This category has been viewed 3569 times
 Last Updated : Aug 16,2019


 भारतीय स्वस्थ > टायफ़ायड



Typhoid - Read In English
ટાઈફોઈડ રેસિપિ - ગુજરાતી માં વાંચો (Typhoid recipes in Gujarati)

टायफ़ायड रेसिपी : Typhoid Recipes in Hindi



Top Recipes

इस ताज़गी भरे पेय की संरचना इतनी सुंदर है कि आपके द्वारा आज तक चखे गये किसी भी पेय से अनोखी है। नारियल पानी के साथ नारियल की मलाई की बनावट बहुत ही रसदार है और जब इसे ठंडा परोसा जाए तो वह अपने हलके मिठे स्वाद से आपकी स्वाद कलिकाओं में सनसनाहट लाएगी, जो नारियल पानी का अनोखा स्वाद हैं। नारियल पानी को पहले ठंडा करें लेकिन इस पेय को परोसने से पहले ही मिक्सर में पिसें। इस मिश्रण को पिसकर फिर फ्रिज में ना रखे क्य़ोकि आप इसके ताजे स्वाद और बनावट को खो देंगे।
तरबूज और नारियल पानी का यह नया संयोजन एक ताज़गीभरा पेय बनाता है, जो अपके तालू को लूभाता है और साथ ही शरीर के हर कोशिका को भी ताज़गी देता है।तरबूज एक ठंडा फल है, जो नारियल पानी के साथ मिलाने से और भी बेहतरीन बनता है और पेट के एसिड को संतुलित करने में प्रभावी है। तरबूज और नारियल पानी के पेय में तरबूज के आकर्षक रंग और स्वाद के साथ नारियल पानी के विशिष्ट स्वाद और प्रफुल्लित स्वादवाले ज़ीरा पाउडर का संयोजन है। इस पेय का कुल प्रभाव आपको जरूर पसंद आएगा। खरबुजा और पुदीने का ज्यूस और मिन्ट ड्रिंक जैसे अन्य पेय भी जरूर अज़माइए।
सामान्य रूप से उपयोग होने वाली दाल को जब सही सामग्री के साथ मिलाया जाए तब एक शानदार व्यंजन बन सकता है। लहसुन और टमाटर इस बहूमुखी दाल को तेज़ स्वाद प्रदान करते हैं जो चावल और फुल्कों के साथ एक अच्छा संयोजन बनता है। मूँग दाल से मिलता फॉलिक एसिड़ इस दाल के लिए अधिक रूप से लाभदायक है।
एक विशिष्ट केरेला व्यंजन…बनाने में बेहद आसान, दिखने में बेहतरीन, पौष्टिक और स्वादिष्ट कुछ ऐसी चीज़े हैं जो इस व्यंजन को दर्शाती है। नारीयल से भरपुर, आमतौर पर हमनें यहाँ केवल 2 टेबल-स्पून नारीयल का प्रयोग कर स्वाद बनाये रखा है।
मैं मानती हूँ कि यह एक बहुत ही रंग-बिरंगा सूप है और शुरुआत में आपके शिशु के बीप में बहुत से दाग लगने वाले हैं। गाजर विटामीन ए प्रदान करता है जो आपके बच्चे की तवचा के लिए अच्छा होता है और चकुंदर मीठास, रंग और रेशांक प्रदान करता है। इस बात का ध्यान रखें कि आपने यह सुनिश्चित किया है कि आपके बच्चे को इनमें से किसी भी सब्ज़ी से एलर्जी नहीं है।
खाने में नमक करना बहुत आसान है। आपको केवल खाने में अन्य स्वादिष्ट और खुशबुदार सामग्री का प्रयोग करना है और आपको नमक ना होने का अहसास नही होगा। ना केवल यह, साय़ ही आपको यह समझ आएगा कि लो-सोडियम आहार का मतलबा केवल नमक करना नही होता, लेकिन साथ ही आपको अन्य उच्च सोडियम वाले सामग्री का सेवन का भी कम करना चाहिए। यह देखते हुए, यह कॅरट एण्ड बेल पेपर सूप एक बेहतरीन चुनाव है, जिसे पुरी तरह से पौष्टिक, लो-सोडियम सामग्री जैसे गाजर, शिमला मिर्च और टमाटर से बनाया गया है। जहाँ टमाटर हल्का खट्टापन प्रदान करते हैं और गाजर सूप को गाढ़ा बनता है, हर्ब और शिमला मिर्च इसमें स्वाद प्रदान करते हैं। इस चटपटे लो-सोडियम सूप का मज़ा लें और रक्तचाप को संतुलित रखें।
चावल से बने व्यंजन में से खिचड़ी सबसे मशहुर, सौम्य व्यंजन है, जिसे विश्व-भर के भारतीय पसंद करते हैं। जहाँ अलग-अलग नाम के विभिन्न प्रकार के खिचड़ी मिलते हैं, इस चावल और मूंग दाल के मले को बनाने का हर समुदाय का अपना अलग तरीका होता है, जो बनाने मे आसान, पौष्टिक और सभी उम्र के लोगों के लिए पर्याप्त होता है। देखा गया तो खिचड़ी इतनी बहुउपयोगी व्यंजन है, जिसे दिन में कभी भी बनाया जा सकता है, चाहे वह दोपहर का खाना हो या रात का खाना, इसके साथ परोसने पर खिचड़ी अलग-अलग रुप अपना लेता है। यह होलसम खिचड़ी एक खुशबुसार और पेट भरने वाला व्यंजन है, जिसमें मिली-जुली सब्ज़ीयाँ और मसाले मिलाये गए हैं।
लोग कहते हैं कि दिन भर में एक सेब डॉक्टर को दूर रखने में मदद करता है। इसे अनानास के साथ मिलाकर ऊर्जा, लौह और विटामीन सी भरपुर मेल बनाऐं! ककड़ी ना केवल इसके पानी की मात्रा बढ़ाता है, लेकिन साथ ही स्वाद को संतुलित रखता है। कुल मिलाकर, आपके दिन की शुरुआत के लिए यह पाईनएप्पल, एप्पल एण्ड कुकुम्बर ज्यूस एक मज़ेदार फल-सब्ज़ी का पेय है।
खरबुजा और संतरा का यह ज्यूस एक बेहत अच्छा मिश्रण है। खरबुजा, संतरे और गाजर से ज्यूस को बेहतरीन रंग मिलता है।
पेट पर हल्का और स्वाद में बेहतरीन, यह राईस पॉरिज, जिसे ज़ीरा के स्वाद से भरा गया है, थकान होने पर या अच्छा ना लगने पर पर्याप्त व्यंजन है। यह आपको अच्छा महसुस कराने में और आपकी ऊर्जा की मात्रा को बनाए रखने में मदद करता है, जिससे आपको धीरे-धीरे अच्छा लगने लगेगा। जब चावल को नरम होने तक पकाया जाता है, यह पचाने में आसान हो जाता है और झटपट ऊर्जा भी प्रदान करता है, जो दस्त से पीड़ीत के लिए बहुत ज़रुरी होता है। हालांकि पेट खराब रहने पर हम अकसर घी का सेवन नही करते, इस व्यंजन में बहुत ही कम मात्रा मे इसका प्रयोग किया गया है जो आराम प्रदान करने के साथ-साथ ऊर्जा भी प्रदान करता है। जहाँ तक घरेलू उपाय का संबंध है, ज़ीरा एक चमतकारी सामग्री है, क्योंकि यह स्वाद के साथ-साथ पेट को भी स्वस्थ रखने में मदद करता है।

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन