This category has been viewed 14145 times
 Last Updated : Sep 18,2019


 त्योहार और दावत के व्यंजन > ओकेसनल पार्टी त्योहार के व्यंजन > दीवाली



Diwali - Read In English
દિવાળીની રેસિપિ - ગુજરાતી માં વાંચો (Diwali recipes in Gujarati)

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 



Top Recipes

एक मज़ेदार कचौड़ी वह होती है जो बाहर से फूली हुई और करारी हो और अंदर से खोखली जहाँ इसका भरवां मिश्रण किनारों पर चिपका हुआ हो। यह व्यंजन विधी अपनी रसोई में मज़ेदार कचौड़ी बनाने की है। स्वाद से भरी मूंग दाल के भरवां मिश्रण से भरी, इस कचौड़ी को समय लेकर धिमी आँच पर तला गया है जिससे बाहर कि परत करारी और खोखली बनती है और अंदर का भाग पुरी तरह से पक जाता है। इस मूंग दाल कचौड़ी को हवा बंद डब्बे में 2 से 3 दिनों के लिए रखा जा सकता है। परोसने से तुरंत पहले कचौड़ी को अवन में 7 से 10 मिनट के लिए गरम कर लें और दही और चटनीयों के साथ परोसें!
पत्तेदार सब्जियाँ विशेष रूप से मेथी, रक्तशर्करा को नियंत्रित करके मधूमेह के लिए फायदाकरक होती हैं। इतना ही नहीं मेथी किसी भी व्यंजन में एक अपना ही हल्का-सा कडवा स्वाद भी जोड देती है। यहाँ मेथी को गेंहू के आटे, ओटस्, तिल और अजवायन के साथ मिलाकर एक स्वस्थ नाश्ता तैयार किया है। इस रोटी में दही को स्वस्थ मेथी क्रिस्पी की बनावट बेहतर बनाने के लिए और हल्की सी खट्टास के लिए मिलाया गया है, जो मेथी की कड़वाहट को संतुलित करती है। इन्हें बनाकर हवा-बंद डिब्बे में भरकर रखिए और जब चाहें तब इसका आनंद लें।
श्रीखंड एक आसान तरीके से, दही का एक मिठाई में चमतकारी बदलाव है। इसे बनाने के लिए पकाने की आवश्यक्ता नहीं होती और इसे रविवार के खाने में, त्यौहारों में और साथ ही फराली खाने में अकसर परोसा जाता है! चीज़े और भी आसान हो जाती है क्योंकि आप इसे पहले से बनाकर रख सकते हैं और लगभग 15 दिनों के लिए फ्रिज़र में रख सकते हैं। बेहतरीन परिणाम के लिए ताज़े दही का प्रयोग करें।
बारीक पीसी हुई सब्ज़ीयाँ, पनीर और खोया का अनोखा मेल, यह सही मायने में एक बेहतरीन अनुभव है!
पारंपरिक मिठाईयों को घर पर बनाने के लिए केवल थोड़ी समझदारी की आवश्यक्ता है। उदाहरण के तौर पर, इस मलाई बर्फी को तैयार मावे से, घर पर आसानी से झटपट बनाया जा सकता है। जहाँ मिठाई को को बनाकर ठंडा करने में सारा दिन लगता है, आप रसोई में काम के समय को इस व्यंजन का पालन कर कम कर सकते हैं। इसलिए, इस मलाई बर्फी को घर पर बनाऐं और अपने परिवार और दोस्तों को यह शानदार व्यंजन परोसें और उनके चेहरों पर खुशी देखें।
कॅलरी से मुक्त, कभी भी खाने वाला सबका पसंदिदा व्यंजन! माइक्रोवेव मे इसे बनाकर तेल की मात्रा कम की है जिससे आपके फराल के दिनों में वसा की मात्रा कम रहेगी।
आपको इन स्वादिष्ट दाल वड़ो का मज़ेदार करारापन ज़रुर पसंद आएगा। भिगोई हुई चना दाल के दरदरे पेस्ट को प्याज़, अदरक के पेस्ट और बहुत से पारंपरिक मसालों से बने इन वड़ो में एक अलग, अनोखा स्वाद और रुप है जो बहुत से लोंगो की भूख बढ़ा सकता है। ध्यान रखें कि इन वड़ो को मध्यम आँच पर ही तले। अन्यथा, यह बहरा से सुनहरे हो जाऐंगे और अंदर से कच्चे।
मिनटों मे तैयार होने वाला बेहद स्वादिष्ट डेज़र्ट, जिसे रोज़ प्रयोग होने वाली सामग्री से माईक्रोवेव में बनाया गया है! इस शानदार सूजी के हलवे मे आपको केले का स्वाद और उसका मुलायम रुप मिलेगा। दूध, केला आदि मिलाने से पहले सूजी को घी में भुनना ज़रुरी है, जिससे हलवे का रुप शानदार बनता है। इस सुनजी के हलवे का मज़ा गरमा गरम और ताजा परोसने पर आता है। आप इस हलवे को दिवाली , गणेश चतुर्थी और रक्शा बन्धन जैसे त्य़ौहारों मे भी बना सकते हैँ।
आपने काजू से बना पुलाव ज़रुर खाया होगा, लेकिन आल्मन्ड बिरयानी के बारे में आप क्या सोचते हैं? मसालों की खुशबुओं से भरा एक अनोखा चावल से बना व्यंजन, इस अल्मन्ड बिरयानी में फण्सी और हरे मटर को स्लाईस्ड बादाम के साथ मिलाया गया है, जो इस व्यंजन को करारापन प्रदान करता है। पके हुए चावल और बिरयानी मसाले के प्रयोग से इस व्यंजन को झटपट बनाया जा सकता है। तले हुए प्याज़ और बादाम से इस बिरयानी को सजाया गया है।
ठंड के दिनों में चाय के साथ परोसने के लिए एक पर्याप्त व्यंजन, इस राजस्थानी व्यंजन को बनाना बेहद आसान भी है। दरदरी पीसी हुई चना की दाल के पेस्ट से बने हुए घोल को हरी मिर्च, प्याज़. खड़ा धनिया आदि के स्वाद से भरा गया है। कलमी वड़े बेगद कुरकुरे लगते हैं और इनका स्वाद मज़ेदार होता है, जिससे आप एक ही वड़े से संतुष्ट नहीं होंगे! पर्याप्त रुप पाने के लिए, आप यह सुनिश्चित कर लें कि दाल को मुलायम ना पीसते हुए दरदरा ही पीसें।

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन