This category has been viewed 9438 times
 Last Updated : Jul 06,2019


 इक्विपमेंट > तवा वेज

200 recipes

Tava - Read In English
તવો વેજ - ગુજરાતી માં વાંચો (Tava recipes in Gujarati)


एक अनोखा डोसा, जिसे भिगोए और पीसे उड़द दाल के खमीर वाले घोल को 4 तैयार आटे के पर्याप्त मात्रा के साथ मिलाकर बनाया गया है, यह 4 फ्लॉर डोसा बेहद स्वादिष्ट और पेट भरने वाला व्यंजन है! हाई ग्लाईसमिक चावल की जगह, इस स्वादिष्ट पॅनकेक को रेशांक भरपुर आटे जैसे गेहूं का आटा, बाजरा, ज्वार और नाचनी के आट ....
हर रसोईघर में पाए जानेवाले आटे से बनी इन रोटियों में उर्जा, लोहतत्व, प्रोटीन, फाइबर और विटामिन बी3 है। नाश्ते या भोजन कर लिए कटोराभर दही के साथ यह रोटियाँ एक पौष्टिक आहार बनाती हैं। सुबह के नाश्ते के लिए अन्य रोटी को भी आजमाईए जैसे ओटस् एण्ड कैबेज रोट ....
पुदिना और ज़ीरा पाउडर के स्वाद के साथ चना दाल और पत्तागोभी जैसे मधुमेह के लिए पर्याप्त सामग्री, यह शानदार टिक्की बनाते हैं! चना दाल एण्ड कैबॅज टिक्की का करारापन इसकी विशेषता है, लेकिन इसके रुप का मज़ा लेने के लिए इन्हें तवे से निकालकर गरमा गरम परोसें। कम से कम तेल से पकाए हुए, यह टिक्की खानें में हल ....
डोसा दक्षिण भारतीय पाकशैली का मुख्य भाग है और लोकप्रियता में यह इडली के बाद आते हैं! आप चाहें त नीचे दी गई विधी का प्रयोग कर डोसा के लिए अलग घोल बना सकते हैं या इडली के घोल में थोक में बनाकर दोनो व्यंजन बनाने के लिए प्रयोग कर सकते हैं, जिनमें अंतर केवल इतना है कि इडली के घोल में लंबे समय तख खमीर लाय ....
यदि आपको अपने हिमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाना है, तो फूलकोबी के पत्तों का अपने रोज़मरा के खाने में जरूर उपयोग करें। इसकी शुरूआत इस फूलगोभी के पत्ते और मिले-जुले अंकुरित दाने की टिक्की से करें। इस स्टार्टर में टिक्की को सख्त बाँधने के ल ....
गर्भावस्था के दौरान आपका लोह के स्तर को बढ़ाने का यह एक शानदार नुस्खा है। उबाली और क्रश की हुई मटकी को गेहूं और ज्वार के आटे के साथ मिलाकर आटा गूँथकर यह मज़ेदार पराठे तैय ....
जब कभी खुशी मनाने का मौका होता है तब कभी-कभार दावत करने का मन हर किसी का करता है। यहाँ दिया गया है एक उपयुक्त मजेदार नाश्ता, जो डायबिटिक लोगों को ध्यान में रखकर बनाया गया है। अंकुरित मूँग और हरे प्याज की मजेदार टिक्की ओटस् के फाइबर के साथ मिलाकर ङ्गाइबर और आयरन से भरपूर अंकुरित मूँग से बनाई गई ह ....
कभी- कभी, कुछ सामग्रियों के रुपांतर से या सब्जियों को मिलाने से एक लोकप्रिय व्यंजन को बहुत ही अनोखा बदलाव दियाजा सकता है।इसपारंपरिक चिले में छास और पत्तागोभी का संकलन यह काम करता है।सूजी और उड़द की दाल का आटा आवश्यक सामग्रियाँ हैं, जो चावल के चिकनेपन को संतुलित रखते हैं। जब यह चावल और सब्जियों के चि ....
शिरमल भारत-पाक-उप- महाद्वीप में एक हल्के-मिठे केसर के स्वादवाले नान के जैसे प्रसिद्ध है। हालांकि यह मुगल नुसख़ा परंपरागत रूप से तंदूर में बनाया जाता है, लेकिन यह आपके रसोईघर में तवे पर भी बड़ी आसानी से तैयार किया जा सकता है। आटे में गुनगुना दूध और मसालों का संयोजन उसे एक शाही स्वाद प्रदान करता ह ....
पालक के ताज़े हरे रंग के साथ यह स्पिनॅच एण्ड पनीर पराठे दिखने मे साथ ही स्वाद मे बेहतरीन लगते है! जहाँ इसमे पालक आटे मे अपनी पौष्टिक्ता प्रदान करता है, वही फूलगोभी और पनीर का मिश्रण जो धनिया, हरी मिर्च और अदरक से भरपुर है, यह भरवां मिश्रण मे अपना जादु फेलाते है।
हरे चवली के पत्ते और गाजर के साथ अदरक, हरी मिर्च और ज़ीरा का संयोजन इन गेहूं के पराठों का एक मज़ेदार भरवां मिश्रण बनता हैं। यह अनोखे पराठे आपको जरूर ही पसंद आँएगे। यह मसालेदार चवली के पत्ते और पालक के पराठे समृद्ध और मसालेदार स्वाद से लदे हुए हैं। आप इन्हें कटोरा भर दही के साथ परोस सकते हैं। च ....
कहते हैं कि एक अच्छी पुरन पोली बनाना आसान कार्य नहीं है और काफी अभ्यास के बाद ही इसे बनाया जा सकता है…देखा गया तो यह एक कला है! महाराष्ट्रियन पपुरन पोली के अनुकुल, जिनमें चना दाल का प्रयोग किया जाता है, गुजराती विकल्प में तुवर दाल का प्रयोग किया जाता है। इसके अनोखे स्वाद और खुशबु का श्रेय इसमें प्रय ....
कसूरी मेथी, ज़ीरा और अन्य मसालों के साथ आलू के मिश्रण से तैयार होते यह आलू मेथी पराठे इतने मज़ेदार हैं कि इन्हें केवल दही और अचार के साथ परोसा जा सकता है। मेथी को भूनने पर उसकी कड़वाहट कम हो जाती है, जिससे इन पाराठों को एक महत्वपूर्ण सुगंध और अचूक स्वाद प्रदान होता है। वास्तव में यह एक मुख्य व्य ....
बहुत हि साधारण मसालों से तैयार होने वाले यह स्वादिष्ट दाल पराठे एक स्वस्थ और तृप्त व्यंजन है। बस ध्यान रहे कि दाल के मिश्रण और मसालों को बहुत अच्छे से भुनें, जब तक उसकी कच्ची गंध चली जाए और आपके दिल के लुभानेवाली खुश्बू आए। पकने के बाद मिश्रण को संपूर्ण ठंडा होने दें ताकि
चावल और गेहूं के आटे से यह नाचनी रोटी और पौष्टिक बनती है। साथ ही इसका स्वाद बढ़ाने के लिए इसमे सब्जियां और जीरा, करीपत्ते डालकर इसे संपूर्ण पौष्टिक सुबह का नाश्ता बनाइए। इस रागी रोटी को थोडा मोटा बेलकर इसे दाल और सब्जी के साथ परोसिए।

Top Recipes

Goto Page: 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन