This category has been viewed 21577 times
 Last Updated : Feb 16,2019


 भारतीय स्वस्थ > ग्लूटिन - मुक्त



Gluten Free Veg Indian - Read In English
ગ્લૂટન વગરનાં વ્યંજન - ગુજરાતી માં વાંચો (Gluten Free Veg Indian recipes in Gujarati)


Top Recipes

इन मशहुर राजस्थानी रोटी में मसालों का मज़ेदार मेल बाजरा के सौम्य स्वाद को नीखार देता है। यहाँ आलू आटे को अच्छी तरह बाँध कर रखने में मदद करता है, लेकिन रोटी बेलने के समय ध्यान दें जिससे बेलने के समय रोटी टुटेंगी नही।
मीठा पसंद करने वालों के लिए खास व्यंजन, यह ओट्स एण्ड मिक्स्ड नट्स लड्डू ओट्स, गुड़ और मेवे के पौष्टिक मेल से बने हैं। आपको गुड़ का तेज़ स्वाद, ओट्स पाउडर का अनाज जैसा स्वाद और मेवों का करारापन ज़रुर पसंद आएगा। इसके साथ-साथ यह स्वादिष्ट लड्डू पौषणतत्व के मामले में 10/10 का दर्ज मिलता है, क्योंकि रेशांक भरपुर ओट्स कलेस्ट्रॉल कम करने में मदद करते हैं और वहीं गुड़ और तिल लौहतत्व की मात्रा बढ़ाते हैं। इस आसान से बनने वाले नाश्ते का सेवन ताज़ा ही करें वरना यह थोड़े सूखे हो जाते हैं।
मशहुर पुदिना आलू को किसी भी परिचय की आवश्यक्ता नहीं है। एक बेहद मशहुर स्टार्टर, यह अपने बेहद शानदार स्वाद के लिए और उनमें भरपुर मात्रा में स्टार्च के लिए अच्छी तरह जाने जाते हैं। यहाँ, हमनें इस पसंदिदा व्यंजन में आलू की जगह फूलगोभी का प्रयोग कर बदला है। पुदिना गोभी उतना ही स्वादिष्ट स्टार्टर बनाता है, जो फूलगोभी से विटामीन सी और रेशांक और पुदिना के पेस्ट से विटामीन ए के गुणों से भरपुर है, वह भी बिना कॅलरी प्रदान किये।
हालंकि इस सामग्री का प्रयोग आमतौर पर नही किया जाता है, लेकिन इस काली मिर्च के स्वाद से भरे पराठों में, राजगीरा का आटा आली के साथ अच्छी तरह जजता है। आलू पराठों को नरम रखता है। इन पराठों को तीखी हरी चटनी और दही के साथ गरमा गरम परोसें।
इस पौष्टिक पिज़्जा बेस में मैदा की जगह लौह भरपुर ज्वार के आटे और बाजरे के आटे का प्रयोग किया गया है, जिनके उपर पारंपरिक टमाटर आधारित पिज़्जा सॉस डाला गया है। अपने बच्चों को इस भाखरी पिज़्जा के उपर टॉपिंग अपने आप बनाने दें, जिससे उन्हे और भी मज़ा आएगा।
इन स्वादिष्ट शीरे में, गेहूं के आटे और सूजी को ज्वार के आटे से बदला गया है। केले इसमें ज्वार के आटे के फीके स्वाद को संतुलित बनाते हैं। इस शीरे को बनाकर तुरंत परोसें, जिससे इसमें डल्ले ना बने। इस व्यंजन को जितना हो सके, परोसने के समय ही बनाऐं।
बहुत से दक्षिण भारतीय व्यंजन की तरह, यह एक गरमा गरम और तीखी टमाटर और प्याज़ की चटनी है। इस चटनी से अपने खाने को मज़ेदार बनाऐं। इसे पीसकर दरदरा मिश्रण बना लें और इसके अनोखे स्वाद का मज़ा लें।
रागी और सोया के आटे से बने यह क्रिस्प्स्, लौहतत्व, कॅल्शियम और प्रोटीन से भरपुर है। इन्हें तवे पर पकाना पौष्टिक विकल्प है, लेकिन आप इन्हें तल भी सकते हैं। इन पुरी को पहले से बनाकर रखें और हवा बन्द डब्बे में रखकर ग्लूटेन मुक्त नाश्ते का मज़ा लें।
क्या आप यह सोच रहें कि प्रोटीन से भरपुर राजमा को अपने बच्चों को कैसे खिलाऐं? उन्हें स्वादिष्ट राजमा से बने भरवां मिश्रण के साथ चावल से बने रोल्स् परोसें,साथ ही उपर दही से बनी ड्रेसिंग डालें और देखें कि कैसे वह इसका मज़ा लेते हैं। रोटी को परोसने से तुरंत पहले ही बनाऐं जिससे वह रबर जैसी ना हो जाए।
अगर आपको ऐसा लगा कि ग्लूटन मुक्त केक बनाना असंभव है, तो आपको यह ज्वार के आटे से बना बेसिक चॉकलेट स्पोंज का विकल्प ज़रुर पसंद आएगा। इस पौष्टिक विकल्प को व्हीप्ड क्रीम, चेरी, चॉकलेट की सजावट से सजाऐं और कोई भी अंतर समझ नहीं पाएगा।

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन