This category has been viewed 10473 times
 Last Updated : Dec 12,2018


 विभिन्न व्यंजन > भारतीय व्यंजन > बंगाली व्यंजन



Bengali Recipes - Read In English
બંગાળી વ્યંજન - ગુજરાતી માં વાંચો (Bengali Recipes in Gujarati)

हमारे अन्य बंगाली व्यंजनों की कोशिश करो …
बंगाली रोटी पुरी रेसिपी : Bengali Roti Puri Recipes in Hindi
बंगाली सब्जी़ ग्रेवी रेसिपी : Bengali Subzi Recipes in Hindi
बंगाली मिठाई रेसिपी : Bengali Sweet Recipes in Hindi
बंगाली नाश्ता रेसिपी:Bengali Snacks Recipes in Hindi
हैप्पी पाक कला!

 



Top Recipes

नुस्खा बनाने में कितना पेचीदा है उसका स्वाद से कोई लेना-देना नहीं है और यह व्यंजन इस बात को सिद्ध करता है। बंगाली रसोई की यह साधारण दाल कलई पकाई हुई उड़द दाल को सौंफ और अदरक की पेस्ट मिलाकर मज़ेदार बनाई गई है। इस पेस्ट के साथ हरी मिर्च का तड़का इस दाल को एक विशिष्ट रूप से स्वादिष्ट और सुगंधित बनाता है, जिससे सभी इसे खाने के लिए ललचा जाते हैं। बस आप एक बार यह नुस्खा आज़माइए और निश्चय ही इसकी सादगी में खो जाएँगें। वास्तव में यह बनाने में भी बहुत आसान है इसलिए सबसे व्यस्त दिनों में भी आप इसे झटपट तैयार कर सकते हैँ। चूकिं इसमें बहुत तेल या क्रीम नहीं मिलाया गया है, यह दाल मधुमेह और वजन पर नज़र रखने वालों के लिए भी अच्छा विकल्प है। इस दाल कलई को आलू पनीर रोटी और गार्लिक रोटी के साथ परोसे ।
बंगाली स्टाईल खिचड़ी एक खुशबूदार और सब्ज़ीयों और दाल से एक भरपुर व्यंजन है। कह सकते हैं कि यह एक स्वाद और ऊर्जा से भरा आहार है। साबूत या मसालों के पाउडर की जगह पीसे हुए मसालों का प्रयोग इस व्यंजन में को एक अनोखा रुप प्रदान करता है-आप यह इस खिचड़ी को बनाने के समय देख सकते हैं।
प्याज़ कि रोटी स्वादिष्ट होने के साथ-साथ थोड़ी तीखी होती है, जो सारे परिवार को पसंद आती है। ज़ीरा, अदरक, धनिया और हरी मिर्च के स्वाद यह संपूर्ण गेहूँ से बनी रोटी बेहद स्वादिष्ट और पौष्टिक है- जहाँ इसे किसी सब्ज़ी के साथ या दही और अचार के साथ भी परोसा जा सकता है।
उबले हुए और कसे हुए आलू इस रोटी को इतना नरम बनाते है कि यह आपके मूँह मे जाते ही पिघल जाते है! साथ ही, आलू की रोटी आपके घर पर बचे हुए आलू को प्रयोग करने का आसान तरीका है, क्योंकि यह व्यंजन पुराने आलू का प्रयोग और भी बेहतर बनता है।
नारीयल की मिठी रोटी एक मशहुर स्वादिष्ट व्यंजन पुरन पोली का एक विकल्प है, जिसे गेहूँ के आटे से बनाकर एक हल्का भरवां मिश्रण बनाया गया है। आटे में थोड़ा नमक मिलाने से यह भरवां मिश्रण की मीठास बढ़ाने में मदद करता है। आप इसमें अपनी पसंद अनुसार जायफल और शक्कर की मात्रा को कम या ज़्यादा कर सकते हैं।
राजस्थानी घरों में आम तौर पर पाये जाने वाली मिली-जुली सामग्री से बनी, यह मूली मकई की रोटी ना केवल बेहद स्वादिष्ट है, लेकिन साथ ही संपूर्ण भी। जहाँ पारंपरिक रुप से इन रोटी को तवे पर ही हाथों से चपटा किया जाता है, यहाँ हमने इन्हें आसान तरीके से बनाया है, जिसे कोई भी बना सकता है। बस याद रखें कि इन रोटी को बनाकर तवे से उतारकर, गरमा गरम दाल या सब्ज़ी के साथ तुरंत परोसें।
छोटे होने के बाद भी तिल लौहतत्व का खज़ाना है और साथ ही बेहद शानदार खुशबु के भरे। यहाँ, हमनें पारंपरिक बंगाली निम्की के विकल्प को बनाने के लिए तिल और पालक को ज्वार और गेहूं के आटे के साथ मिलाया है। साथ ही यह देखना मज़ेदार है कि हमने इस पालक तिल ज्वार निम्की को तेल में तलने की जगह तवे पर पकाया है, जो इस स्वादिष्ट नाश्ते को और भी पौष्टिक बनाता है।
यह एक बंगाली व्यंजन है जिसे अधिकांश लोग मजे से नाश्ते के रूप में खाते हैं। इसे बहुत ज्यादा तेल में नहीं पकाया गया है, इसीलिए यह सेहमतमंद है। वहीं मसालों और धनिया की छटा उसका जायका और मोहकता बढ़ा देती है। इसे खाने पर पूरी संतुष्टि मिलती है और फिर दूसरे तले हुए नाश्ते खाते रहने का मन नहीं होता। डायबटिक के लिये ओट्स एण्ड मूंग दाल दही वड़ा या मूंग दाल एण्ड कॉलीफ्लावर ग्रीन्स अप्पे जैसे व्यंजन भी बनाकर देखें।
खस-खस, जिसे अकसर मिठाई या गाढ़ी ग्रेवी के साथ संबंधित किया जाता है, लौहतत्व का अच्छा स्रोत होता है! यहाँ इनका प्रयोग झटपट और आसान सी सब्ज़ी बनाने के लिए किया गया है। रिड्ज गॉर्ड विद पॉपी सीड्स का स्वाद मेवेदार होता है और दिखने में यह बेहद अच्छी लगती है। इसे अपनी पसंद की गरमा गरम रोटी के साथ परोसें।
अगर बैंगन को मज़ेदार तरीके से पकाया जाये तो किस बात की चिंता है? यह बैंगन से बना व्यंजन सबको बेहद पसंद आयेगा। पकाने से पहले बैंगन में नमक लगाकर रखने से यह सुनिश्चित होता है कि झट-पट बैंगन की सब्ज़ी ना केवल झट-पट बनती है, लेकिन साथ ही बनाने में बेहद आसान है।

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन