This category has been viewed 5126 times
 Last Updated : Jan 19,2021


 भारतीय स्वस्थ व्यंजनों > फ़ाइबर युक्त



High Fiber - Read In English
ફાઇબર યુક્ત રેસીપી - ગુજરાતી માં વાંચો (High Fiber recipes in Gujarati)

फ़ाइबर युक्त रेसिपी : High Fiber Indian Recipes in Hindi


Top Recipes

रोटला रेसिपी | बाजरा का रोटला | गुजराती स्टाइल बाजरा रोटला | हेल्दी बाजरा रोटी | rotla recipe in hindi language | with 17 amazing images. रोटला रेसिपी बाजरा, ज्वार या नाचनी के आटे से बनाए जाते हैं और यह घी और गुड़ के साथ बेहद अच्छे लगते हैं। इस बात का ध्यान रखें कि गुजराती स्टाइल बाजरा रोटला को आटा गूँथने के तुरंत बाद बना लें, क्योंकि यह आटा जल्दी सख्त हो जाता है जिसकी वजह से इन्हें बेलना मुश्किल हो जाता है। बाजरा का रोटला को मोटा तौर पर रोल किया जाता है, एक तवा पर पकाया जाता है और फिर भूरे रंग के धब्बे आने तक खुली आंच पर भूनते हैं। परंपरागत रूप से सफेद मक्खन को रोटला पर उतारा जाता है या यदि यह उपलब्ध नहीं है तो आप घी का उपयोग कर सकते हैं। हेल्दी बाजरा रोटी बाजरे के आटे से बनती है जो प्रोटीन में उच्च होती है और दाल के साथ मिलाकर शाकाहारियों के लिए एक पूर्ण प्रोटीन है। धैर्य से और बार-बार बनाने से आप इन बाजरा का रोटला को बहुत अच्छे से बेलने योग्य हो जाऐंगे और यह अच्छी तरह फूलेंगे भी। रोटला आप रिंगणा वटाना , कड़ी और तुवर दाल नी खिचड़ी के साथ परोसें और सम्पूर्ण भोजन का मज़ा लें।
पालक चना रेसिपी | पालक छोले | चना पालक | पालक छोले सब्जी | chana palak in hindi | with 25 amazing images.
खूंभ को भारतीय तरीके से पकाने का यह फ्रेश मशरुम करी बेहतरीन तरीका है। ताज़े हरा धनिया और उबले हुए प्याज़ का पेस्ट इस ग्रेवी को स्वाद से भरा और खूंभ के फीके स्वाद को पुरी तरह से ढ़क देता है। खूंभ को गरम पानी में 2 मिनट के लिए भिगोना ना भुले-यह ना सिर्फ खूंभ को नरम करता है, लेकिन उन्हें अच्छी तरह से साफ करने में भी मदद करता है।
एक आराम प्रदान करने वाला मिल्कशेक जो आपकी थकान हठाने में मदद करेगा! सेब और ओट्स, दोनो रेशांक से भरपुर सामग्री है, और स्वाद और रुप के मामले में मज़ेदार मेल बनाते है। किशमिश इस पेय को प्राकृतिक मिठास प्रदान करता है, जिसे शहद से और भी मीठा बनाया गया है। इस एप्पल एण्ड ओट्स मिल्कशेक को सुबह के नाश्ते में बनाऐं या दोन भर के काम के बाद बनाऐं और अपने चाहने वालों के साथ इसका मज़ा ले। यह चॉकलेट और कॉफी से काफी बेहतर लगेगा!
इस स्वादिष्ट सलाद में सामग्री का एक दिलचस्प वर्गीकरण है, जो इस ज़ायके में कई तरह के स्वाद प्रदान करते हैं। पकाए गए रसीले राजमा और रसदार टमाटर के साथ करकरे प्याज़ और हरे प्याज़ इस नुस्खे में इकट्ठे मिलकर एक प्रसन्न कर देनेवाला व्यंजन तैयार करते हैं। उपर से एक तीक्ष्ण नींबू का ड्रेसिंग इस मज़ेदार राजमा सालाद, मैक्सिकन राजमा सलाद को वास्तव में और यादगार बना देता है। अन्य सालाद की रेसिपी को भी आजमाईए जैसे मिक्स्ड स्प्राउट्स सलाद , स्टर-फ्राईड पनीर, ब्रॉकली एण्ड बेबी कॉर्न सलाद और फ्रूट एण्ड वेजिटेबल सलाद विद एप्पल ड्रेसिंग
दक्षिण भारत से उत्तपन्न एक सौम्य नाश्ता, यह उत्तपा अब विश्व भर में मशहुर हो गया है, कयोंकि इसे बहुत से अनोखे तरीके से बनाया जा सकता है। यह भी एक ऐसा ही विकल्प है, जिसे साबूत बाजरा और उसके आटे से बनाया गया है। गाजर और प्याज़ जैसी सब्ज़ीयाँ इस स्वादिष्ट व्यंजन को करारापन प्रदान करते हैं और वहीं धनिया, नींबू आदि मिलकर इसके स्वाद और खुशबु को निखारते हैं। इस बाजरा, कॅरट एण्ड अनियन उत्तपा को हेल्दी ग्रीन चटनी के साथ तवे से उतारकर तुरंत परोसें।
मेथी दाल रेसिपी | मेथी तुवर दाल | तोर दाल ताजी मेथी के साथ | मेथी दाल फ्राई | methi dal recipe in Hindi | with images. मेथी दाल एक स्वास्थ्य स्पर्श वाली दाल है, जो एक और सभी के लिए उपयुक्त है। मेथी दाल फ्राई बनाना सीखें। रोज़ाना बननेवाली तुवर दाल को मेथी के पत्तों के साथ मिलाकर दाल का एक नया रूपांतर तैयार किया गया है। मेथी के पत्तों का स्वाद और उसकी सुगंध बहुत ही मज़ेदार होती है। तो दूसरी और उसकी अनोखी कड़वाहट वास्तव में तालू को अक्सर सुखदायक लगती है। इस नुस्खे में मेथी अन्य मसालों, अदरक और प्याज़ के साथ मिलकर तुवर दाल के स्वाद को बढ़ाती है। मेथी तुवर दाल की रेसिपी बनाने के लिए, एक प्रेशर कुकर में अरहर की दाल, हल्दी पाउडर और १ १/२ कप पानी डालकर अच्छी तरह से मिला लीजिए और प्रेशर कुकर की ३ सीटी बजने तक उसे पका लीजिए। एक गहरे नॉन-स्टिक पैन में तेल गरम करें और जीरा डालें। जब बीज चटकने लगे, लहसुन, अदरक, हरी मिर्च और लाल मिर्च डालें और मध्यम आँच पर १ मिनट के लिए भूनें। प्याज डालकर मध्यम आँच पर २ मिनट के लिए भूनें। टमाटर, हींग, मिर्च पाउडर, गरम मसाला और २ टेबलस्पून पानी डालकर अच्छी तरह मिलाएँ और मध्यम आँच पर २ मिनट तक पकाएँ। मेथी के पत्ते डालें, अच्छी तरह मिलाएँ और मध्यम आँच पर २ मिनट तक पकाएँ। पकी हुई दाल, नमक और २ कप पानी डालें, अच्छी तरह मिलाएँ और मध्यम आँच पर ४ मिनट तक पकाएँ। गर्म - गर्म परोसें। यह मुंह में पानी लाने वाली तोर दाल ताजी मेथी के साथ बेहद पौष्टिक भी है क्योंकि यह लोहतत्व, झींक और प्रोटिन जैसे पोषकतत्वों से समृद्ध है। यह दाल वज़न पर नज़र रखनेवालों, मधूमेह और वारिष्ठ नागरिकों के लिए भी उचित व्यंजन है। हालांकि, तुवर दाल को पचाने में थोड़ा मुश्किल होता है, इसलिए वरिष्ठ नागरिकों को रात के समय इसे खाने से बचना चाहिए। इस दाल को फूल्के के साथ परोसें और पूरे परिवार के साथ बैठकर इस पौष्टिक भोजन का आनंद लें। मेथी दाल के नुस्खे 1. सभी गंदगी को दूर करने के लिए पालक और तुवर दाल को अच्छे से साफ करके धो लें। 2. आप अदरक को बारीक काटने के बजाय कद्दूकस कर सकते हैं। 3. तुवर दाल को चना दाल के साथ भी बदला जा सकता है। आनंद लें मेथी दाल रेसिपी | मेथी तुवर दाल | तोर दाल ताजी मेथी के साथ | मेथी दाल फ्राई | methi dal recipe in Hindi | नीचे दिए गए स्टेप बाय स्टेप फ़ोटो के साथ।
स्वस्थ गाजर का सूप रेसिपी | गाजर और पीली मूंग दाल का सूप | मलाईदार गाजर का सूप | आसान क्रिमी गाजर का सूप | healthy carrot soup in Hindi. स्वस्थ गाजर का सूप एक और सभी के लिए एंटीऑक्सिडेंट से भरा सूप है। जानिए कैसे बनाएं भारतीय स्टाइल क्रीमी गाजर का सूपस्वस्थ गाजर का सूप बनाने के लिए, एक प्रैशर कुकर में गाजर, प्याज़, मूंग दाल और १/४ कप पानी मिलाकर ४ सिटी तक प्रैशर कुक कर लें। ढ़क्कन खोलने से पुर्व सारी भाप निकलने दें। पुरी तरह ठंडा करने के लिए एक तरफ रख दें। ठंडा करने के बाद, इस मिश्रण को मिक्सर में डालकर पीसकर मुलायम प्युरी बना लें। इस मिश्रण को एक गहरे नॉन-स्टिक पॅन मे डालें, दूध, १/२ कप पानी, नमक और काली मिर्च डालकर अच्छी तरह मिला लें और मध्यम आँच पर २ से ३ मिनट तक, बीच-बीच मे हिलाते हुए पका लें। गरमा गरम परोसें। यह सौम्य स्वाद वाला बिना तेल से बना गाजर और पीली मूंग दाल का सूप रात के खाने के शुरुआत करने के लिए पर्याप्त है। गाजर में भरपुर मात्रा में विटामीन ए होता है, और एक बेहतरीन ऑक्सीकरण तत्व है जो आपके शरीर से मुक्त रैडिकल साफ करने में मदद करता है। मज़ेदार बात यह है कि, लो-फॅट दूध से बना इस आसान क्रिमी गाजर का सूप के कॅलरी की मात्रा भी कम है। छंटनी की गई कमर को निशाना बनाने वाले और स्वस्थ दिल को बनाए रखने के लिए तत्पर रहने वाले, इस पौष्टिक सूप को अपने भोजन में शामिल कर सकते हैं। प्याज में क्वेरसेटिन एचडीएल (अच्छे कोलेस्ट्रॉल) के उत्पादन को बढ़ावा देगा और शरीर में कुल कोलेस्ट्रॉल को कम करेगा। प्रोटीन भरपुर मूँग दाल से समझदारी से गाढ़ा बनाया गया और प्याज़ और काली मिर्च के स्वाद से भरा, जवान और ऊर्जा भरपुर रहने के लिए, यह भारतीय स्टाइल क्रीमी गाजर का सूप का एक बेहद स्वादिष्ट तरीका है। मूंग की दाल कैल्शियम और फास्फोरस का भी अच्छा स्रोत है - हमारी हड्डियों के जुड़वां स्तंभ। उपजी नहीं किया जा रहा है, यह सूप ३.८ जी फाइबर प्रति मात्रा भी देता है! यह एक अतिरिक्त स्वास्थ्य वृद्धि है। आनंद लें स्वस्थ गाजर का सूप रेसिपी | गाजर और पीली मूंग दाल का सूप | मलाईदार गाजर का सूप | आसान क्रिमी गाजर का सूप | healthy carrot soup in Hindi.
पालक के ताज़े हरे रंग के साथ यह स्पिनॅच एण्ड पनीर पराठे दिखने मे साथ ही स्वाद मे बेहतरीन लगते है! जहाँ इसमे पालक आटे मे अपनी पौष्टिक्ता प्रदान करता है, वही फूलगोभी और पनीर का मिश्रण जो धनिया, हरी मिर्च और अदरक से भरपुर है, यह भरवां मिश्रण मे अपना जादु फेलाते है।
पौष्टिक थालीपीठ रेसिपी | स्वादिष्ट मल्टीग्रेन थालीपीठ | ज्वार बाजरा थालीपीठ | थालीपीठ - मधुमेह के लिए | nutritious thalipeeth in Hindi | With 17 amazing images. पौष्टिक थालीपीठ एक पौष्टिक नाश्ता विचार है जो आटे के एक स्वस्थ संयोजन द्वारा बनाया गया है। डायबिटीज के लिए थैलिपेथ बनाना सीखें यह ज्वार बाजरा थालीपीठ अलग-अलग प्रकार के आटे, सब्जियों और मसाले के पाउडर के मेल से बनाया गया है, जो साथ में इसे लौहतत्व, रेशांक और फोलिक एसिड से भरपुर बनाते हैं। इस रेसिपी में इस्तेमाल की गई गोभी विटामिन सी का अच्छा स्रोत है। जबकि खाना पकाने में विटामिन सी की कुछ मात्रा खत्म हो जाएगी, आप शेष से लाभ उठा सकते हैं। यह आपकी प्रतिरक्षा को बढ़ाने में मदद करेगा। पौष्टिक थालीपीठ बनाने के लिए, एक गहरे बाउल में सभी सामग्री को ज़रुरत मात्रा के पानी के साथ मिलाकर नरम आटा गूँथ ले। आटे को ६ भागों में बाँटकर एक तरफ रख दें। एक नॉन-स्टिक तवा गरम करें और १/८ टी-स्पून तेल से हल्का चुपड़ लें। अपनी ऊँगलीयाँ गीली कर, आटे के एक भाग को तवे पर रखकर, १०० मिमी (४") व्यास के आकार में हल्का दबाते हुए फैला लें। १/८ टी-स्पून तेल का प्रयोग कर, दोनो तरफ से सुनहरा होने तक पका लें। विधी क्रमांक ३ से ५ कप दोहराकर ५ और थालीपीठ बना लें। तुरंत परोसें। न तो एक रोटी और न ही डोसा, महाराष्ट्रीयन स्वस्थ और स्वादिष्ट मल्टीग्रेन थालीपीठ एक अद्भुत सात्विक व्यंजन है! स्वादिष्ट और संपूर्ण, यह आसानी से और झटपट बनने वाला नाश्ता, खाने के बीच मे रक्त में शक्करा की अस्थिरता को संतुलित रखने के लिए पर्याप्त चुनाव है। एक पौष्टिक थालीपीठ सूचित सेवारत आकार है। एक अतिरिक्त स्वाद बढ़ाने के लिए उन्हें लहसुन की चटनी के साथ परोसें। प्याज उन में फाइटोकेमिकल की उपस्थिति के कारण दिल के अनुकूल होने के लिए जाना जाता है। यह मधुमेह के लिए थालीपीठ हृदय रोगियों और स्वस्थ व्यक्तियों के लिए भी उपयुक्त है। पौष्टिक थालीपीठ के लिए टिप्स। 1. गोभी को किसी अन्य हरी सब्जी जैसे कटी हुई मैथी या पालक के साथ बदला जा सकता है। 2. तवा पर सीधे आटे को थपथपाना थालिपेठ बनाने का एक हस्ताक्षर तरीका है। एक समान थैलिपथ प्राप्त करने के लिए, इसे सभी तरफ से अच्छी तरह से थपथपाना सुनिश्चित करें। 3. जबकि प्रामाणिक थैलिपथ ढेर सारा तेल के साथ बनाया जाता है, यह स्वस्थ संस्करण कम से कम तेल के साथ बनाया जाता है। इसलिए धीमी आग पर पकाएं ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि यह अंदर से अच्छी तरह से पका हो। आनंद लें पौष्टिक थालीपीठ रेसिपी | स्वादिष्ट मल्टीग्रेन थालीपीठ | ज्वार बाजरा थालीपीठ | थालीपीठ - मधुमेह के लिए | nutritious thalipeeth in Hindi.

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन