This category has been viewed 32095 times
 Last Updated : Jan 11,2020


 भारतीय स्वस्थ > डायबिटिक रेसिपी, डायबिटिक भारतीय फूड



Diabetic recipes - Read In English
મધુમેહ માટેના સ્વાદિષ્ટ વ્યંજન - ગુજરાતી માં વાંચો (Diabetic recipes in Gujarati)

डायबिटिक रेसिपी ,  डायबिटिक  भारतीय फूड, Diabetic Recipes in Hindi

डायबिटिक  रेसिपी, डायबिटिक  भारतीय फूड , Indian Diabetic Recipes in Hind


Top Recipes

पुदिना और ज़ीरा पाउडर के स्वाद के साथ चना दाल और पत्तागोभी जैसे मधुमेह के लिए पर्याप्त सामग्री, यह शानदार टिक्की बनाते हैं! चना दाल एण्ड कैबॅज टिक्की का करारापन इसकी विशेषता है, लेकिन इसके रुप का मज़ा लेने के लिए इन्हें तवे से निकालकर गरमा गरम परोसें। कम से कम तेल से पकाए हुए, यह टिक्की खानें में हल्की लेकिन स्वादिष्ट लगते हैं और अगले खाने तक आपका पेट भरा रखेंगे।
आनन्ददायी राजस्थानी पाकशैली से प्रेरित, यह गेहूं की बिकानेरी खिचड़ी साबूत गेहूं से बनी खिचड़ी है को संपूर्ण खाना बनाने के लिए बेहद स्वादिष्ट और शानदार व्यंजन है। चावल को गेहूं से बदलने से इस व्यंजन की रेशांक और लौहतत्व की मात्रा को बढ़ाया गया है, और वहीं घी और तेल की समान मात्रा इसमें वसा कम करने के साथ-साथ पारंरपिक स्वाद प्रदान करते हैं। अगर आपको पुरी तरह से घी कम करना है तो इस व्यंजन में 2 टी-स्पून तेल का प्रयोग करें, खासतौर पर जब आपको उच्च केलस्ट्रॉल हो।
पत्तेदार सब्जियाँ विशेष रूप से मेथी, रक्तशर्करा को नियंत्रित करके मधूमेह के लिए फायदाकरक होती हैं। इतना ही नहीं मेथी किसी भी व्यंजन में एक अपना ही हल्का-सा कडवा स्वाद भी जोड देती है। यहाँ मेथी को गेंहू के आटे, ओटस्, तिल और अजवायन के साथ मिलाकर एक स्वस्थ नाश्ता तैयार किया है। इस रोटी में दही को स्वस्थ मेथी क्रिस्पी की बनावट बेहतर बनाने के लिए और हल्की सी खट्टास के लिए मिलाया गया है, जो मेथी की कड़वाहट को संतुलित करती है। इन्हें बनाकर हवा-बंद डिब्बे में भरकर रखिए और जब चाहें तब इसका आनंद लें।
करेले के बारे में सोचते ही सबसे पहले हमारे मन मे आता है उसका कड़वापन। लेकिन करेला मधुमेह से पीड़ीत के लिए बहुत ही लाभदायक होता है और आगर आपको इसका स्वाद पसंद आ जाए तो आप इसका भरपुर मज़ा ले सकते हैं। इस अनोखे करेले के थेपले में करेले के छिलके का प्रयोग किया गया है जिसे हम अकसर फेक देते हैं। छिलको को धोकर छोटे टुकड़ों में काटकर आटे में मिलाऐं।
एक चटपटा सलाद जिसे ज़ीरा और लाल मिर्च पाउडर से चटाकेदार बनाया है। इस तीखे कचूम्बर से मिलाने वाले दो मुख्य आहार तत्व हैं- विटामीन ए और सी।
यह एक पौष्टिक व्यंजन है, जो राजस्थान के विशेष जायके को प्रदर्शित करता है। यह चार दालों को मिलाकर पारंपरिक मसाले, अदरक और मिर्ची के तीखे स्वाद के साथ खट्टेपन के लिए एक बूंद निम्बू का रस डाल कर बनाई गई है। इस टेंगी ग्रीन मूंग दाल का आनंद ताज़ा गरमा गरम मसाला बाटी के साथ लिया जा सकता है या आप इसे रोटी या चावल के साथ भी परोस सकते हैं।
यह एक पौष्टिक सूप है जो दिल के लिए वास्तव में चमत्कारी है। इस वन मील सूप में भरपूर मात्रा में मिलाई हुई सब्ज़ियाँ और मूंग दाल बहुत अच्छी मात्रा में फाइबर और प्रोटिन प्रदान करते हैं। यह सूप विटामिन सी का भी अच्छा स्त्रोत है, जो एक शक्तिशाली ऐंटीआक्सिडन्ट के रूप में रक्त वाहिकाओं की क्षति होने से बचाव करता है। यदि आप इस सूप में बताए अनुसार निर्धारित नमक की मात्रा मिलाएँ तो यह सूप उच्च रक्तदाब वाले लोगों के लिए निश्चय ही बढ़िया विकल्प है। जिन्हें उच्च रक्तदाब की बिमारी न हो वे थोडे से ज्य़ादा नमक का प्रयोग कर सकते हैं। आप कॅरट एण्ड बेल पेपर सूप भी आज़मा सकते हैं।
आपके दिन की शुरुआत करने के लिए इस चन्की वेजिटेबल स्प्रैड में सब कुछ है- दूग्ध पदार्थ से प्रोटीन और सब्ज़ीयों से भरपुर मात्रा में विटामीन। लो-फॅट पनीर और दूध का प्रयोग इसके कॅलरी की मात्रा को कम करता है, जो इस स्प्रैड को पौष्टिक, मज़ेदार और बेहतरीन बनाता है, वहीं पार्सले इसके स्वाद को निहारने में मदद करता है।
चिवडा किसे पसंद नहीं आता! डायबिटिक्स लोगों के लिए यह बात चौंकाने वाली होती है कि वे तला हुआ, ऑयली चिवडा नहीं खा सकते, लेकिन यह रेसिपी आपके चेहरे पर फिर से मुस्कान ला देगी। यहाँ हम पहले बेक्ड नाचनी सेव बनाते हैं और स्वादिष्ट बेक्ड नाचनी चिवडा बनाने के लिए इसे छौंक लगाते हैं। नाचनी की लोई में मिलाए गए नींबू का रस, लहसुन पेस्ट और अन्य फ्लेवर बनाने वाली सामग्रियाँ सेव को लुभावना स्वाद देते हैं। छौंकने के बाद तो इस स्वाद में चार चाँद लग जाते हैं। हमने यहाँ मधुमेह के नियमों के अनुसार एक छोटा सा लेकिन संतोषजनक भाग सुझाया है। रागी एण्ड ओट्स क्रैकर्स विद कुकुम्बर डिप और मसालेदार पुदीना खाखरा भी आजमाईए।
इस चटखारे भरे फूट चाट के बारे में रोचक बात ये है कि यह किसी भी मौके के लिए उत्तम है। ठंडी के मौसम में आप इसके चटक स्वाद को खूब पसंद करेंगे, जबकी गर्मी में आपको फलों के रस का आनंद लेना अच्छा लगता है। थोडे में कहें तो यह दोनों ही प्रकार से बेहतरीन दावत पेश करता है। इसमें कटे हुए और ठंडे फल का उपयोग किया गया है और साथ ही खासतौर से चाट में मिलाए जाने वाले मसालेदार पावडर जोड़े गए हैं जिससे रसदार, करारा, चटक स्वाद मिलता है, जो हमारे मन को तरोताज़ा कर देता है। इतना ही नहीं, फलों से मिलने वाला फाइबर ब्लड शुगर लेवल को भी नियंत्रण में रखने में मदद करता है! डायबटिक के लिये ओट्स एण्ड मूंग दाल दही वड़ा या मूंग दाल एण्ड कॉलीफ्लावर ग्रीन्स अप्पे जैसे व्यंजन भी बनाकर देखें।

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन