ब्राउन राइस ( Brown rice )

ब्राउन राइस, ब्राउन राईस, भूरे चावल क्या है ? ग्लॉसरी, इसका उपयोग, स्वास्थ्य के लिए लाभ, रेसिपी Viewed 41716 times

अन्य नाम
भूरे चावल

ब्राउन राइस, ब्राउन राईस, भूरे चावल क्या है?


ब्राउन राइस बिना छिल्के निकाला हुआ या थोड़ी मात्रा मे छिल्के निकाला हुआ चावल होता है, जिसमे से केवल उपरी परत निकाली जाती है जिसे हस्क कहा जाता है। ब्राउन राइस प्राकृतिक, बिना ब्लीच किया हुआ चावल होता है जिसमे ज़्यादा पौष्टिक तत्व होते है। इसका स्वाद हल्का मेवेदार होता है और पाकने से पहले भी इसका रंग भूरा होता है।

हालाँकि पहले इस चावल को निर्धन का खाना माना जाता था, लेकिन आज ब्राउन राइस कि पौष्टिक त्तवों कि वजह से सफद चावल से ज़्यादा किमती माना जाता है। काफी स्वास्थ्य के प्रति सचेक व्यक्तियों ने इसे अपने आहार का भाग बना लिया है, क्योंकि यह सफेद चावल के काफी मिलता-जुलता है। लेकिन फिर भी ब्राउन राइस मे अनेक पौष्टिक गुण होने के बाद भी, इसकि खपत कम है क्योंकि इसे सफेद चावल कि तुलना मे पकने मे लंबा समय लगता है और इसका स्वाद और रुप नापसंद किया जाता है। साथ ही, एक बार चावल कि उपरी परत निकालने पर, ब्रैन खराब होने लगता है जिससे चावल का स्वाद कड़वा होने लगता है। इसी वजह से, ब्राउन राइस सफेद चावल कि तुलना लंबे समय तक संग्रह नही किया जा सकता है।

लेकिन ब्राउन राइस को अपने आहार का मुख्य भाग बनाना चाहिए क्योंकि यह स्वास्थ्य के लिये लाभदायक होता है।

भिगोया और पकाया हुआ ब्राउन राइस (soaked and cooked brown rice)
साफ ब्राउन राइस को थोड़े समय के लिये भिगो दे, पानी छान लें और सूखे चावल का 2½ to 3 गुना पानी मिलाकर प्रैसर कुक कर लें। अगर पैन मे बना रहे है तो, 5-6 गुना पानी मिलाकर पकायें और चावल पकने के बाद, सारा पानी छान लें और बड़ी प्लेट मे डालकर ठंडा कर व्यचजन अनुसार प्रयोग करें। ब्राउन राइस को पकने मे ज़्यादा समय लगता है। इसे पकाने का समय 35-45 मिनट हो सकता है।
भिगोया हुआ ब्राउन राइस (soaked brown rice)
नरम चावल के दाने और चावल के पकाने का समय कम करने के लिये, ब्राउन राइस को पकाने से पहले भिगोना ज़रुरी होता है। पहले चावल साफ कर लें और 2-3 बार पानी बदलकर धो ले। धोने पर साफ पानी निकलने पर चावल धोना बंद कर सकते है। इसे बाद, प्रत्येक एक कप चावल के लिये, 2-3 कप ताज़ा पानी मिलाकर चावल को एक या दो घंटे के लिये भिगो दें। पानी छानकर ज़रुरत अनुसार प्रयोग करें।
अनपोलिश्ड़ ब्राउन राइस (unpolished brown rice)

ब्राउन राइस, ब्राउन राईस, भूरे चावल चुनने का सुझाव (suggestions to choose brown rice, bhure chawal)


• भरोसेमंद स्तोत्र से ब्राउन राइस खरीदें और पैकिंग के सील कि जाँच कर लें।
• पैकिंग कि दिनाँक जाँच लें।
• अगर खुला चावल खरीद रहे है, तो चावल मे किसी भी प्रकार कि गंध कि जाँच कर लें और धुल, कंकड़ आदि कि जाँच कर लें।
• यह लंबे, मध्य और छोटे दानो के विकल्प मे उपलब्ध होता है। ज़रुरत अनुसार चुनें।
• ब्राउन राइस को लबे समय तक संग्रह नही किया जा सकता है, इसलिये ज़रुरत अनुसार छोटे पैकेट खरीदें।

ब्राउन राइस, ब्राउन राईस, भूरे चावल के उपयोग रसोई में (uses of brown rice, bhure chawal in Indian cooking)


• सफेद चावल का प्रयोग होने वाले किसी भी व्यंजन मे इसका प्रयोग करें। लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि इसका स्वाद और रुप अलग हो सकता है और इसे पकाने का समय भी अलग होता है। लेकिन इसके पौष्टिक गुणों कि वजह से इतनी मेहनत करना योग्य है।
• सफेद चावल कि तुलना मे ब्राउन राइस को पकने मे ज़्यादा समय लगता है (लगभग 45 मिनट और सफेद चावल को 15 से 20 मिनट)। लेकिन, आप इस चावल को पहले से पकाकर रख सकते है और विभिन्न प्रकार के व्यंजन मे इसका प्रयोग कर सकते है।
• यह खास रुप से सलाद,भरचां मिश्रण, स्ट्यू और सब्ज़ी आधारित व्यचजनो मे अच्छा लगता है।
• अपने पसंद कि पुडिंग बनाते समय, सफेद चावल को इस चावल से बदलकर बनायें।
• स्वादिष्ट ताबुलेह मे, दलिया कि जगह ब्राउन राइस का प्रयोग करें।
• सलाद के पत्ते, टमाटर, जैतून और खट्टे विनैग्रैट ड्रैसिंग मे मिलाकर ताज़ा सलाद बनायें जो वजन के प्रति सचेक के लिये लाभदायक होता है।
• रिसोटो बनाने मे भी आप ब्राउन राइस का प्रयोग कर सकते हैं।
• ब्राउन राइस, चीज़ और सुगंधित हर्ब मिलाकर स्वादिष्ट कैसेरोल बनायें।
• पके हुए ब्राउन राइस को आटे, छाछ और हर्ब के साथ मिलाकर करारे और पौष्टिक पैनकेक बनाते जा सकते है।

ब्राउन राइस, ब्राउन राईस, भूरे चावल संग्रह करने के तरीके


• हवा बंद डब्बे मे रखकर ठंडी, सूखी जगह पर रखकर नमी से दूर रखें।
• इस प्रकार रखने पर इस चावल को छह माह तक रखा जा सकता है।
• ब्राउन राइस को फ्रीज़ कर ज़रुरत अनुसार प्रयोग करना अच्छा सुझाव है, क्योंकि ब्राउन राइस जल्दी खराब हो जाता है।

ब्राउन राइस, ब्राउन राईस, भूरे चावल के फायदे, स्वास्थ्य विषयक (benefits of brown rice, bhure chawal in Hindi)

ब्राउन राइस का ग्लाइसेमिक इंडीएक्स सफेद चावल की तुलना में कम है, इसलिए डायबिटीज वाले लोग सीमित मात्रा में ब्राउन राइस का सेवन कर सकते हैं। फाइबर का एक अच्छा स्रोत होने के नाते यह उच्च कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करता है और एथेरोस्क्लेरोसिस को रोकता है जो आपके दिल के लिए अच्छा है। वजन घटाने वाले लोग भी ब्राउन राइस का सेवन कुछ सब्जियों के साथ बहुत कम मात्रा में  में कर सकते हैं। यह थायामिन और नायासिन में समृद्ध ह, जो ऊर्जा चयापचय प्रतिक्रियाओं में मदद करता है। पढें ब्राउन राइस आपके लिए क्यों अच्छा है?

Try Recipes using ब्राउन राइस ( Brown Rice )


More recipes with this ingredient....

ब्राउन राइस (23 recipes), भिगोया हुआ ब्राउन राइस (1 recipes), भिगोया और पकाया हुआ ब्राउन राइस (9 recipes), अनपोलिश्ड़ ब्राउन राइस (1 recipes)