This category has been viewed 7864 times
 Last Updated : Jun 06,2019


 भारतीय स्वस्थ > हाइपोथायरायडिज्म शाकाहारी आहार योजना



Hypothyroidism Diet - Read In English
હાયપોથાઇરોડીઝમ વેજ ડાયેટ પ્લાન, ભારતીય - ગુજરાતી માં વાંચો (Hypothyroidism Diet recipes in Gujarati)

हाइपोथायरायडिज्म शाकाहारी आहार योजना, भारतीय हाइपोथायरायडिज्म भोजन, Hypothyroidism Diet Recipes in Hindi 

हाइपोथायरायडिज्म शाकाहारी आहार योजना, भारतीय हाइपोथायरायडिज्म भोजन, Hypothyroidism Diet Recipes in Hindi 


Top Recipes

आपकी भूख बढ़ाने के लिए इस सलाद की एक झलक ही काफी है, लेकिन अगर यह भी काम ना करे, तो इस सलाद का एककप आपकी भूख बढ़ाने का काम ज़रुर करेगा। सेब के टुकड़े और पुदिना का मज़ेदार मेल जिसे अदरक, नींबू के रस और शहद से सजाया गया है, इस मिन्टी एप्पल सलाद में एन सभी सामग्री का मेल है, जो आपकी भूख बढ़ाने मे मदद करेंगे। जहाँ पुदिना, नींबू का रस और अदरक भूख बढ़ाने के लिए जाने जाते हैं। बहुत से लोगो को यह पता नही है कि सेब भी पाचन स्वस्थ रखने में मदद करता है और भूख बढ़ाने में मदद करता है। देखा गया तो, यह स्वादिष्ट सलाद अरुचि ठीक करने के लिए पर्याप्त है।
पुरी किसे पसंद नहीं आती? जिन्हें पसंद हो और डॉक्टर उन्के आहर की सूची से ऐसे तले हुए नाश्ते को निकालने की सलाह दे, तो उनका दिल टूट जाता है। यहाँ एक मज़ेदार बेक्ड कूट्टू की पुरी जो स्वास्थ्यदायक रूप दिया गया है। हमने इस नुस्खे में कट्टू के आटे का प्रयोग किया है क्योंकि यह रक्तशर्करा और कोलेस्ट्रॅाल के स्तर को बेहतर तरीके से नियंत्रित करता है। कूट्टू मैंगनीज़ का भी अच्छा स्त्रोत है जो हमारे शरीर को आवश्यक एनज़ाईम का उत्पादन करता है, जिससे हमारी हड्डियाँ मज़बूत होती हैं। इसके अलावा यह एक पूर्ण प्रोटिन भी है, इसलिए एथलीट के लिए भी उपयुक्त है। कूट्टू के आटे को बेलने में थोडी परेशानी हो सकती है, इसलिए आप इन्हें हथेलियों से थप-थपा सकते हैं या दो प्लास्टिक शीट के बीच रखकर बेल सकते हैं।
एक सेहतमंद और स्वादिष्ट, पौष्टिक तथा जायकेदार नाश्ता. अनार और कच्चे आम इस रंगबिरंगी चाट को और भी मजेदार बनाते हैं।
दोपहर के खाने की शुरुआत करने का एक हल्का और रंग-बिरंगा तरीका! इस खट्टे, करारे बीन स्प्राउटस् एण्ड सुआ टोस्ड सलाद में, सुआ, टमाटर और बीन सप्राउट्स, नमक और नींबू के रस के साथ बेहतरीन तरह जजते है। सुआ लौहतत्व का बेहतरीन स्रोत होता है, वहीं बीन स्प्राउटस् विटामीन सी से भरपुर होते हैं, जो लौहतत्व को सोखने में मदद करते हैं।
पारंपरिक बंगाली व्यंजनों में बैंगन भाजा एक सदाबहार पसंदीदा है। इसके मूल नुस्खे में बैंगन को बहुत सारे तेल में रसीला और सुगंधित बनने तक तला जाता है। यहाँ हमने समझदारी से इसके पकाने की तरीके में बदलाव लाकर कम तेल का उपयोग करके एक शानदार व्यंजन तैयार किया है। यह नुस्खा यह दिखाने का एक आदर्श उदाहरण है कि मधुमेह वाले लोग भी अपने कोई भी पसंदीदा व्यंजन का मज़ा ले सकते हैं, बेशर्त खाना पकाने के शैली और सामग्री में थोड़ा सा बदलाव करें और स्वीकार्य कैलरी को स्तर के अंतर्गत व्यंजन तैयार करें। आपको इस बैंगन भाजा का मसालेदार और हल्का खट्टा स्वाद जरूर ही पसंद आएगा। बंगाली स्टाईल ओकरा और रिड्ज गॉर्ड विद पॉपी सीड्स जैसी अन्य बंगाली सब्जियाँ भी जरूर आज़माइए।
लहसुन के स्वाद से भरी खिचड़ी, जो आपको ज़रुर टेबल की ओर खींच लाएगी! रेशांक भरपुर ओट्स और प्रोटीन भरपुर मूंग दाल से बनी, यह लो-ग्लाईसमिक इन्डेक्स् वाला व्यंजन वजन के प्रति सचक के लिए पर्याप्त है। मज़े की बात यह है कि, इस आसानी से बनने वाली ओट्स खिचड़ी में लहसुन और हरी मिर्च जैसी कम से कम सामग्री का प्रयोग किया गया है, जो बिना अन्य मसालों के प्रयोग के ही इस खिचड़ी को स्वाद प्रदान करते हैं! इस संपूर्ण व्यंजन को ताज़े लो-फॅट दही के कप के साथ बनाकर ताज़ा परोसें।
कभी कभी आप मनमौजी तरह से कुछ अजीब सामग्री मिलाकर व्यंजन बनात हैं और वह इतना स्वादिष्ट बनाता है कि आप उस मेल का प्रयोग बार-बार करते हैं। खूंभ और हरी शिमला मिर्च इसी का एक उदाहरण है! यह इस मशरुम एण्ड ग्रीन कॅप्सिकम सब्ज़ी में इतनी अच्छी तरह जजते हैं, जो दोनो स्वाद और पौष्टिक्ता में विजेता माने जाते हैं। खूंभ प्रोटीन और फोलिक एसिड से भरपुर होते हैं और शिमला मिर्च से विटामीन सी इन्हें शरीर में सोखने में मदद करती है।
तरबूज़ और पुदिना साथ में हमेशा अच्छे लगते हैं, लेकिन क्या आपको पता है इन्हें साथ मिलाने के और भी फायदे हैं? तरबूज़ लौह का बेतरीन स्रोत है, वहीं पुदिना ना केवल लौह होता है, लेकिन साथ ही विटामीन सी भी होता है। लौह और विटामीन साथ में बेहतरीन तरह से काम करते हैं, क्योंकि लौह को काम करने के लिए विटामीन सी की ज़रुरत होती है। इसलिए, आज से सलाद या ज्यूस में तरबूज़ का प्रयोग करते समय, पिदिना ज़रुर मिलायें! वॉटरमेलन एण्ड मिन्ट सलाद स्वाद और रुप के मामले में विजेता है, क्योचकि इसमें तरबूज़ के लाल रंग के साथ जैतून और पुदिना के रंग बेहद अच्छी तरह से जजते हैं। इस सलाद को ताज़ा या ठंडा परोसें।
सबका पसंदिदा, गर्मी की धूप से बचने के लिए, मनुष्य के लिए तरबूज़ भगवान का एक तोहफा है! यहाँ इस ताज़े फल को पसंद करने की एक और वजह है- यह लौहतत्व का बेहतरीन स्रोत है! संतरे, मौसंबी और नींबू के रस जैसे विटामीन सी भरपुर फलों के साथ इसका सलाद बनाने से, आपके शरीर में लौहतत्व को बेहतर सोखने में मदद मिलती है। इस सिटरस वॉटरमेलन सलाद की लौह की मात्रा बढ़ाकर और इसके रंग और स्वाद को निहारकर, खुशबुदार पार्सले निखारने में मदद करता है।
फण्सी बनाने का एक पारंपरिक दक्षिण भारतीय तरीका, जिसमें भिगोई हुई चना दाल डालकर, पारंपरिक तड़के का स्वाद भरा गया है। इस स्टर-फ्राय में चना दाल करारापन प्रदान करने के साथ-साथ नारियल जैसे अन्य सामग्री के विकल्प में, इस व्यंजन की मात्रा भी बढ़ाता है। जहाँ बहुत सी सब्ज़ीयों को इस तरह से पकाया जा सकता है, यह फ्रेंच बीन एण्ड चना दाल स्टर-फ्राय मधुमेह पीड़ीत के लिए बेहतरीन हे क्योंकि फण्सी में प्रस्तुत रेशांक शक्करा को बाँधकर रखता है और उसे जल्दी सोखने नहीं देता, जिससे रक्त में शक्करा की मात्रा बहुत जल्दी नहीं बढ़ती।

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन