This category has been viewed 120323 times
 Last Updated : Jul 16,2019


 विभिन्न व्यंजन > भारतीय व्यंजन



Indian Veg Recipes - Read In English
ભારતીય વ્યંજન - ગુજરાતી માં વાંચો (Indian Veg Recipes in Gujarati)

भारतीय वेज  व्यंजन, भारतीय रेसिपी



Top Recipes

पत्तागोभी से बनी हुई यह एक सूखी सब्ज़ी है। इसी तरह बीन्स्, गवार फल्ली, साबर बीन्स्, गाजर आदि जैसी सब्ज़ीयों को भी बनाया जा सकता है। पारंपरिक दक्षिण भारतीय खाने में इस प्रकार की एक सब्ज़ी को हमेशा परोसा जाता है।
जोधपुर अपने मावा कचौड़ी के लिए मधहुर है। सूखे मेवे और मावा (खोया) से भरी, करारी तली हुई कचौड़ी को चाश्नी से ढ़का गया है। इन कचौड़ीयों का मज़ा दिन के किसी भी समय लिया जा सकता है। इन मीटी कचौड़ी को अकसर "गुजीया" कहा जाता है और होली के पर्व में इन्हें "खास तौर" पर बनाया जाता है।
रोज़ प्रोयग होने वाली सामग्री, कम समय और बहुत ही कम मेहनत, इस स्वादिष्ट और मूँह में पानी लाने वाली चटनी बनाने के लिए केवल इनकी ज़रुरत है! बीज का आम तड़का और आम मसाले पाउडर का प्रयोग, सौम्य टमाटर को एक शानदार व्यंजन में बदलते हैं। देखा गया तो, सामग्री का पर्याप्त मेल और झटपट बनाने का तरीका, टमाटर के खट्टेपन को इस व्यंजन में बेहतरीन तरह से बनाए रखते हैं। इस टमाटर की लौंजी को अपने पसंद की रोटी के साथ गरमा गरम और ताज़ा परोसें।
रास्थानी पाकशैली हमें अपने आम लेकिन स्वादिष्ट व्यंजन के साथ अचंभित करती है। कम से कम सामग्री के प्रयोग के बाद भी और अकसर बिना ताज़ी सब्ज़ी या हरी भाजी के प्रयोग के बिना, राजस्थानी उनकी रोटी और चावल के साथ परोसने के लिए संपूर्ण और स्वादिष्ट व्यंजन बनाने के लिए जाने जाते हैँ। बाजरा की रोटी के साथ परोसी जाने वाली राबड़ी एक ऐसा ही उदाहरण है, जहाँ दही और बाजरा के आटे को स्वाद के लिए केवल नमक और हींग के साथ कुछ मिनट के लिए साथ पकाया जाता है। फिर भी रबाड़ी इतनी स्वादिष्ट लगती है, कि यह रोटी को आम से ज़्यादा स्बादिष्ट बनाती है! केवल इस बात का ध्यान रखें कि राबड़ी को परोसने से पहले ठंडा ज़रुर कर लेँ।
पारंपरिक मिठाईयों को घर पर बनाने के लिए केवल थोड़ी समझदारी की आवश्यक्ता है। उदाहरण के तौर पर, इस मलाई बर्फी को तैयार मावे से, घर पर आसानी से झटपट बनाया जा सकता है। जहाँ मिठाई को को बनाकर ठंडा करने में सारा दिन लगता है, आप रसोई में काम के समय को इस व्यंजन का पालन कर कम कर सकते हैं। इसलिए, इस मलाई बर्फी को घर पर बनाऐं और अपने परिवार और दोस्तों को यह शानदार व्यंजन परोसें और उनके चेहरों पर खुशी देखें।
वाल नी दाल एक बेहद और अनोखा व्यंजन है, जिसे वाल से बनाया गया है, जिसे गुजराती घरों में अकसर बनाया जाता है। इस व्यंजन में प्रयोग होने वाले मसालों के चुनाव को किशमिश एक मज़ेदार अनोखापन प्रदान करती है। चावल और पसंद की मिठाई के साथ इसे जब परोसा जाता है, वाल नी दाल त्यौहारों के लिए पर्याप्त बनता है!
टिक्का एक प्रामाणिक पंजाबी नाश्ता है जिसे तंदूर में बनाया जाता है। मूल रूप से टिक्का बनाने में किसी भी सब्ज़ी, पनीर या माँस के टुकडों को एक बहुत ही स्वादिष्ट मसाले में मेरिनेट करने के बाद ग्रीलर में ग्रील किया जाता है। इस नुस्खे में पनीर के टुकड़ों को दही, चाट मासाला, कसूरी मेथी, अदरक और लहसुन के संयोजन से तैयार किए गए तेज़ स्वादवाले मेरिनेड में मेरिनेट करने के बाद ऑवन में पकाया गया है। यह पनीर टिक्का ऐसे ही खाया जा सकता है या फिर थोडी सी चटनी के साथ रोटी में लपेटकर पंजाबी रोल भी बनाया जा सकता है।
एक ऐसा रसम जो कहसुन के गुणों से भरा हुआ है, यह पाचन के साथ-साथ स्वस्थ के लिए भी लाभदायक होता है। इस रसम को कम से कम 15 दिन में एक बार ज़रुर बनाऐं और इसके पौषण लाभ के साथ इसके स्वाद का मज़ा लें।
महाराष्ट्र के व्यंजनों में से सबसे प्रसिद्ध मिसल है, जो अंकुरित दानोँ और फरसाण के संयोजन से बनता है। स्वादिष्ट अंकुरित दानों को खट्टे टमाटर, तेज़ स्वादवाले प्याज़ और विशेष नारियल-प्याज़ वाले मिसल मसाले के साथ पकाया गया है। फिर फरसाण, बटाटा पोहा आदि को उपर से छिड़क कर लादी पाव के साथ परोसकर इसे और शानदार बनाया गया है। मिसल की सबसे बड़ी खासियत है कि इसे सुबह के नाश्ते में, रात के भोजन में या फिर जब आपका मन चाहे तब खा सकते हैं।
भावनगरी मिर्च को हम अक्सर पनीर, चीज़, आलू या मिली जुली सब्ज़ियों से भरकर बनाते है और फिर तलते है। अपने खाने की शुरूआत जरा इस स्वादिष्ट कुरकुरे व्यंजन से कर के तो देखिए।

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन