This category has been viewed 632 times
 Last Updated : Oct 19,2019


 भारतीय स्वस्थ > विटामिन बी रेसिपी, भारतीय विटामिन बी रेसिपी



B Vitamins - Read In English

विटामिन बी रेसिपी, भारतीय विटामिन बी रेसिपी, Vitamin B recipes in Hindi

 

हमारे विटामिन बी रेसिपी, भारतीय विटामिन बी रेसिपी, Vitamin B recipes in Hindi के अलावा अन्य विटामिन युक्त व्यंजन रेसिपी, Vitamin Rich Recipes in Hindi को जरूर आजमाइए।

विटामिन बी 5 रिच पैंटोथेनिक एसिड रेसिपी रेसिपी
विटामिन बी 7 बायोटिन रिच रेसिपी रेसिपी
विटामिन ए चमकती त्वचा के लिए आहार रेसिपी
विटामिन बी1 थायमीन की रेसीपी रेसिपी
विटामिन बी 12 कोबालामिन युक्त रेसिपी
विटामिन बी 3 और नियासीन युक्त रेसिपी
विटामिन बी 6 आहार युक्त रेसिपी
विटामिन बी 9 रिच फोलेट की रेसिपी
विटामिन C युक्त आहार स्मूदीस् मिल्कशेक रेसिपी
विटामिन E युक्त आहार नेत्र स्वास्थ्य और नज़र के लिए रेसिपी
विटामिन E युक्त आहार चमकती त्वचा के लिए रेसिपी
बाल बढ़ाने के लिए विटामिन E युक्त रेसिपी रेसिपी
विटामिन K युक्त व्यंजन रेसिपी


Top Recipes

मीठा, स्वादिष्ट और पौष्टिक भी- यह एक अनोखा मेल है, है ना? देखा गया तो, यह डेट एण्ड सेसमे पुरणपोली एक पारंपरिक व्यंजन है, जो खजूर और तिल से लौहतत्व से भरपुर है। यह अपने मेवेदार स्वाद और तिल की खुशबु से आपका दिल जीत लेगा, और यह इतना स्वादिष्ट है कि यह अपने आप में ही संपूर्ण खाना है। यह बेहद पौष्टिक मीठा व्यंजन दादी माँ की विधी है, जो गर्भवती महिलाओं को अचानक भूख लगने पर मदद करता है!
इस सूप में ताज़े हरे मटर का स्वाद ताज़े बेसिल के साथ बखूबी अच्छा साथ देता है। हमने इस सूप को बिना छाने बनाया है ताकि उसकी फाइबर की मात्रा बनी रहे। नमक के प्रतिबंधित उपयोग के कारण यह सूप उच्च रक्तचाप वाले लोगों के लिए बढ़िया विकल्प है। हालंकि हमने इस सूप में मर्यादित नमक का उपयोग किया है, पर बेसिल के मिलाने के कारण यह अत्यधिक स्वादिष्ट बनता है। और तो और, बेसिल इस सूप को सुगंधित भी बनाता है। अन्य कम नमक वाले सूप जैसे कि कॅरट एण्ड बेल पेपर सूप और वन मील सूप, कम नमक रेसिपी भी जरूर आज़माइए।
लो-फॅट पनीर से बना एक बेहद स्वादिष्ट सूप। पालक, पनीर और दाल का यह सूप कॅलशियम और प्रोटीन से भरपुर है, जो हड्डीयों को मज़बूत रखने में और खराब ऊतक को ठीक करने में मदद करते हैं।
क्या आपने कभी जौ की खिचडी बनाने के बारे में सोचा है? एक बार आज़माकर देखिए और फिर आप इसे अपनी कृती में जरूर ही दोहरते रहना चाहोंगे। जौ और बहुत सारी पौष्टिक सब्जियों के संयोजन से बनती यह खिचडी एक बहुत ही रंगीन और आकर्षक पकवान है। सब सब्जियाँ इस खिचडी में थोडा करकरापन जोड़ती हैं, जबकि ज़ीरा और हरी मिर्च जैसे रोजमर्रा की सामग्री खिचड़ी को सुखद स्वाद प्रदान करते हैं। इस संतृप्त पकवान में भरपूर मात्रा में एटिऑक्सिडंट हैं, जो शरीर में मुक्त कणों से लडने की शक्ति देते हैं और रोग प्रतिकार शक्ति में बढ़ावा करने में मदद रूप होते हैं। साथ ही सब्जियों में रहने वाले फाइबर से शरीर शुद्ध होगा और वज़न भी कम होगा। इस खिचडी का मज़ा ताज़ी और गरमा-गरम खाने में ही है। मूंग दाल खिचड़ी और कर्ड राईस जैसी अन्य खिचडी की रेसीपी भी जरूर आज़माइए।
गेंहू के बिना पाव? अविश्वासनीय लगता है लेकिन सच है। यह बादाम का ब्रेड बदाम के दूध से बनाया गया है। जिन्हें पाव बनाने में अंडे का उपयोग न करना हो, उनके लिए यह नुस्खा एक बेहतर विकल्प है। यह एक बहुत ही अनोखा नाश्ता है। जो स्वाद में उत्तम है और तंदुरस्ती के लिए बी उपयुक्त है। ग्लूटिन-रहित होने के कारन ग्लूटिन संवेदनशील लोग भी इसका आनंद ले सकते हैं। प्रोटिन और अच्छी चरबी से भरपूर यह वज़न घटाने वाले लोगों और व्यायाम करने वाले लोगों के लिए भी आदर्श नाश्ता है। आप इस ब्रेड का मज़ा ऐसे ही ले सकते हैं। या फिर पीनट मक्ख़न के परोस सकते हैं। फोइल में बाँधकर इसे फ्रिज़ में रखिए, यह पाँच दिनो तक ताज़ा रहता है। अन्य ब्रेड रेसिपी को भी आजमाईए जैसे होल व्हीट ब्रेड और होल व्हीट ब्रेड रोल्स्
फ्रूट ऐन्ड नट मिल्कशेक गर्भवती महिलाओं के लिए एक आदर्श नाश्ता बन सकता है जिन्हें आम तौर पर थोडे-थोडे समय पर छोटे भोजन की सलाह दी जाती है। प्रतिग्लास 8. 1 ग्राम प्रोटिन के साथ यह अपनी ऊर्जा और अन्य पोषक तत्वों से गर्भ में पलनेवाले बच्चे के विकास में मदद रूप होता है।
कड़ी को गुजराती पाकशैली से अलग नहीं किया जा सकता। देखा गया तो यह बेसन से गाढ़ा बनाए गए दही का एक मीठा और तीखा मिश्रण है, जिसे बहुत से तरीको से मज़ेदार बनाया जा सकता है और अन्य सामग्री मिलाई जा सकती है जैसे पकौड़े और कोफ्ते। इस आसान से व्यंजन को बनाने के लिए आपको विशिष्ट तकनीक अपनाना है, जिसके लिए अभ्यास की आवश्यक्ता है। याद रखें कि कड़ी को कभी भी तेज़ आँच पर ना उबाले, जिससे दही फट सकता है।
दक्षिण भारतीय थाली का पछड़ी एक बेहद महत्वपुर्ण भाग है, चाहे वह तमिलनाडू हो या आन्ध्र-प्रदेश या अन्य श्रेत्र! पछड़ी को चावल के साथ परोसा जा सकता है या किसी तीखे मिले-जुले चावल से बने व्यंजन के साथ जैसे इमली चावल आदि। देखा गया तो, पछड़ी के बिना किसी भी त्यौहार का खाना अधुरा होता है।
घर का बना बादाम का मक्ख़न एक अनोखा और किसी को भी ललचा दे ऐसा बनता है। दरसल यह वर्णित करने से ज्यादा अनुभव करने जैसा है। यहाँ बादाम को पीसने से पहले भूना गया है, इसलिए यह अधिक स्वादिष्ट लगते हैं। थोड़ा सा नारियल का तेल इस मक्ख़न की पौष्टिकता बढ़ाने के साथ-साथ अधिक स्वादिष्ट भी बनता है। यह बादाम का मक्ख़न प्रोटिन का एक बहुत अच्छा स्त्रोत है, जबकि नारियल आपको मध्यम श्रृंखला ट्रायग्लिसराइड के स्वास्थ फैटी एसिड प्रदान करते हैं। बाज़ार में मिलने वाले बादाम के मक्ख़न से घर पर बनाया गया मक्ख़न बेहतर होता है, क्योंकि बाज़ार में मिलने वाले मक्ख़न में अधिक मात्रा में शक्कर और हाइड्रोजनेटेड वनस्पति होते हैं। इसके अलावा घर पर यही मक्ख़न आधे दाम में भी बनाया जा सकता है। और हाँ, यह मक्ख़न बनाने के लिए आपको महंगे और बड़े बादाम खरीदने की जरूरत नहीं हैं, क्योंकि इन्हें पीसना ही है। केवल एक चीज़ यह है कि आपको थोडा धौर्य होना चाहिए, जिससे की आप बादाम को धिरे-धिरे पीसें और हर आधे मिनट पर स्विच बंद करें। यह बादाम का मक्ख़न एक ग्लास की बोतल में भरकर फ्रिज़ में संग्रह करें तो यह 25 दिनों तक ताज़ा रहता है। यदि आप कमरे के तापमान पर इसका संग्रह करेंगे तो यह 15 दिनों तक ताज़ा रहता है। पर एक बात का ध्यान रहे कि यदि आपने इसे बनाकर इसका संग्रह फ्रिज़ में किया है, तो फिर इसे फ्रिज़ में ही रखें। और फिर जब भूख लगे तब 1 चम्मच भर इसका मज़ा ले सकते हैं। यह वज़न घटाने वालों के लिए एक उपयुक्त नाश्ता है क्योंकि इसमें पाए जाने वाले सही वसा आपको लंबे समय तक तृप्त होने का एहसास देते हैं। घर का बना हुआ मूंगफली का मक़्खन भी आजमाईए।
यह एक भव्य ब्राउन राइस का नुस्खा है जिसमें स्वादिष्ट अंकुरित दाने, हरे प्याज़ और अन्य सब्जियों के साथ मनमोहक पर आम मसालों का समावेश है। चावल और मटकी का संयोजन इस पकवान की प्रोटिन गुणवक्ता में सुधार करता है। साथ यह लोहतत्व, फोलिक एसिड और विटामिन बी-1 जैसे पोषक तत्वों से भरा हुआ है। यह ब्राउन राईस के साथ मिले-जुले अंकुरित दाने टिफिन में पैक करने के लिए एक अच्छा पकवान है। पूरा परिवार इसे बड़े चाव से खाएगा यह हमारा दावा है। इसमें उपयोग किए गए ब्राउन राइस, सफेद चावल की तुलना में स्वास्थ्य माने जाते हैं, इसलिए वज़न और स्वास्थ्य पर नज़र रखनेवाले भी इसका सेवन कभी-कभी कर सकते हैं।

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन