पीनट बटर ( Peanut butter )

पीनट बटर क्या है, इसका उपयोग,स्वास्थ्य के लिए लाभ, रेसिपी, Peanut Butter in Hindi Viewed 31740 times

पीनट मक्ख़न, पीनट बटर क्या है?



मूँगफली का मेवेदार और मुलायम स्वाद, नरम और करारे पीनट बटर कि तरह किसी में नही होता है। पीनट बटर और जैली सेण्डविच बच्चे और बड़े, दोनो का मनपसंद है। मुख्यतः भूनी और पिसी हुई मूईगफली से बना, तेल के साथ मिलाकर एक बेहतरीन पायस, पीनट बटर बनता है। कुछ पीनट बटर में चॉकलेट या अन्य प्रकार कि सामग्री भी मिलायी जाती है। घर पर पीनट बटर बनाने के लिये, मूँगफली को धिमी आँच पर उनके सुनहरे होने तक भून लें। भूनने के बाद, तुरंत ठंडा कर उन्हे ज़यादा पकने से बचायें। एैसा करने से मूँगफली का तेल सूखता नही है। उपर के छिलके को निकाल दें। मूँगफली को वनस्पति तेल, स्वादअनुसार शक्कर और नमक से साथ पीस लें। मिलया हुआ तेल प्राकृतिक स्थिरक से रुप में काम करता है क्योंकि यह मूँगफली के प्राकृतिक तेल को पीनट बटर से अलग होने और उपर आने से रोकता है। क्यिंकि इसमे किसी भी प्रकार का स्थिरक पदार्थ नही मिलाया जाता, जो बाज़ार में मिलते पीनट बटर में होता है, इसलिये यह ज़रुरी हे कि घर पर बने पीनट बटर को थोड़े थोड़े दिनों में अच्छी तरह मिलाया जाये।

पीनट मक्ख़न, पीनट बटर चुनने का सुझाव


• बाज़ार से खरीदने से पहले ध्यान से बनने और समापन कि दिनाँक कि जाँच कर लें।
• तथापि, अगर आप पीनट बटर घर पर बना रहे हैं तो, ध्यान रखकर अच्छे और साफ मूँगफली को चुने।

पीनट मक्ख़न, पीनट बटर के उपयोग रसोई में (uses of peanut butter in cooking)


• पीनट बटर का प्रयोग करने का सबसे मशहुर, आसान और साथ ही सबका पसंदिदा तरीका उसे दि ब्रेड स्लाईस या टोस्ट के उपर लगाकर खाना है।
• पीनट बटर कुकीस्, चॉकलेट पीनट बटर बारस्, पीनट बटर और जैम ड्रॉप्स, बेकिंग करने के लिये पीनट बटर कि प्रतिभा दिखाने के कुछ उदाहरण है।
• इनका विभीन्न प्रकार के चीज़केक और पाई क्रस्ट बनाने में भी नवीनता से प्रयोग किया जा सकता है।
• कुरकुरे केक बनाने के लिये पीनट बटर को चॉकलेट चिप्स के साथ मिलायें।
• डेजर्ट में प्रयोग करने के अलावा, पीनट बटर का सलाद के लिये तीखा पीनट बटर ड्रेसिंग बनाने में भी किया जा सकता है।
• इसका सॉस बनाने में भी प्रयोग किया जाता है जो पूर्वी पाकशैली में बनते हैं।
• पीनट बटर कुकीस् और ट्रफल बच्चों के मनपसंद है।

पीनट मक्ख़न, पीनट बटर संग्रह करने के तरीके 


• वसा कि अधिक मात्रा होने के कारण, पीनट बटर का जल्दी खराब और खट्टा होने का डर रहता है, इसलिये सही तरीके से संग्रह करना ज़रुरी है।
• बाज़ार में मिलाने वाले विकल्प को फ्रिज में ररखना ज़रुरी नही होता औेर इन्हें खोलने के बाद भी ६ महीने तक रखा जा सकता है।
• घर पर बने पीनट बटर को हवा बंद डब्बे में रखकर फ्रिज में रखना ज़रुरी है और कुछ हि हफ्तों मे इसका प्रयोग कर लेना चाहिए।
• थोड़े-थोड़े समय में डब्बे को उपर नीचे कर हिलाते रहना चाहिए जिससे तेल अच्छी तरह फैल जाता है।
• तथापि, ध्यान रखें कि पीनट बटर को डीप फ्रज़र में रखकर संग्रह करना अच्छा सुझाव नही है।
• अगर सही तरीके से संग्रह ना किया हो तो उसमे एैस्परजिलस नामक फफूँद लग सकती है जो एफलाटॉक्सीन बनाती है( एक बहुत ही जहरीला और कैंसरकारी पदार्थ), इसलिये ताज़े पीनट बटर का प्रयोग करना योग्य होता है।

पीनट मक्ख़न, पीनट बटर के फायदे, स्वास्थ्य विषयक (benefits of peanut butter in hindi)

 
• पीनट बटर विटामीन का अच्छा स्रोत है।
• यह बायोटीन, जिसे विटामीन एच भी कहते है, का अच्छा स्रोत है। बायोटीन विटामीन बी कॉम्पलरक्स का भाग है, जो वसा और प्रोटीन के रस प्रक्रिया के लिये और साथ ही विटामीन सी के प्रचूषण के लिये ज़रुरी होता है। बायोटीन बालों के लिये भी अच्छा होता है।
• यह फ़ोलोट और नायासिन (विटामीन बी ३) से भरपूर होता है जो एच.डी.एल (अच्छा कॉलेस्ट्रॉली को ३०% तक कि मात्रा में बढ़ाने मे मदद करता है।
• इसके अलावा, पीनट बटर में, सेब या गाजर कि तुलना मे, उच्च मात्रा मे ऑक्सीकरण रोधी होता है। यह इसलिये है क्योंकि यह विटामीन ई का बेहतरीन स्रोत है, जो एक प्रबल ऑक्सीकरण रोधी है जो कोशाणु मैमब्रेन में पॉलीअनसेचुरेटेड फॅटी एसिड को स्वतंत्र उग्रवादी के वार से बचाकर, कैंसर होने से बचाता है।
• इसमे उच्च मात्रा में प्रोटीन के साथ-साथ मध्यम मात्रा में ज़रुरी मिनरल जैसे लौहतत्व, मॅगनिशीयम, पौटॅशियम, कॉपर और कॅलशियम होते है। लौह लाल रक्त कोशिकाओं को बनाने में और कॅलशियम मज़बुत हड्डीयाँ बनाने में और माँस-पेशीयों में होने वाले दर्द से बचाता है।

Try Recipes using पीनट बटर ( Peanut Butter )


More recipes with this ingredient....

पीनट बटर (7 recipes)

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन