकाओं और अंगों के स्वास्थ्य की रक्षा करने में मदद करते हैं। सफेद ब्रेड में इस्तेमाल होने वाले रिफाइंड आटे की तुलना में मल्टीग्रेन ब्रेड में इस्तेमाल किए गए कई अनाजों में प्रोटीन, जिंक, बी विटामिन आदि जैसे पोषक तत्व अधिक होते हैं। पर मल्टी ग्रेन ब्रेड भी कार्बोहाइड्रेट का अच्छा स्रोत है। तो हम आपको सुझाव देते हैं कि आप इसे कम मात्रा में और केवल कभी-कभार खाएं।