This category has been viewed 1252 times

84 इलायची पाउडर recipes

Last Updated : Jul 16,2019

એલચીનો પાવડર રેસીપી - ગુજરાતી માં વાંચો (cardamom powder recipes in Gujarati)

Goto Page: 1 2 3 4 5 6 
शिरमल भारत-पाक-उप- महाद्वीप में एक हल्के-मिठे केसर के स्वादवाले नान के जैसे प्रसिद्ध है। हालांकि यह मुगल नुसख़ा परंपरागत रूप से तंदूर में बनाया जाता है, लेकिन यह आपके रसोईघर में तवे पर भी बड़ी आसानी से तैयार किया जा सकता है। आटे में गुनगुना दूध और मसालों का संयोजन उसे एक शाही स्वाद प्रदान करता ह ....
एक गिलास पन्हे से ज़्यादा ताज़ा और कुछ नहीं है। यह ठंडा और मज़ेदार, खट्टा-मीठा और सभी तरह से पर्याप्त होता है। उबली हुई कच्ची कैरी से बना और इलायची और केसर के स्वाद से भरा, यह ठंडक प्रदान करने वाला गर्मी का पेय आपके शरीर में पानी कम होने से बचाता है। सबसे अच्छी बात यह है कि आप पहले स्कावश को बनाकर फ ....
कहते हैं कि एक अच्छी पुरन पोली बनाना आसान कार्य नहीं है और काफी अभ्यास के बाद ही इसे बनाया जा सकता है…देखा गया तो यह एक कला है! महाराष्ट्रियन पपुरन पोली के अनुकुल, जिनमें चना दाल का प्रयोग किया जाता है, गुजराती विकल्प में तुवर दाल का प्रयोग किया जाता है। इसके अनोखे स्वाद और खुशबु का श्रेय इसमें प्रय ....
आम के स्वाद से लदी यह पुरी वास्तव में रमणीय है। इस नुस्खे में आम की प्युरी के साथ इलायची जैसे मसाले डालकर तैयार किए हुए आटे की पुरी बेलकर उन्हें गर्म तेल में तलकर एक मज़ेदार नाश्ता तैयार किया गया है। देखने जाएँ तो आटा नरम है, इसलिए बेलते समय आपको थोडा सावधान रहना पडेगा। यदि गूँथा हुआ आटा ढीला हो ....
यह व्यंजन सभी मीठा पसंद करने वालों के लिए अमृत है, खासतोर पर उनके लिए जिन्हें शीरा बेहद पसंद आता है। इस दरदरे, गरमा गरम मिठाई को बनाने के लिए लंबा समय लगता है- क्योंकि इसे पकाने के लिए लगातार हिलाते हुए धिमी आँच पर पकाना ज़रुरी होता है- लेकिन यह व्यर्थ नहीं है! केसर को गुनगुने दूध में कम से कम 20 मि ....
भारतीय भोजन कुल्फी के बिना अधूरा है। यूँ तो कुल्फी मसालेवाली से फलों के स्वादवाली भी मिलती है। यह ड्राई फ्रूट केसर कुल्फी एक पारंपारिक मुगलाई शैली का नुस्खा है, जो सूके ....
आपने आज तक रवा से बना हुआ या फिर किसी और आटे बनाया हुआ शिरा चखा होगा। लेकिन यह अखरोट से बनने वाला अनोखा है। इसकी बनावट और स्वाद दोनों सचमुच ही दिलचस्प है। बस एक चमम्च भर अकरोट का शीरा आपकी डीश में रखिए और इसका आनंद लीजिए। यहाँ ध्यान रहे कि इसका सेवन अल्प मात्रा यानि 1 से 2 टेबल-स्पून ही करें ....
प्रेशर कूकर या खूल्ले पॅन में बननेवाली बिरयानी की तुलना में हंडी बिरयानी श्रेष्ठ मानी जाती है फिर भले ही ऐसा प्रतीत होता हो कि दोनों में समान सामग्री का इस्तेमाल होता है। चपती के आटे से ढक्कन को बंद करना और उसी के भीतर सामग्री को पकाने की प्रक्रिया ही इस बिरयानी को बाकी सभी से विभिन्न बनाती है। असल ....
श्रीखंड एक आसान तरीके से, दही का एक मिठाई में चमतकारी बदलाव है। इसे बनाने के लिए पकाने की आवश्यक्ता नहीं होती और इसे रविवार के खाने में, त्यौहारों में और साथ ही फराली खाने में अकसर परोसा जाता है! चीज़े और भी आसान हो जाती है क्योंकि आप इसे पहले से बनाकर रख सकते हैं और लगभग 15 दिनों के लिए फ्रिज़र में ....
पुरनपोली एक पारंपरिक महाराष्ट्रियन व्यंजन है और इसके विकल्प विश्व भर में बनाये जाते हैं। यह एक संपूर्ण और स्वादिष्ट नाश्ता है, जिसे चना दाल और नारीयल को मीठे गुड़ और इलायची के स्वाद से बनाया गया है। हालाँकि यह त्यौहारों में बनाने वाला व्यंजन है, इसे कुछ खास मीठा खाने के लिए कभी भी बनाया जा सकता है।
भारत के सबसे प्रसिद्ध मिठाईयों में से एक मलाई पेड़ा सचमुच में एक शाही और समृद्ध मिठाई है। यहाँ पूर्ण वसा वाले दूध को फाड़ कर इस प्रक्रिया से शाही बनावट वाला मावा तैयार किया गया है और उसमें इलायची और केसर मिलाकर एक ऐसी सुगंधित मिठाई तैयार की गई है जिसका कोई विरोध ही नहीं कर सकता है। जबकि इसकी तेज ....
यह एक मीठा व्यंजन है जिसे दक्षिण भारत में बहुत से त्यौहारों में बनाया जाता है। संक्रांथी के दिन, यह खास होता है क्योंकि इसे तेज़े छँटाई किये हुए चावल से बनाया जाता है। उपर भरपुर मात्रा में घी डालना ना भुलें क्योंकि पोन्गल को खास खुशबु, स्वाद और रुप प्रदान करने वाला घी है। देखा गया तो, थीर्रुपव्व ....
मोहनथाल एक और मशहुर गुजराती मिठाई है। इस मिठाई को सही तरह से बनाना ज़रुरी होता है, कयोंकि एक तार वाली चाशनी इस व्यंजन को अच्छी तरह से बनाने का मूल है। अगर बहुत ज़्यादा पक जाए, इस व्यंजन के रंग और स्वाद पर प्रभाव पड़ता है। साथ ही, इस व्यंजन को नरम रुप प्रदान करने वाले मावा को बेसन के अच्छी तरह सुनहरा ....
सौम्य भारतीय परंपरा, बादाम मका हल्वा किसी भी तरह के त्यौहारों का कभी ना अलग होने वाला भाग है। इसे आम दिनों में भी खा सकते हैं! देखा गया तो, ठंड के दिनों में, हमारी दादि उनके बच्चों को रोज़ सुबह इस हलवे को खाने की सलाह देती थी। यह एक ऐसी स्वादिष्ट परंरपरा है, जिसे कोई भी छोड़ना पसंद नही करेगा! हमेशा ....
Goto Page: 1 2 3 4 5 6 

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन