This category has been viewed 4608 times
 Last Updated : Dec 04,2019


 भारतीय स्वस्थ > उच्च रक्तचाप के लिए व्यंजन



High Blood Pressure - Read In English
લોહીના ઉંચા દબાણ માટેના વ્યંજન - ગુજરાતી માં વાંચો (High Blood Pressure recipes in Gujarati)

हमारे अन्य कम नमक (कम सोडियम) रेसिपी की कोशिश करो …
कम नमक खाने के साथ रेसिपी : Lower Blood Pressure Accompaniments Recipes in Hindi
कम नमक ब्रेकफास्ट रेसिपी : Lower Blood Pressure Breakfast Recipes in Hindi
कम नमक सूप रेसिपी : Lower Blood Pressure Soups Recipes in Hindi
हैप्पी पाक कला!


Top Recipes

खाने में नमक करना बहुत आसान है। आपको केवल खाने में अन्य स्वादिष्ट और खुशबुदार सामग्री का प्रयोग करना है और आपको नमक ना होने का अहसास नही होगा। ना केवल यह, साय़ ही आपको यह समझ आएगा कि लो-सोडियम आहार का मतलबा केवल नमक करना नही होता, लेकिन साथ ही आपको अन्य उच्च सोडियम वाले सामग्री का सेवन का भी कम करना चाहिए। यह देखते हुए, यह कॅरट एण्ड बेल पेपर सूप एक बेहतरीन चुनाव है, जिसे पुरी तरह से पौष्टिक, लो-सोडियम सामग्री जैसे गाजर, शिमला मिर्च और टमाटर से बनाया गया है। जहाँ टमाटर हल्का खट्टापन प्रदान करते हैं और गाजर सूप को गाढ़ा बनता है, हर्ब और शिमला मिर्च इसमें स्वाद प्रदान करते हैं। इस चटपटे लो-सोडियम सूप का मज़ा लें और रक्तचाप को संतुलित रखें।
मसालों के सही उपयोग से नमक की अपर्य़ाप्ता का प्रभाव छिपाया जा सकता है और कोई भी व्यंजन का शानदार स्वाद सुनिश्चित किया जा सकता है। इस नुस्खे में रंगीन और स्वादिष्ट सब्जियों को प्याज़ और मसाले वाली टमाटर की ग्रेवी में पकाया गया है। इसमें उपयोग की गई पेस्ट में पोहा मिलाया गया है, ताकि ग्रेवी को गाढ़ापन मिल सके। उच्च रक्तचाप वाले लोगों के लिए इस सब्ज़ी को अनुकूल बनाने के लिए हमने यहाँ नमक को प्रतिबंधित किया है। इस सब्ज़ी को गरमा-गरम फुल्का के साथ परोसें।
बादाम बेरी और नारियल का केक अपनी मुंह में पिघल जानेवाली बनावट और शानदार स्वाद धराने वाले केक है, जो आपके तालू जरूर ही पसंद आएगा। इस अनोखे केक में मैदे और चीनी के बजाय बदाम के आटे , नारियल, सूर्यमुखी के बीज़ और शहद का उपयोग किया गया है। इस केक में इस्तेमाल की गई हर एक सामग्री आपके शरीर के लिए फायदाकरक है। बादाम में स्वस्थ चरबी, प्रोटिन , मैगनिशियम और विटामिन ई भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। यह शरीर में रक्त शर्करा, रक्तचाप और कोलेस्ट्रोल के स्तर को कम करने में मदद रूप होते हैं। नारियल में मध्यम श्रृंखला ट्राइग्लिसराइड होते हैं, जो आंत्र पथ से थकृत (लीवर) में जाकर तुरंत ही उर्जा में परिवर्तित हो जाते हैं। सूर्यमुखी के बीज़ में एटिऑक्सिडंट का खजाना होता है। शहद के साथ, बेरी इस केक में एक मधुर मिठास जोड़ देते हैं। यदि आपको थोड़ा ज्यादा मिठा पसंद हो, तो आप इसमें थोडा और शहद मिला सकते हैं। यह स्वास्थ्यभरा नुस्खा वज़न पर नज़र रखने वाले और खेलकूद करने वालों के लिए एक उतत्म नाश्ता है, क्योंकि यह स्वस्थ वसा से समृद्ध हैं। आप चाहें तो इसका मज़ा नाश्ते में या फिर खाने के बाद डिज़र्ट के तौर पर ले सकते हैं। अन्य स्वास्थ्यदायक अंडारहित सूजी और नारियल का केक और एवकाडो और नारियल की क्रॉस्टिनी भी जरूर आज़माइए।
पुलाव दुनिया भर में सबसे प्रसिद्ध भारतीय व्यंजनों में से एक है। मसालों का सुखद संयोजन, रंगीन सब्ज़ियों का मेलाप और साथ ही बिरयानी मसाले का छिड़काव इस पुलाव को अद्भूत स्वाद देता है। हमने यहाँ फाइबर-युक्त ब्राउन चावल और कम नमक का उपयोग करके यह मशहूर पकवान तैयार किया है। हालांकि हमने कम नमक का उपयोग किया है, पर सही मसालों का संयोजन इस पुलाव को शाही स्वाद और खुश्बू प्रदान करते हैं। यह ब्राउन राईस वेजीटेबल पुलाव रायते के साथ परोसे जाने पर अपने आप ही एक डिश भोजन का एहसास देता है।
जब आपका कुछ नाध्ता खाने का मन हो और साथ ही रक्त चाप को संतुलित रखना हो, इस स्वादिष्ट, पौषण से भरपुर मिनी बेक्ड मूंग दाल एण्ड ज्वार पुरी को बनाकर देखें। इसमें प्रयोग की गई सामग्री भरपुर मात्रा में प्रोटीन, रेशांक और अन्य हृदय के लिए लाभदायक पौषण तत्व प्रदान करते हैं, वह भी लो-फॅट और लो-सोडियम के साथ। इन पुरी में नमक की मात्रा बहुत कम है, लेकिन मसालों के प्रयोग की वजह से आपको इसका अहसास ही नहीं होगा। यही नही, इन पुरीयों को तला भी नही गया है, लेकिन केवल 15 मिनट के लिए बेक कर बनाया गया है। ऐसा करने से इनमें वसा की मात्रा को काफी कम किया गया है, जिससे नलीयों में खून जमनें की आशंका कम हो जाती है। इन करारी पुरीयों को हवा बंद डब्बे में डालकर संगह्र करें, जिससे भूख लगने पर आप कभी भी इनका मज़ा ले सकते हैं या इनसे चाट या अन्य तरह के नाश्ते बना सकते हैं।
रोटला बाजरा, ज्वार या नाचनी के आटे से बनाए जाते हैं और यह घी और गुड़ के साथ बेहद अच्छे लगते हैं। इस बात का ध्यान रखें कि रोटलों को आटा गूँथने के तुरंत बाद बना लें, क्योंकि यह आटा जल्दी सख्त हो जाता है जिसकी वजह से इन्हें बेलना मुश्किल हो जाता है। धैर्य से और बार-बार बनाने से आप इन रोटला को बहुत अच्छे से बेलने योग्य हो जाऐंगे और यह अच्छी तरह फूलेंगे भी। रोटला आप रिंगणा वटाना , कड़ी और तुवर दाल नी खिचड़ी के साथ परोसें और सम्पूर्ण भोजन का मज़ा लें।
पुरी किसे पसंद नहीं आती? जिन्हें पसंद हो और डॉक्टर उन्के आहर की सूची से ऐसे तले हुए नाश्ते को निकालने की सलाह दे, तो उनका दिल टूट जाता है। यहाँ एक मज़ेदार बेक्ड कूट्टू की पुरी जो स्वास्थ्यदायक रूप दिया गया है। हमने इस नुस्खे में कट्टू के आटे का प्रयोग किया है क्योंकि यह रक्तशर्करा और कोलेस्ट्रॅाल के स्तर को बेहतर तरीके से नियंत्रित करता है। कूट्टू मैंगनीज़ का भी अच्छा स्त्रोत है जो हमारे शरीर को आवश्यक एनज़ाईम का उत्पादन करता है, जिससे हमारी हड्डियाँ मज़बूत होती हैं। इसके अलावा यह एक पूर्ण प्रोटिन भी है, इसलिए एथलीट के लिए भी उपयुक्त है। कूट्टू के आटे को बेलने में थोडी परेशानी हो सकती है, इसलिए आप इन्हें हथेलियों से थप-थपा सकते हैं या दो प्लास्टिक शीट के बीच रखकर बेल सकते हैं।
इस सूप में ताज़े हरे मटर का स्वाद ताज़े बेसिल के साथ बखूबी अच्छा साथ देता है। हमने इस सूप को बिना छाने बनाया है ताकि उसकी फाइबर की मात्रा बनी रहे। नमक के प्रतिबंधित उपयोग के कारण यह सूप उच्च रक्तचाप वाले लोगों के लिए बढ़िया विकल्प है। हालंकि हमने इस सूप में मर्यादित नमक का उपयोग किया है, पर बेसिल के मिलाने के कारण यह अत्यधिक स्वादिष्ट बनता है। और तो और, बेसिल इस सूप को सुगंधित भी बनाता है। अन्य कम नमक वाले सूप जैसे कि कॅरट एण्ड बेल पेपर सूप और वन मील सूप, कम नमक रेसिपी भी जरूर आज़माइए।
नाम से पता चल जाता है कि इस रोटी की मूख्य सामग्री है बाजरा। और इसी के साथ मिलाए गए हैं उबले और मसले हुए हरे मटर, जिससे रोटी को मिलता है उसका अनोखा स्वाद। इस रोटी को मज़ेदार और अधिक स्वादिषट बनाने के लिए बहुत सारा ताज़ा धनिया और थोडी सी कालीमिर्च मिलाई गई है। इसकी सुगंध और शानदार बनावट का मज़ा लेने के लिए इसे बनाकर तुरंत परोसना अत्यधिक आवश्यक है।
यह एक पौष्टिक सूप है जो दिल के लिए वास्तव में चमत्कारी है। इस वन मील सूप में भरपूर मात्रा में मिलाई हुई सब्ज़ियाँ और मूंग दाल बहुत अच्छी मात्रा में फाइबर और प्रोटिन प्रदान करते हैं। यह सूप विटामिन सी का भी अच्छा स्त्रोत है, जो एक शक्तिशाली ऐंटीआक्सिडन्ट के रूप में रक्त वाहिकाओं की क्षति होने से बचाव करता है। यदि आप इस सूप में बताए अनुसार निर्धारित नमक की मात्रा मिलाएँ तो यह सूप उच्च रक्तदाब वाले लोगों के लिए निश्चय ही बढ़िया विकल्प है। जिन्हें उच्च रक्तदाब की बिमारी न हो वे थोडे से ज्य़ादा नमक का प्रयोग कर सकते हैं। आप कॅरट एण्ड बेल पेपर सूप भी आज़मा सकते हैं।

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन