This category has been viewed 9904 times
 Last Updated : Oct 15,2019


 इक्विपमेंट > तवा वेज

199 recipes

Tava - Read In English
તવો વેજ - ગુજરાતી માં વાંચો (Tava recipes in Gujarati)

आलू पराठा एक ऐसा पकवान है, जो देशभर में सबका ही पसंदीदा है। जबकि उत्तर भारतीय लोग दिन के किसी भी समय - नाश्ते,
चीला के स्वादिष्ट पॅनकेक है जिसे आटे या दालो से बनाया जाता है। बहुत से झटपट बनने वाले और समय लेने वाले विकल्प होते हैं, कुछ खाने में हल्के और भारी, जिन्हें नाश्ते या ब्रंच में परोसा जा सकता है। इस विकल्प में, संपूर्ण मूग दाल चीलो को मज़ेदार तीखे आलू के मिश्रण से भरा गया है। हालांकि सुनने में य ....
बचे हुए चावल को एक पौष्टिक नाधते में बदलने का यह एक बेहतरीन तरीका है! कुक्ड राईस पॅनकेक को पके हुए चावल और बेसन के घोल से बनाया जाता है। इसमें मिलाई गई सब्ज़ीयाँ इसे करारापन और आहारतत्व प्रदान करते है और वहीं हरी मिर्च और हरा धनिया इसको स्वाद प्रदान करते हैँ। संपूर्ण सुबह के नाशते के लिए इसे कोरियेन ....
कुल्छा मैदा और दही से बना एक पारंपरिक व्यंजन है। दही इस कुल्छे को सवादिष्ट खट्टापन प्रदान करता है। यहाँ कुल्छों को शानदार तीखे पनीर के मिश्रण के साथ भरा गया है। यह सुझाव दिया गया है कि आटे को फूलने के लिए, इसे गीले सूती कपड़े से कम से कम 2 घंटे के लिए ढ़ककर रखना चाहिए। यह आपके कुल्छे को औेर भी फूला ....
मूली पराठा एक पारंपरिक पंजाबी व्यंजन है! जब इन पराठों को तवे पर सेका जाता है, तेल और मूली के भुनने की खुशबु से सारा घर महक उठता है। कसी हुई मूली, मूली के पत्ते, गेहूं का आटा और आम मसालों से बने से पराठे बेहद पौष्टिक और सं ....
पारंपरिक रुप से, चीला बेसन से बना एक पतला पॅनकेक होता है, लेकिन इस पौष्टिक चीला में ज्वार, गेहूं और मकई के आटे के मेल का प्रयोग किया गया है, जो प्रोटीन और विटामीन ए का अच्छा स्रोत है। अन्य आटे के मेल से अपना अनोखा विकल्प भी बना सकते हैं। इसे कोरियेन्डर गार्लिक चटनी के साथ परोसें।
एक पारंपरिक मेक्सिकन तरह का भरवां मिश्रण, इन बकव्हीट पराठों को स्वाद प्रदान करता है, जिसे एक संपूर्ण आहार बनाने के लिए केवल एक बाउल भर सूप की आवश्यक्ता है। इन स्वादिष्ट पराठों में, कूट्टू के आटे को मकई के आटे से भी बदला जा सकता है।
प्याज़ और पुदिने की रोटी इतनी स्वादिष्ट है कि आप उंगलियाँ चाटते रह जाएँगे। वैसे भी पुदिना के पत्ते इतने मजेदार होते हैं कि वे किसी भी व्यंजन को रूचिकारक बना देते हैं। इस रेसीपी में इन पुदिने के पत्ते को हरी मिर्च, नीबूं के रस और प्याज़ के साथ मिलाकर एक खास पेस्ट तैयार की गई है, जौ इन रोटियों को अ ....
एक ऐसी टिक्की जो अपने कभी नहीं खाई होगी, यह हरे चने और सोया की टिक्की सबसे अनोखी है क्योंकि इसमें हरे चने और सोया ग्रेन्यूल्स के अनोखे मेल का प्रयोग किया गया है। लौहतत्व से भरपुर खाने, इन दोनों रेशांक भरपुर सामग्री को नाचनी का आटा और सोया ग्रेन्यूल्स जैसे अनोखे बाँधने वाली सामग्री के साथ मिलाया गया ....
बीटरुट के गुलाबी रंग और तिल के नमकीन स्वाद से बनी एक रंग-बिरंगी रोटी, और स्वाद के लिए धनिया पाउडर और लाल मिर्च पाउडर इन बीटरुट एण्ड सेसमे रोटी को सुबह के नाश्ते में लंच बॉक्स् में पैक करने के लिए पर्याप्त बनाता है, क्योंकि इसे पैक करना आसान होता है, यह स्वादिष्ट और पौष्टिक भी होते हैं।
हालांकि बाजरा की खेती राजस्थान के कुछ ही हिस्सों में कि जाती है, बाजरे की रोटी को संपूर्ण क्षेत्र में पसंद किया जाता है। गाँव में इन मोटे बेले हुए बाजरे की रोटी को कन्डे (गोबर के कंडे) पर पकाया जाता है। यह इन्हें बनाने का पारंपरिक तरीका है क्योंकि यह इन रोटीयों को जला हुआ स्वाद प्रदान करता है। लेकिन ....
रोटला बाजरा, ज्वार या नाचनी के आटे से बनाए जाते हैं और यह घी और गुड़ के साथ बेहद अच्छे लगते हैं। इस बात का ध्यान रखें कि रोटलों को आटा गूँथने के तुरंत बाद बना लें, क्योंकि यह आटा जल्दी सख्त हो जाता है जिसकी वजह से इन्हें बेलना मुश्किल हो जाता है। धैर्य से और बार-बार बनाने से आप इन रोटला को बहुत ....
एक अनोखा डोसा, जिसे भिगोए और पीसे उड़द दाल के खमीर वाले घोल को 4 तैयार आटे के पर्याप्त मात्रा के साथ मिलाकर बनाया गया है, यह 4 फ्लॉर डोसा बेहद स्वादिष्ट और पेट भरने वाला व्यंजन है! हाई ग्लाईसमिक चावल की जगह, इस स्वादिष्ट पॅनकेक को रेशांक भरपुर आटे जैसे गेहूं का आटा, बाजरा, ज्वार और नाचनी के आट ....
हर रसोईघर में पाए जानेवाले आटे से बनी इन रोटियों में उर्जा, लोहतत्व, प्रोटीन, फाइबर और विटामिन बी3 है। नाश्ते या भोजन कर लिए कटोराभर दही के साथ यह रोटियाँ एक पौष्टिक आहार बनाती हैं। सुबह के नाश्ते के लिए अन्य रोटी को भी आजमाईए जैसे ओटस् एण्ड कैबेज रोट ....
डोसा दक्षिण भारतीय पाकशैली का मुख्य भाग है और लोकप्रियता में यह इडली के बाद आते हैं! आप चाहें त नीचे दी गई विधी का प्रयोग कर डोसा के लिए अलग घोल बना सकते हैं या इडली के घोल में थोक में बनाकर दोनो व्यंजन बनाने के लिए प्रयोग कर सकते हैं, जिनमें अंतर केवल इतना है कि इडली के घोल में लंबे समय तख खमीर लाय ....

Top Recipes

Goto Page: 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन