This category has been viewed 7018 times
 Last Updated : Apr 01,2020


 भारतीय स्वस्थ > पौष्टिक घरेलु नुस्खे



Home Remedies - Read In English
ઘરેલું ઉપાય - ગુજરાતી માં વાંચો (Home Remedies recipes in Gujarati)

Top Recipes

बच्चों के लिए गाजर का सूप रेसिपी | 6 महीने के शिशु के लिए गाजर का सूप | बच्चों के लिए गाजर का सूप कैसे बनाये | बच्चों के लिए गजरे का सूप बनाने की विधि | carrot soup for babies in hindi | with 11 amazing images.
इस ताज़गी भरे पेय की संरचना इतनी सुंदर है कि आपके द्वारा आज तक चखे गये किसी भी पेय से अनोखी है। नारियल पानी के साथ नारियल की मलाई की बनावट बहुत ही रसदार है और जब इसे ठंडा परोसा जाए तो वह अपने हलके मिठे स्वाद से आपकी स्वाद कलिकाओं में सनसनाहट लाएगी, जो नारियल पानी का अनोखा स्वाद हैं। नारियल पानी को पहले ठंडा करें लेकिन इस पेय को परोसने से पहले ही मिक्सर में पिसें। इस मिश्रण को पिसकर फिर फ्रिज में ना रखे क्य़ोकि आप इसके ताजे स्वाद और बनावट को खो देंगे।
आपकी भूख बढ़ाने के लिए इस सलाद की एक झलक ही काफी है, लेकिन अगर यह भी काम ना करे, तो इस सलाद का एककप आपकी भूख बढ़ाने का काम ज़रुर करेगा। सेब के टुकड़े और पुदिना का मज़ेदार मेल जिसे अदरक, नींबू के रस और शहद से सजाया गया है, इस मिन्टी एप्पल सलाद में एन सभी सामग्री का मेल है, जो आपकी भूख बढ़ाने मे मदद करेंगे। जहाँ पुदिना, नींबू का रस और अदरक भूख बढ़ाने के लिए जाने जाते हैं। बहुत से लोगो को यह पता नही है कि सेब भी पाचन स्वस्थ रखने में मदद करता है और भूख बढ़ाने में मदद करता है। देखा गया तो, यह स्वादिष्ट सलाद अरुचि ठीक करने के लिए पर्याप्त है।
पीनट बटर | घर का बना हुआ मूंगफली का मक्खन | पौष्टिक पीनट बटर | Homemade Peanut Butter Recipe in Hindi | with 6 amazing images. घर का बना हुआ मूंगफली का मक्खन नमक रहित मूंगफली से बनाया गया है जो मोनो-अनसैच्युरेटेड फैट का एक अच्छा स्श्रोत है। जी हाँ, वास्तव में यस आप के लिए उत्तम है। नारियल का तेल इस पीनट बटर को एक मज़ेदार स्वाद देता है और साथ ही मध्यम श्रृंखला ट्राइग्लिसराइड भी देता है। बज़ार से खरीदे हुए पीनट बटर से बेहतर है कि यह आप अपने घर पर ही बनाएँ क्योंकि बाज़ार में मिलते मूंगफली को मक़्खन में शक्कर और वनस्पति की मात्रा अधिक होती है। यह स्वादिष्ट और किफायती है और बाज़ार से लाने वाले मक़्खन की तुलना में आधे दाम में बनाया जा सकता है। एक हवाबंद काँच के जार में इस पीनट बटर को भर कर इसका संग्रह फ्रिज में कीजिए, यह लगभग 15 दिन तक ताज़ा रहता है। बस, जब भूख लगे तब एक चम्मच भर चाट लीजिए। आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि वास्तव में इस घर का बना हुआ मूंगफली का मक्खन में सही चरबी होने के कारण यह वज़न पर नज़र रखने वालों के लिए एक उपयुक्त नाश्ता है। इस घर का बना हुआ मूंगफली का मक्खन की गिनती पहलवानों के लिए भी एक जादुई नाश्ते के रूप में होती है क्योंकि यह आसानी से आपके रक्त प्रवाह में हज़म हो जाता है और लंबे समय के लिए निरंतर उर्जा प्रदान करता है। अन्य डिप्स् रेसिपी को भी आजमाईए जैसे लो-कॅल मेयोनीज़ क्रिमी सन-ड्राईड टमॅटो एण्ड हर्ब डिप विद वेजिटेबल स्ट्रिप्स् । नीचे दिया गया है पीनट बटर | घर का बना हुआ मूंगफली का मक्खन | पौष्टिक पीनट बटर | Homemade Peanut Butter Recipe in Hindi | स्टेप बाय स्टेप फोटो के साथ।
अदरक की चाय | अदरक का पानी | सर्दी और खांसी के लिए अदरक का पानी | सर्दी और खांसी के लिए घरेलु नुस्खे | ginger water recipe in hindi | with 7 amazing images. अदरक की चाय के ताज़ा स्वाद के साथ एक सुखद पेय, अदरक की चाय आपकी आत्मा को गर्म करती है और आपको बेहतर महसूस कराती है। ठंड और खांसी के लिए भारतीय स्टाइल अदरक की चाय बनाने के लिए, एक गिलास में अदरक और गर्म पानी को मिलाएं, ढक्कन के साथ कवर करें और 5 मिनट के लिए अलग रखें। मिश्रण तनाव और तुरंत अदरक की चाय गर्म - गर्म परोसें। अदरक पारंपरिक रूप से अपने एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों के लिए इस्तेमाल किया गया है। पेट के अपच का इलाज करने से लेकर कुछ प्रकार के कैंसर तक, यह आम मसाला चिकित्सीय लाभ प्रदान करता है। अदरक मतली, उल्टी और चक्कर को रोकने में भी अच्छा काम करता है। इसे कभी-कभी गर्भवती महिलाओं द्वारा और मोशन सिकनेस के लिए अतिसंवेदनशील लोगों द्वारा सुबह की बीमारी के लिए एक हर्बल उपचार के रूप में उपयोग किया जाता है। नीचे दिया गया है अदरक की चाय | अदरक का पानी | सर्दी और खांसी के लिए अदरक का पानी | सर्दी और खांसी के लिए घरेलु नुस्खे | ginger water recipe in hindi | स्टेप बाय स्टेप फोटो और वीडियो के साथ।
मूंग दाल की खिचड़ी | गुजराती मूंग दाल की खिचड़ी | पीले मूंग दाल की खिचड़ी | मूंग दाल और चावल की खिचड़ी | moong dal khichdi recipe in hindi language | with 8 amazing images. पीली मूंग दाल और चावल को पिपरकॉर्न के साथ पकाया जाता है और घी के साथ पकाया जाता है | मूंग दाल की खिचड़ी एक हल्की और सेहतमंद भोजन है, जो कि समृद्ध बनावट के बावजूद घी और दाल इसे प्रदान करती है। आराम प्रदान करने वाला, मूंग दाल खिचड़ी एक बेहद मशहुर व्यंजन है। यह आपको ज़रुर आराम प्रदान करेगा और आपका मुड़ अच्छा ना होने पर भी आपको अच्छा महसुस करने में मदद करेगा, खासतौर पर जब आपको बुखार हो या आपको पेट में दर्द हो! कुछ महत्वपूर्ण बाते जो मैं आपके साथ गुजराती मूंग दाल की खिचड़ी पर साझा करना चाहता हूँ। 1. प्रेशर कुकर लें और उसमें दाल डालें। हमने मूंग दाल का इस्तेमाल किया है, लेकिन बहुत से लोग तोर दाल, हरी मूंग दाल या मसूर दाल का एक संयोजन का उपयोग करते हैं | 2. पौष्टिक मूल्य बढ़ाने के लिए, आप खिचड़ी में मटर, गाजर, बीन्स, प्याज जैसी सब्जियों को शामिल कर सकते हैं। 3. प्रेशर कुकिंग के दौरान थोड़ा अतिरिक्त पानी डालकर मूंग दाल और चावल की खिचड़ी को थोड़ा नरम बनाना सबसे अच्छा है। 4. जब पीले मूंग दाल की खिचड़ी पक रही है तो तेज आंच पर न पकाएं क्योंकि खिचड़ी प्रेशर कुकर के तल में अटक जाएगी और एक जले हुए स्वाद को दे देगी। इसलिए मध्यम आंच पर पकाएं। 5. आप पीले मूंग दाल की खिचड़ी स्वस्थ बनाने के लिए चावल को इस रेसिपी में टूटे हुए गेहूं (लापसी या डालिया) से बदल सकते हैं। कालीमिर्च और घी के स्वाद से भरपुर, पका हुआ दाल और चावल एक हल्का और पौष्टिक आहार बनाता है, बजाय इसके की घी और दाल इसे गाढ़ा बनाते हैं। बहुत से गुनजराती घरों में, शुक्रवार को खिचडी़ बनाई जाती है।
दक्षिण भारत से उत्तपन्न एक सौम्य नाश्ता, यह उत्तपा अब विश्व भर में मशहुर हो गया है, कयोंकि इसे बहुत से अनोखे तरीके से बनाया जा सकता है। यह भी एक ऐसा ही विकल्प है, जिसे साबूत बाजरा और उसके आटे से बनाया गया है। गाजर और प्याज़ जैसी सब्ज़ीयाँ इस स्वादिष्ट व्यंजन को करारापन प्रदान करते हैं और वहीं धनिया, नींबू आदि मिलकर इसके स्वाद और खुशबु को निखारते हैं। इस बाजरा, कॅरट एण्ड अनियन उत्तपा को हेल्दी ग्रीन चटनी के साथ तवे से उतारकर तुरंत परोसें।
कुछ घरेलु उपाय बेहतरीन स्वाद के साथ आते हैं, जो गला खराब होने के लिए पर्याप्त है! गले में खराश के लिए यह पुराना घरेलु उपाय इस बात का पर्याप्त उदाहरण है। अपने हल्दी और अजवायन के चितिक्सक गुण सौम्य तीखे स्वाद से भरपुर है जो आपके गले को बेहतरीन तरह से आराम प्रदान करते हैँ। 2-3 दिनों तक इस अजवायन एण्ड टर्मरिक मिल्क के 2 ग्लास आपको गले में खराश से आराम दिलाने में मदद करेंगे। इसे जितना हो सके गरम तापमान पर ग्रहण करें।
सर्दी और खांसी के लिए शहद अदरक की चाय | खांसी के लिए अदरक शहद पियें | कोल्ड के लिए नींबू शहद अदरक पियें | honey ginger tea recipe in hindi language | with 11 amazing images. सर्दी और खांसी के लिए यह सुखदायक और सुगंधित सशहद अदरक की चाय सर्दी और खांसी के लिए एक अच्छा घरेलू उपाय है। अदरक को गर्म उबलते पानी में डाले और नींबू के रस और शहद के साथ मिलाकर पीने से भी काफी राहत मिलती है। खांसी के लिए जिंजर हनी पीने से शरीर के लिए एक विरोधी के रूप में कार्य करता है। नींबू का रस स्वाद के अलावा, विटामिन सी का एक स्पर्श जोड़ता है, जो सर्दी और खांसी के कारण बैक्टीरिया और वायरस से लड़ने के लिए आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करता है। नींबू में शहद अदरक पीने से सर्दी खांसी से राहत मिलती है और गले में खराश से राहत मिलती है। इसका मीठा स्वाद भी इस चाय को काफी भाता है। सर्दी और खांसी के लिए यह हनी अदरक की चाय एक आदर्श चाय है जब आप सुबह गले में खराश के साथ उठते हैं। तुलसी टी और मिन्टी हनी लेमन ड्रिंक जैसे अन्य पेय भी जरूर आज़माइए। नीचे दिया गया है सर्दी और खांसी के लिए शहद अदरक की चाय | खांसी के लिए अदरक शहद पियें | कोल्ड के लिए नींबू शहद अदरक पियें | honey ginger tea recipe in hindi language | स्टेप बाय स्टेप फोटो के साथ।
पॅनकेक विभिन्न प्रकार से और विभिन्न आटे से बनाए जाते है। इस पॅनकेक में ककड़ी, प्याज, दही और हरी मिर्च डालकर सादे ज्वार के आटे के साथ नरम और स्वादिष्ट पॅनकेक बनाए गए है। इसे ताजी हरी चटनी के साथ परोसे।

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन