This category has been viewed 8664 times
 Last Updated : Mar 13,2020


 भारतीय स्वस्थ > हाइपोथायरायडिज्म शाकाहारी आहार योजना



Hypothyroidism Diet - Read In English
હાયપોથાઇરોડીઝમ વેજ ડાયેટ પ્લાન, ભારતીય - ગુજરાતી માં વાંચો (Hypothyroidism Diet recipes in Gujarati)

हाइपोथायरायडिज्म शाकाहारी आहार योजना, भारतीय हाइपोथायरायडिज्म भोजन, Hypothyroidism Diet Recipes in Hindi 

हाइपोथायरायडिज्म शाकाहारी आहार योजना, भारतीय हाइपोथायरायडिज्म भोजन, Hypothyroidism Diet Recipes in Hindi 


Top Recipes

भारतीय मसालों के मेल के साथ ओट्स और मूंग दाल मज़ेदार तरह से जजते हैं और एक रेशांक और प्रोटीन भरपुर नाश्ता बनाते हैं, जो आपके अंदर के खाना पसंद करने वाले और साथ ही स्वास्थ्य के प्रति सचक को संतुष्टि प्रदान करता है! विशिष्ट ओट्स मूंग दाल टिक्की बनाने के लिए, उन्हें पतला बनाकर धिमी आँच पर पकाऐं जिससे वह सभी तरफ से अच्छी तरह पक जाए। यह टिक्की काफी देर तक आपका पेट भरा रखती है और अगर इनसे बर्गर बनाए जाऐं, इससे आप भोजन समान नाश्ते भी बना सकते हैं।
कुट्टू डोसा रेसिपी | कुट्टू के आटे का डोसा | झटपट बक्वीट डोसा | buckwheat dosa in hindi | with 15 amazing images.
लहसुन के स्वाद से भरी खिचड़ी, जो आपको ज़रुर टेबल की ओर खींच लाएगी! रेशांक भरपुर ओट्स और प्रोटीन भरपुर मूंग दाल से बनी, यह लो-ग्लाईसमिक इन्डेक्स् वाला व्यंजन वजन के प्रति सचक के लिए पर्याप्त है। मज़े की बात यह है कि, इस आसानी से बनने वाली ओट्स खिचड़ी में लहसुन और हरी मिर्च जैसी कम से कम सामग्री का प्रयोग किया गया है, जो बिना अन्य मसालों के प्रयोग के ही इस खिचड़ी को स्वाद प्रदान करते हैं! इस संपूर्ण व्यंजन को ताज़े लो-फॅट दही के कप के साथ बनाकर ताज़ा परोसें।
अकसर मधुमेह से पीड़ीत के लिए चावल मना होते हैं, क्योंकि यह रक्त में शक्करा की मात्रा को तेज़ी से बढ़ाते हैं। सफेद चावल के उच्च ग्लाईसमिक ईन्डेक्स् के असर को विरुद्ध करने के लिए, इन्हें रेशांक भरपुर ब्राउन राईस से बदलें और साथ ही लहसुन और मेथी जैसे मधुमेह के लाभदायक सामग्री के साथ-साथ रेशांक भरपुर सब्ज़ियाँ भी डालकर एक मज़ेदार व्यंजन बनाऐं जिसका संतुलित मात्रा में मज़ा लिया जा सकता है।
सामान्य रूप से उपयोग होने वाली दाल को जब सही सामग्री के साथ मिलाया जाए तब एक शानदार व्यंजन बन सकता है। लहसुन और टमाटर इस बहूमुखी दाल को तेज़ स्वाद प्रदान करते हैं जो चावल और फुल्कों के साथ एक अच्छा संयोजन बनता है। मूँग दाल से मिलता फॉलिक एसिड़ इस दाल के लिए अधिक रूप से लाभदायक है।
ओट्स इडली रेसिपी | झटपट ओट्स इडली | लो कैलरी ओट्स इडली | मधुमेह के लिए हेल्दी ओट्स इडली | oats idli in hindi | with 20 amazing images. हालांकि मूल इडली अपने आप में काफी पौष्टिक है, ओट्स इडली का यह अभिनव संस्करण और भी अधिक पौष्टिक और भरने वाला है। इस इंस्टेंट ओट्स इडलीओट्स इडली बनाना सीखें। ओट्स इडली बनाने के लिए , ओट्स और उड़द की दाल को मिलाएं और एक मिक्सर में मुलायम पाउडर होने तक पीस लें। १ कप पानी, दही, अदरक-हरी मिर्च की पेस्ट और नमक डालें और अच्छी तरह से मिलाते हुए गाढ़ा घोल तैयार करें।१ घंटे के लिए ढक कर रख दें। घोल को अच्छी तरह मिलाएं, उसमें फ्रूट सॉल्ट और २ टी-स्पून पानी डालें और इसे धीरे से मिला लें। इडली के सांचों को तेल का उपयोग करके चुपड लें और प्रत्येक सांचे में चम्मच भर घोल डालें। इडली स्टीमर में १० से १२ मिनट या उनके पकने तक स्टीम कर लें। ओट्स इडली को सांचों से निकालकर सांभर के साथ तुरंत परोसें। मधुमेह रोगियों के लिए इन स्वस्थ ओट्स इडली में, उच्च ग्लाइसेमिक इंडेक्स चावल को जई के साथ बदल दिया जाता है। इसके अलावा इसे अपने कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स को कम करने के लिए उड़द की दाल के साथ जोड़ा गया है। ये स्वस्थ लो कैलरी ओट्स इडली के रोगियों और उच्च कोलेस्ट्रॉल स्तर वाले लोगों द्वारा भी आनंद ले सकते हैं। जई में बीटा-ग्लूकागन रक्त शर्करा और कोलेस्ट्रॉल दोनों के स्तर का प्रबंधन करने के लिए जाना जाता है। आप फाइबर की मात्रा को बढ़ाने के लिए जई के इडली बैटर में बारीक कटी हुई गाजर, फ्रेंच बीन्स और फूलगोभी जैसी कुछ उबली हुई सब्जियाँ भी डाल सकते हैं। दही को थोड़ा सा खट्टापन देने के लिए बैटर में मिलाया गया है जो इडली के बारे में बहुत विशेष है और यह थोड़ा किण्वन स्पर्श करने में मदद करता है। इन झटपट ओट्स इडली को किसी भी समय तैयार किया जा सकता है, क्योंकि बैटर को केवल 1 घंटे के लिए आराम देना है। हालाँकि, इसका अर्थ यह भी है कि पकाए जाने पर इडली पर्याप्त नहीं उठेगी, इसलिए जब आप एक फ्लैट परिणाम देखते हैं, तो चिंता न करें | यदि आप बहुत नरम इडली बनाना चाहते हैं, जो थोड़ी-थोड़ी फूली हुई हो, तो आप भाप देने से ठीक पहले बैटर में 1 टीस्पून फ्रूट सॉल्ट मिला सकते हैं | नीचे दिया गया है ओट्स इडली रेसिपी | झटपट ओट्स इडली | लो कैलरी ओट्स इडली | मधुमेह के लिए हेल्दी ओट्स इडली | oats idli in hindi | स्टेप बाय स्टेप फोटो और वीडियो के साथ।
गाजर और लाल शिमला मिर्च इनसे बना यह ज्यूस दृष्टि के लिए बेहत अच्छा है। विटामिन c से भरपूर शिमला मिर्च आपकी रोग प्रतिरोध क्षमता बढ़ाता है और तनाव को भी कम करता है।
खरबुजा इस ज्यूस में मिठास लाता है और अनानास इसे गाढ़ा बनाता है। आप ने पहले कभी इन दोनों फलों को मिलाकर ज्यूस बनाने की नहीं सोची होगी, पर विश्वास कीजिए कि यह ज्यूस बिना चीनी और नमक के बगैर भी मज़ेदार लगता है।
आलस से भरे ठंड के दिनों में आपको तरो ताज़ा करने के लिए पर्याप्त व्यंजन! मसाला चवली स्वाद और बेहतरीन खुशबु से भरपुर व्यंजन है! जहाँ टमाटर का पल्प और कसुरी मेथी पकी हुई चवली को बेहतरीन स्वाद प्रदान करते हैं, खुशबुसार पुदिने का पेस्ट इस व्यंजन को एक शानदार रुप प्रदान करता है, जिसे खाते ही आपके मुँह का स्वाद मज़ेदार हो जाएगा और आप अपनी ऊँगलीयाँ चाटते रह जाऐंगे।
बैंगन भाजा रेसिपी | बंगाली बैंगन भाजा | बैंगन फ्राई मसाला रेसिपी | हेल्थी बैंगन नाश्ता | baingan bhaja recipe in hindi | with 16 amazing images. पारंपरिक बंगाली व्यंजनों में बैंगन भाजा एक सदाबहार पसंदीदा है। इसके मूल नुस्खे में बैंगन को बहुत सारे तेल में रसीला और सुगंधित बनने तक तला जाता है। यहाँ हमने समझदारी से इसके पकाने की तरीके में बदलाव लाकर कम तेल का उपयोग करके एक शानदार व्यंजन तैयार किया है। यह नुस्खा यह दिखाने का एक आदर्श उदाहरण है कि मधुमेह वाले लोग भी अपने कोई भी पसंदीदा व्यंजन का मज़ा ले सकते हैं, बेशर्त खाना पकाने के शैली और सामग्री में थोड़ा सा बदलाव करें और स्वीकार्य कैलरी को स्तर के अंतर्गत व्यंजन तैयार करें। आपको इस बैंगन भाजा का मसालेदार और हल्का खट्टा स्वाद जरूर ही पसंद आएगा। बंगाली स्टाईल ओकरा और रिड्ज गॉर्ड विद पॉपी सीड्स जैसी अन्य बंगाली सब्जियाँ भी जरूर आज़माइए। नीचे दिया गया है बैंगन भाजा रेसिपी | बंगाली बैंगन भाजा | बैंगन फ्राई मसाला रेसिपी | हेल्थी बैंगन नाश्ता | baingan bhaja recipe in hindi | स्टेप बाय स्टेप फोटो के साथ।

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन