मसाला पुरी - Masala Puri ( Gujarati Recipe)
द्वारा

मसाला पुरी in Hindi

This recipe has been viewed 23603 times

Masala Puri ( Gujarati Recipe) - Read in English 



इन तीखी पुरी को खाने के समय या शाम की चाय के साथ भी परोसा जा सकता है। विकल्प के रुप में, आप इनमें काँटे से छेद कर और मध्यम आँच पर तलकर करारी पुरी भी बना सकते हैं और इन्हें अपने बच्चों के लिए संग्रह कर सकते हैं, जिससे खाने के बीच भूख लगने पर वह इन्हे खा सके! इसके अलावा, आप पुरी को तलने के बजाय बेक भी कर सकते हैं, बस इस बात का ध्यान रखें कि इन्हें बेक करने से पहले बहुत ही पतला बेलें।

मसाला पुरी - Masala Puri ( Gujarati Recipe) in Hindi

तैयारी का समय:    पकाने का समय:    कुल समय :     १० पुरी के लिये
मुझे दिखाओ पुरी

सामग्री
१ कप गेहूं का आटा
१/४ टी-स्पून हल्दी पाउडर
१/४ टी-स्पून हींग
१/२ टी-स्पून लाल मिर्च पाउडर
१ टेबल-स्पून तेल
नमक स्वादअनुसार
तेल , तलने के लिए

परोसने के लिए
ताज़ा दही
विधि
    Method
  1. सभी सामग्री को एक बाउल में मिलाकर, ज़रुरत हो उतनी मात्रा में पानी का प्रयोग कर सख्त आटा गूँथ लें। 15 से 20 के लिए एक तरफ रख दें।
  2. आटे को 10 भाग में बाँटकर, प्रत्येक भाग को 75 मिमी (3") व्यास के गोल आकार में बेल लें।
  3. एक कढ़ाई में तेल गरम करें और एक या दो पुरी डालकर, उच्च तापमान पर उनके दोनो तरफ सुनहरा होने तक तल लें।
  4. ताज़े दही के साथ गरमा गरम परोसें।
पोषक मूल्य प्रति puri
ऊर्जा47 कैलरी
प्रोटीन0.7 ग्राम
कार्बोहाइड्रेट3.9 ग्राम
फाइबर0.7 ग्राम
वसा3.2 ग्राम
कोलेस्ट्रॉल0 मिलीग्राम
सोडियम1.1 मिलीग्राम
मसाला पुरी की कैलोरी के लिए यहाँ क्लिक करें
विस्तृत फोटो के साथ मसाला पुरी की रेसिपी

अन्य पूरी रेसिपी

  1. पूरी या पूरियां लोकप्रिय भारतीय तली हुई रोटी हैं। ये आमतौर पर सब्ज़ी के साथ साइड डिश के रूप में या करी के साथ विशेष रूप से आलू के साथ परोसा जाता हैं। उत्तर प्रदेश में, उन्हें सूजी के हलवे के साथ परोसा जाता है जबकि पश्चिमी प्रदेश में, उन्हें श्रीखंड या आम रस के साथ परोसा जाता है। पूरी को एक भारी भोजन माना जाता है, इसलिए यदि आप किसी को गैस्ट्रिक की समस्या का सामना कर रहे हैं, तो थोड़ा सा अजवाइन पूरी के आटे में मिला दें। एक ऐसा ही संस्करण जिसे लुच्ची कहा जाता है, पूर्वी भारत में लोकप्रिय है। हमारी वेबसाइट में विविधताओं के साथ पूरी रेसिपीज़ का एक बड़ा संग्रह है, जिसे आप उल्लिखित कर सकते हैं और सीख सकते हैं जैसे :
    ● लुचि
    ● मसाला कूर्गी पूरियां
    ● उड़द दाल पूरियां

मसाला पुरी का आटा बनाने के लिए

  1. नरम, फूली हुइ मसाला पुरी के लिए आटा तैयार करने के लिए | गुजराती मसाला पुरी | महाराष्ट्रीयन टिखी पुरी | masala puri in hindi |, एक गहरे कटोरे में गेहूँ का आटा लें। कई लोग पूरी को कुरकुरा बनाने के लिए उसमें सूजी भी मिलाते हैं।
  2. हल्दी पाउडर डालें।
  3. मसाला पूरी के लिए, हम हींग डालेंगे। इसके अतिरिक्त, आप कुछ अजवाइन भी डाल सकते हैं जो पाचन में भी सहायता करेगा।
  4. आखिर में मैदा में मिर्च पाउडर डालें। आप लाल मिर्च पाउडर की जगह हरी मिर्च की पेस्ट मिला सकते हैं।
  5. १ टेबल-स्पून तेल डालें। पिघले हुए घी से तेल को बदला जा सकता है। यह वसा मूल रूप से नरम मसाला पूरी बनाने में मदद करता है।
  6. नमक डालें। आप स्वाद के आधार पर मसालों की संख्या और मात्रा को समायोजित कर सकते हैं।
  7. धीरे-धीरे पानी डालें और सभी सामग्रियों को मिलाएं। हमने लगभग ६ टेबल-स्पून पानी का इस्तेमाल किया है।
  8. एक सख्त आटा गूंध लें। सख्त आटा तैयार करना बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि इसे बेलने के लिए गेहूं के आटे का उपयोग नहीं करना पड़े। यदि आप रोल करते समय बहुत अधिक आटे का उपयोग करते हैं, तो इस आटे के कणों को तलते समय, तेल में जलने और जमने लगेगे और बाद में तलते समय पूरी से चिपके रहेंगे।
  9. मसाला पुरी का | गुजराती मसाला पुरी | महाराष्ट्रीयन टिखी पुरी | masala puri in hindi | आटा बनने के बाद, इसे ढक्कन या नम मलमल के कपड़े से ढक दें और १५ से २० मिनट के लिए अलग रख दें।
  10. मसाला पुरी को रोल करके तलने के लिए, २० मिनट के बाद, आटे को २४ बराबर भागों में विभाजित करें।

मसाला पूरी को बेलने के लिए

  1. रोलिंग बोर्ड पर थोड़ा तेल लगाएं।
  2. इस पर आटे का एक हिस्सा रखें और इसे हल्के से दबाएं।
  3. उसे ७५ मिमी (३") व्यास के गोल आकार मे बेल लें। यदि आप को पूरी को बेलने में कठिनाई का सामना कर रहे हैं, तो तो रोलिंग बोर्ड पर थोड़ा सा तेल लगायें जिससे आप आसानी से पूरी को बेल पायेगें। पूरी न तो बहुत मोटी होनी चाहिए और न ही बहुत पतली।
  4. इसी तरह, सभी भागों को रोल करें और एक प्लेट पर फैलाएं। पूरी को सूखने से रोकने के लिए उसे एक नम कपड़े से ढक दें।

मसाला पूरी को तलने के लिए

  1. मसाला पूरी को तलने के लिए, एक गहरी कढ़ाही में तेल गरम करें और ध्यान से एक बार में ३ से ४ पूरियों को तेल में डाल दें। तेल न तो बहुत गरम या बहुत ठंडा होना चाहिए। यह जांचने के लिए कि तेल सही तापमान पर है या नहीं, तेल में आटे का एक छोटा हिस्सा गिराएं। यदि यह जल्दी से ऊपर आ जाता है, तो तेल बहुत गरम होता है और इससे पूरी जल्दी से भूरी होती है। अगर इसमें बहुत समय लगता है, तो तेल पर्याप्त गरम नहीं होता है और इससे पूरी बहुत सारा तेल सोख लेगी। फूली हुइ पूरी पाने की तरकीब यह है की, पूरी को तेल में डालें और धीरे से इसे स्लोटेड चम्मच के साथ दबाएं।
  2. २ से ३ मसाला पूरी को एक समय में तले, जब तक वे दोनों ओर से सुनहरे भूरे रंग के न हो जाएं।
  3. गुजराती मसाला पुरी को तेल सोखने वाले कागज़ में निकाल लें।
  4. मसाला पुरी | गुजराती मसाला पुरी | महाराष्ट्रीयन तिखट पुरी | masala puri in hindi | गरमा गरम परोसें। आप इंस्टंट आम का छुन्दा, रसावाला बटेटा नू शाक और ताजे दही के साथ मसाला पूरी का आनंद ले सकते हैं।


Reviews