This category has been viewed 7570 times
 Last Updated : Nov 18,2019


 कोर्स रेसिपी, भारतीय कोर्स रेसिपी, वेज मुख्य व्यंजनों > मेन कोर्स वेज > दाल / कढ़ी > रोज़ की दाल रेसिपी, दाल रेसिपी पूरे भारत से

27 recipes

રોજ ની દાળ વાનગીઓ, સમગ્ર ભારતમાંથી દાળ ની વાનગીઓ - ગુજરાતી માં વાંચો ( Popular Dals from all over India recipes in Gujarati)

रोज़ की दाल रेसिपी,  दाल रेसिपी पूरे भारत से, Everyday Dals recipe in Hindi

रोज़ की दाल रेसिपी , दाल रेसिपी पूरे भारत सेEveryday Dals recipe in Hindi, Popular Dal recipes from Indian in Hindi.


छिल्के वाली उड़द दाल का स्वाद, सादी बिना छिल्के वाली उड़द दाल की तुलना में काफी बेहतर लगता है। चना दाल और मिले-जुले मसाले, हरी मिर्च और प्याज़ के साथ, यह एक बेहतरीन दाल बनाती है जिसे खाकर आप अपनी ऊँगलीयाँ चाटते रह जाऐंगे! इस दाल बंजारी को पकाने के तुरंत बाद परोसना बेहतर होता है और ताज़ा कटे हुए हरे ....
राजमा करी और चावल…इससे बेहतर और स्वादिष्ट और कोई खाना नही है। राजमा पौष्टिक और संपूर्ण आहार है और टमाटर के गाढ़े ग्रेवी और मसालों के साथ पकाने के बाद बेहतरीन लगता है। यह करी पंजाब में मशहुर है और लगभग सभी उम्र के लोगों की मनपसंद।
पाँच प्रोटिन युक्त दालों के मिश्रण से बनाई गई इस मसालेदार मिक्स दाले के रूपांतर में दही के साथ परंपरागत मसालों का उपयोग किया गया है, जो इसमें खट्टापन और तीखापन देते हैं। यह दाल पराठे और रोटी के साथ अच्छा संयोजन बनाती है। इस दाल को आसानी से झटपट बनाया जा सकता है। बस, याद रखें कि दाल को 1 घंटे पहल ....
गुजराती रसोई में साबूत मूंग का प्रयोग बहुत आम है। खट्टा मूंग एक बेहद प्यारा व्यंजन है जो दही और मसालों के साथ पके हुए मूंग को दर्शाता है। खट्टे दही का प्रयोग इस व्यंजन को एक अनोखा और स्वादिष्ट रुप प्रदान करता है। लहसुन पसंद करने वाले इस व्यंजन को एक नया रुप प्रदान करने के लिए, इसमें लहसुन का पेस्ट म ....
वाल से बना यह रंगून ना वाल एक संपूर्ण लेकिन आसानी से बनने वाला व्यंजन है। गुड़, इमली, लाल मिर्च पाउडर और अजवायन जैसे विभिन्न सामग्री का प्रयोग इसे अनोखा मीठा और खट्टा स्वाद प्रदान करता है। भिगोना बेहद ज़रुरी है इसलिए पहले से सोचकर बनाए।
भारत के अन्य राज्य की तुलना में, राजस्थानी खाने में मूली का प्रयोग काफी मात्रा में किया जाता है, जहाँ इसका प्रयोग अकसर सलाद के रुप मे किया जाता है। इस सादी मूंग दाल को मूली तेज़ और तीखा स्वाद प्रदान करता है। और अन्य सभी पारंपरिक राजस्थानी व्यंजन की तरह, इसमें भी घी का तड़का लगाया गया है। कुछ घरों मे ....
साम्भर दक्षिण भारत के खाने का भाग है। कभी-कभी वह इसे दिने में एक बार से ज़्यादा बनाते हैं- सुबह के नाश्ते में और दोपहर और रात के खाने में भी। तुवर दाल और मिली-जुली सब्ज़ीयों के पौष्टिक्ता से भरपुर, इसे रोज के खाने का भाग बनाया जा सकता है और यह इतना बहुउपयोगी है कि इसे चावल, इडली, वड़ा, उपमा और किसी ....
जैसा इसके नाम में त्रेवटी संबोधित करता है, यह तीन प्रकार की दाल का मेल है जिन्हें मसालों में पकाया गया है। रोज़ खाने वाली दाल को यह तीन तरह की दाल एक खास रुप प्रदान करते हैं, जो भाखरी और लहसुन की चटनी के साथ अच्छी तरह जजती है। विकल्प के रुप में, आप पीली मूंग दाल की जगह उड़द दाल का प्रयोग भी कर सकते ....
यह एक पौष्टिक व्यंजन है, जो राजस्थान के विशेष जायके को प्रदर्शित करता है। यह चार दालों को मिलाकर पारंपरिक मसाले, अदरक और मिर्ची के तीखे स्वाद के साथ खट्टेपन के लिए एक बूंद निम्बू का रस डाल कर बनाई गई है। इस टेंगी ग्रीन मूंग दाल का आनंद ताज़ा गरमा गरम मसाला बाटी के साथ लिया जा सकता है या आप इसे रोटी य ....
अत्यधिक मात्रा में उपयोग किए गए टमाटर और इमली इस हैदराबादी खट्टी दाल को एक लुभावनी खट्टास प्रदान करते हैं, जबकि मसाला पाउडर और अन्य तीक्ष्ण सामग्री जैसे कि अदरक, लहसुन और हरि मिर्च इस दाल को अधिक स्वादिष्ट बनाते हैँ। यह दाल हैदराबाद के घरों में रोज़ाना पकाई जाती है और उस क्षेत्र में अविवादित पसं ....
दाल के बारे सोचते ही हमें माँ के हाथों का खाना याद आता हे। जहाँ माँ को अपने बच्चों को भरपुर मात्रा में घी और मक्ख़न के साथ दाल खिलाना पसंद आता है, बड़े होने के बाद इनका सेवन कम कर देना चाहिए! इसलिए, यह माँ की दाल का यह वसा मुक्त विकल्प, जिसमें ना केवल उनका प्यार झलकता है, लेकिन साथ ही पारंपरिक स्वाद ....
यह एक ऐसा दक्षिण भारतीय व्यंजन है जिसे किसी परिचय की आवशआयक्ता नहीं है, और यह सभी में से सबसे ज़्यादा बहुउपयोगी है। हर परिवार अलग-अलग माप में सामग्री का प्रयोग करता है। आप अपनी पसंद अनुसार भी सामग्री के माप को बदल सकते हैं। साम्भर में (या किसी भी कूज़ाम्बू में) मिलाई गई सब्ज़ीयों को थान कहते हैं। वि ....
इस चार दाल का दलचा में चार दाल का संयोजन विविध सामग्री के साथ किया गया है जो सभी को निश्चित ही पसंद आएगा। दालचा का मतलब होता है किसी भी सामग्री को तब तक पकाना जब तक वह पूरी तरह मसल जाए और नाम के अनुसार इस नुस्खे में भी दाल पूरी तरह मसली हुई है। लाल कद्दू का उपयोग इस व्यंजन की बनावट को संतुलित करन ....
सादी हो या तीखी, दाल पौष्टिक होती है। लेकिन यह एक बेहतरीन दाल है जिसे आप मना नही कर पायेंगे! चार प्रकार के दाल से बना, जिन्हे प्याज़ और टमाटर के साथ पकाया गया है और चुनिन्दा मसालों के स्वाद से भरी यह मसाला दाल एक बेहतरीन व्यंजन है जिसे गरमा गरम चावल और रोटी के साथ परोसा जाता है।
पिठोर एक राजस्थानी व्यंजन है जो थोड़ा बहुत ढ़ोकले जैसा दिखता है, लेकिन स्वाद ओर रुप के मामलें में और इसे बनाने की विधी बहुत अलग होती है। जहाँ पिठोर में तड़का लगाकर इसे चाय के साथ नाश्ते के रुप मे परोसा जा सकता है, वहीं इन्हें तलकर ग्रेवी या जैसा यहाँ कि ....

Top Recipes

Goto Page: 1 2 

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन