This category has been viewed 25609 times
 Last Updated : Jan 19,2020


  > बच्चों के लिए



Kids Recipes - Read In English
બાળકોનો આહાર - ગુજરાતી માં વાંચો (Kids Recipes in Gujarati)

बच्चों का आहार : Kids Recipes, Easy Kids Recipes in Hindi 


Top Recipes

Goto Page: 1 2 3 
स्टफ्ड कौलीफ्लावर पराठा, यह एक बेहतरीन तरीका है, स्वास्थयवर्धक कौलीफ्लावर बनाने का। यह पराठे काफी कुरकुरे और स्वादिष्ट है, जिसे कोई भी मना नहीं कर सकता। गेहूं का आटा और अधिक मात्रा में फूलगोभी इस पकवान को पौष्टिक बनाते हैं, जब कि सुगन्धित धनिया और पुदिना के साथ हरी मिर्च, इन पराठों को प्राकृतिक सुगंध देते हैं, जो किसी की भी भूक बढ़ा दे।
मिक्सड वेजिटेबल पराठा, उत्तर भारत का एक पौष्टिक सुबह का नाश्ता है जो इतना स्वादिष्ट है कि इसके साथ किसी भी प्रकार का अन्य व्यंजन कि आवश्यक्ता क ज़रुरत नही होती! अपने फ्रिज से किसी भी सब्ज़ी को चुनकर इस पराठे मे भर सकते है। थोड़े से मसाले इस पराठे को और भी स्वादिष्ट बनाते है और साथ ही चम्मच भर मक्ख़न इसकी खुशबु और स्वाद को निहरता है।
बुज़र्गो का यह कहना है कि "बराबद ना करें वरना बचेगा नहीं"। देखा गया तो, अगर बचे हुई सामग्री का प्रयोग इस व्यंजन की तरह मज़ेदार होता, तब तो मज़ा ही आ जाए! भात ना पूडला एक मज़ेदार पॅनकेक है जिसे मसले हुए बचे हुए चावल से बनाकर करारा बनाया जाता है। धनिया, जिसका प्रयोग अकसर सजाने के लिए किया जाता है, इस व्यंजन में मुख्य भाग निभाता है और खास स्वाद और रंग प्रदान करता है। इस खुशबुदार पूडले के साथ पारंपरिक छून्दा बेहद अच्छी तरह जजता है।
एक पारंपरिक गुजराती व्यंजन, यह छोला दाल पुडला एक स्वादिष्ट पॅनकेक है, जिसे भिगोए और पीसे हुए छोला दाल में मेथी और अन्य आम सामग्री मिलाकर घोल से बनाया गया है। आपको यह बेहद स्वादिष्ट, करारे पॅनकेक संपूर्ण और स्वादिष्ट लगेंगे, जो बेसन से बने आम चीले से दोगुना बेहतर लगते हैँ।
अगर आपके पास ढ़ोकले तैयार हैं, तो इस स्वादिष्ट संपूर्ण व्यंजन को झटपट बनाया जा सकता है! रसावाला ढ़ोकला और कुछ नही लेकिन मीठे और तीखे रस (पतला सॉस) में भिगोए हुए खमन ढ़ोकले हैं। ढ़ोकले को रसे में परोसने के तुरंत पहले डालकर धिमी आँच पर उबाल लें, जिससे इस व्यंजन को पर्याप्त तरह से बनाया जा सके और आप इसके स्वाद का मज़ा ले सके।
मुठीया मुठ्ठी के आकार का एक गुजरातियों का पसंदीदा नाश्ता है। इसमें दूधी और प्याज़ के साथ उपयुक्त मात्रा में सूजी, गेहूं के आटे और बेसन का संयोजन है। जबकि हरी मिर्च, अदरक और धनिया इस दूधी मुठीया को अधिक लज़ीज बनाते हैं, तो दूसरी ओर सरसों और तिल का पारंपारिक तड़का इन्हें खूश्बूदार और करकरापन प्रदान करते है। स्टीमर से निकालकर गरमा-गरम ही इनका आनंद लें।
मोहनथाल एक और मशहुर गुजराती मिठाई है। इस मिठाई को सही तरह से बनाना ज़रुरी होता है, कयोंकि एक तार वाली चाशनी इस व्यंजन को अच्छी तरह से बनाने का मूल है। अगर बहुत ज़्यादा पक जाए, इस व्यंजन के रंग और स्वाद पर प्रभाव पड़ता है। साथ ही, इस व्यंजन को नरम रुप प्रदान करने वाले मावा को बेसन के अच्छी तरह सुनहरा होने के बाद डालने के बाद मिलाना चाहिए।
गोलपापड़ी रेसिपी | गुड़ पापड़ी | सुखड़ी | गुजराती गुड़ पापड़ी | Golpapdi recipe in hindi language | with 16 amazing images. गुड़ पापड़ी एक पारम्परिक गुजराती स्वीट डिश है, जो पूरी-गेहूँ के आटे और गुड़ से तैयार होती है। यह गेहूं से बना मीठा, किसी भी पारंपरिक गुजराती मिठाई की तुलना मे बनाने में बेहद आसान है। चूंकी गुड़ पापड़ी बहुत ज़्यादा घी का प्रयोग नही किया जाता है और इसे बनाना भी बेहद आसान है, आप इसे शाम के नाश्ते के लिए भी बना सकते हैं। गुड़ को पतला कीसने का ध्यान रखें, जिससे इसके मिश्रण में डल्ले ना बने। सर्दीयों के मौसम में, आप इसमें गौंद भी डाल सकते हैं, जैसे बहुत से गुजरात के श्रेत्रों में किया जाता है। सुखड़ी को एक एयर-टाइट कंटेनर में स्टोर करें। परंपरागत रूप से सुखड़ी को सर्दियों के दौरान खाया जाता है क्योंकि यह आपके शरीर को गर्माहट प्रदान करता है। मेरे पास आमतौर पर गोल पापड़ी बनाई और संग्रहीत की जाती है जो मिठाई की लालसा को मारने में मदद करती है। नीचे दिया गया है गोलपापड़ी रेसिपी | गुड़ पापड़ी | सुखड़ी | गुजराती गुड़ पापड़ी | Golpapdi recipe in hindi language | स्टेप बाय स्टेप फोटो और वीडियो के साथ।
मूंग भेल | स्प्राउट्स भेल | moong bhel recipe in hindi मूंग भेल, यह मुरमुरे से बने अद्भुत स्नैक को कैल्शियम से भरपूर मूंग स्प्राउट्स के साथ बनाया गया है और साथ में कटे हुए टमाटर, प्याज और मसालों को भी मिलाया गया है। यह स्वादिष्ट स्नैक दिनभर दौड़ने के लिए पर्याप्त एनर्जी और स्टैमिना देता है और साथ ही हड्डियों को भी मजबूत बनाता है।
इन तीखी पुरी को खाने के समय या शाम की चाय के साथ भी परोसा जा सकता है। विकल्प के रुप में, आप इनमें काँटे से छेद कर और मध्यम आँच पर तलकर करारी पुरी भी बना सकते हैं और इन्हें अपने बच्चों के लिए संग्रह कर सकते हैं, जिससे खाने के बीच भूख लगने पर वह इन्हे खा सके! इसके अलावा, आप पुरी को तलने के बजाय बेक भी कर सकते हैं, बस इस बात का ध्यान रखें कि इन्हें बेक करने से पहले बहुत ही पतला बेलें।

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन