This category has been viewed 6693 times
 Last Updated : Aug 27,2018


 त्योहार और दावत के व्यंजन > ओकेसनल किटी पार्टी के लिये



Kitty Party - Read In English
કિટ્ટી પાર્ટી માટે રેસીપી - ગુજરાતી માં વાંચો (Kitty Party recipes in Gujarati)

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 



Top Recipes

आपने आलू, मेथी, पुदिना, सब्ज़ीयों और विभिन्न प्रकार के विकल्प से भरी रोटी ज़रुर खाकर देखी होंगी, लेकिन क्या आपने कभी चावल से भरे नान खाकर देखें हैं? चावल को जब चीज़ और लाल मिर्च के फ्लैक्स् के साथ मिलाया जाए, यह इन मिनी नान के लिए मज़ेदार भरवां मिश्रण बनाता है, जो कॉकटेल पार्टी के लिए पर्याप्त होते हैं। नयेपन से भरे, यह मिनी चिली चीज़ नान एक ऐसा स्टार्टर है जो आपको तारीफों से भर देगा!
इस दिलचस्प पकौड़ों के मनमोहक हरे रंग और रोमांचक प्याज़ के करकरेपन का संयोजन है। हमने इस नुस्खे में पकौड़ों को करकरा बनाने के लिए सही मात्रा में बेसन और चावल के आटे का प्रयोग किया है। इस मज़ेदार पकौड़ों का मज़ा सर्दी और बारीश के मौसम में गरमा-गरम चाय के साथ लेना चाहिए। मेथी पकौड़ा और पनीर पकोडा जैसे अन्य पकौड़े भी आप आज़मा सकते हैं।
सुफले को उसके शाही और मलाईदार गुण के लिए माना जाता है और यह नुस्खा इन आवश्यकताओं को बखूबी पूरा करता है। अंडे के साथ बनाया गया यह सुफले पुरी तरह नरम और मुलायम है, जिसे चॉकलेट के स्वाद से और भी समृद्ध बनाया गया है। इस सुफले को बनाते समय यह सुनिश्चित करें कि माइक्रोवेव सुरक्षित बाऊल में मिश्रण आधे तक ही भरें नहीं तो पकाते समय मिश्रण उभर कर बाहर आ सकता है। साथ ही, यह भी सुनिश्चित करें कि चॉकलेट का मिश्रण पूरी तरह ठंडा होने के बाद ही उसमें अंडे मिलाएँ। यदि आप यह सभी उपदेश का अनुसरण करेंगे, तो निश्चित ही एक मोहक मिठाई तैयार होगी। ऐगलेस चॉकलेट पुडिंग और झटपट चॉकलेट बिस्कुट की रेसिपी जैसे कुछ और मज़ेदार रेसिपी को जरूर आज़माइए।
मैदा अस्वस्थ्यकार है और इसे हमेशा बच्चों के भोजन से दूर रखने की सलाह दी जाती है। इस नुस्खे में मैंने गुणकारी ओटस्, केले और अखरोट का प्रयोग करके इन मफिन्स् को पौष्टिक बनाया है। कॅरट केक और स्पाईस्ड वॉलनट रिंग भी बच्चों के लिए पौष्टिक विकल्प हैं।
हालाँकि पालक के पकड़े अपने आप मे ही बेहद कुरकुरे और स्वादिष्ट लगते है, यह और भी मज़ेदार बन जाते है जब इन्हे मिठी चटनी, लाल मिर्च पाउडर, ज़ीरा पाउडर और ताज़े दही के साथ मिलाकर स्पिनॅच पकोड़ा चाट के रुप मे परोसा जाता है।
कलाकंद एक लोकप्रिय और पसंदीदा मिठाई है जो समय की हर परीक्षा पर खरा उतरा है। उत्तर भारत की यह उत्पत्ती आज समस्त भारत के साथ-साथ दुनिया भर में भी प्रसिद्ध है, क्योंकि आज कल विश्व भर की भारतीय दुकानों में मोहक और स्वादिष्ट मिठाइयाँ मिलना असामान्य नहीं है। यह झटपट कलाकंद आप अपने ही रसोइघर में बहुत ही कम समय और मेहनत से बना सकते हैं। कलाकंद के इस झटपट लेकिन स्वादिष्ट रूपांतर को बनाने की असल बुनियाद है, सही सामग्री का उपयोग सही मात्रा में करना और उन्हें सही समय के लिए पकाना। हालाँकि इसे जमाने के लिए आपको इसे कुछ घंटों के लिए रखना पडेगा। इसके अलावा यह सुनिश्चित करें कि कलाकंद के मिश्रण को जमाने के लिए एक गहरी प्लेट का इस्तेमाल करें क्योंकि आमतौर पर कलाकंद मोटे टुकड़ों में परोसा जाता है और ना की बरफी की तरह चपटा।
महाराष्ट्र के व्यंजनों में से सबसे प्रसिद्ध मिसल है, जो अंकुरित दानोँ और फरसाण के संयोजन से बनता है। स्वादिष्ट अंकुरित दानों को खट्टे टमाटर, तेज़ स्वादवाले प्याज़ और विशेष नारियल-प्याज़ वाले मिसल मसाले के साथ पकाया गया है। फिर फरसाण, बटाटा पोहा आदि को उपर से छिड़क कर लादी पाव के साथ परोसकर इसे और शानदार बनाया गया है। मिसल की सबसे बड़ी खासियत है कि इसे सुबह के नाश्ते में, रात के भोजन में या फिर जब आपका मन चाहे तब खा सकते हैं।
आम के स्वाद से लदी यह पुरी वास्तव में रमणीय है। इस नुस्खे में आम की प्युरी के साथ इलायची जैसे मसाले डालकर तैयार किए हुए आटे की पुरी बेलकर उन्हें गर्म तेल में तलकर एक मज़ेदार नाश्ता तैयार किया गया है। देखने जाएँ तो आटा नरम है, इसलिए बेलते समय आपको थोडा सावधान रहना पडेगा। यदि गूँथा हुआ आटा ढीला हो जाता है, तो आप पुरी को बेलने में असमर्थ रहेंगे। ऐसे में आटे में और थोड़ा मैदा मिलाकर आटे को अनुरूप बना लें, जिससे बेलने में आसानी हो। इन पुरी का मज़ा आप दोपहर के भोजन में या नाश्ते में चाय के साथ ले सकते हैं। जब आम का मौसम हो, तब आप इस पुरी को पार्टी में परोस सकते हैं क्योंकि आम तो अधिकतर लोगों का पसंदीदा होता है। आलू की पूरी और खमीरी ग्रीन पी पुरी जैसी अन्य पुरी भी जरूर आज़माइए।
कुकरी सूजी की पुरी और साथ ही मिले जुले अंकुरित दानें और पुदिनेवाला पानी सभी मिलकर गर्मियों के मौसम के लिए एक उपयुक्त नाश्ता बनता है। इन्हें उत्तर भारत में 'गोलगप्पा' और पश्चिम बंगाल में 'पुचका' के नाम से जाना जाता है। आप मिले जुले दानों के बदले में रगड़े का भी उपयोग कर सकते हैं। यूँ तो आप यह पुरी बाज़ार से भी ला सकते हैं, पर समय हो तो इन्हें घर पर बनाना जरूर आज़माएँ। बस, याद रखें कि इन्हें हवा बंध डिब्बे में भरकर रखें। आप इन्हें ओवन में धीमी आँच पर 4 से 5 मिनट के लिए पका कर तैयार कर सकते हैं। आप इसे पार्टी में भी परोस सकते हैं। खाइए, खिलाइए और नाश्ते का आनंद लीजिए।
इस सैंडविच में मज़ेदार हरी चटनी पनीर के सौम्य स्वाद को अच्छी तरह से संतुलित करती है। तो दूसरी ओर, ककडी सैंडविच में थोडा ताज़ा करकरापन मिलती है। दरअसल, यह ककड़ी और कॉटेज चीज़ की सैंडविच एक झटपट नाश्ता है, जिसका आनंद आप कभी भी ले सकते हैं। इसे किसी भी पेय के साथ परोसें तो अपके बच्चे लंच ब्रेक तक अत्यंत तृप्त रहेंगे।

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन