This category has been viewed 36688 times
 Last Updated : Sep 30,2018


 कोर्स रेसिपी, भारतीय कोर्स रेसिपी, वेज मुख्य व्यंजनों > मेन कोर्स वेज > रोटी / पुरी / पराठे



Rotis / Puris / Parathas - Read In English
રોટી / પૂરી / પરોઠા - ગુજરાતી માં વાંચો (Rotis / Puris / Parathas recipes in Gujarati)

Top Recipes

तैयार मिलने वाली सामग्री से बना एक स्वादिष्ट नाश्ता, यह मसाला टिकाड़ीया ज़ीरे के स्वाद से भरपुर है। एक ही समय में नरम और करारे, यह अपने सौम्य स्वाद और ताज़े रुप से आपका मन ज़रुर जीत लेंगे। केवल इस बात का ध्यान रखें कि इन मसाला टिकाड़ीया को ताज़ा बनाकर तुरंत परोसें, जिससे इनके स्वाद और रुप का पुरी तरह मज़ा लिया जा सके।
बाजरा रोटी | बाजरे की रोटी | राजस्थानी बाजरे की रोटी | बाजरा रोटी | bajra roti recipe in hindi | with 16 amazing images. हालांकि बाजरा रोटी राजस्थान के कुछ ही हिस्सों में कि जाती है, बाजरे की रोटी को संपूर्ण क्षेत्र में पसंद किया जाता है। गाँव में इन मोटे बेले हुए बाजरे की रोटी को कन्डे (गोबर के कंडे) पर पकाया जाता है। यह इन्हें बनाने का पारंपरिक तरीका है क्योंकि यह इन रोटीयों को जला हुआ स्वाद प्रदान करता है। लेकिन, यह इन बाजरे की रोटी को तवे में पकाया हुआ विकल्प है। राजस्थानी भोजन मे, बाजरे की रोटी को लगभग किसी भी प्रकार की कढ़ी या सब्ज़ी के साथ परोसा जा सकता है। वहाँ के लोगों का मुख्य आहार बाजरे की रोटी, लहसुन की चटनी और प्याज़ का मेल होता है। हालांकि इन्हें बनाना बेहद आसान है, यह बेहद स्वादिष्ट लगते हैं! नीचे दिया गया है बाजरा रोटी | बाजरे की रोटी | राजस्थानी बाजरे की रोटी | बाजरा रोटी | bajra roti recipe in hindi | स्टेप बाय स्टेप फोटो और वीडियो के साथ।
भाखरी | गुजराती स्टाइल बिस्किट भाकरी | काठियावाड़ी भाकरी | bhakri ( gujarati recipe) in hindi | with 18 amazing images. विशिष्ट रुप से भाखरी एक बिस्कुट जैसा ब्रेड है जिसमें घी और ज़ीरे का स्वाद होता है। अकसर दो तरह की भाखरी होती है- एक को बिस्कुट की तरह पकाया जाता है और दुसरे को फूलाकर घी के साथ परोसा जाता है। अगर आपको बाहर जाते समय भाखरी बनानी हो, इन्हें छोटा और करारा बनाऐं। किसी भी तरह से बनाने पर, भाखरी पकाते समय दबाते रहें, जिससे यह अंदर से भी अच्छी तरह पका जाए।
यह रैडिश पालक का पराठा अपने आप में ही अलग है। पालक का प्रयोग आटे में किया गया है, वहीं मूली स्वाद से भरा भरवां मिश्रण बनाती है। हमेशा की तरह आम भरवां पराठे बनाने की जगह, यहाँ मूली के मिश्रण को आधी-पकी हुई रोटी में फैलकार, आधा मोड़कर, तवे पर क्रेसेन्ट आकार का व्यंजन बनाया गया है।
प्याज और पुदीने की रोटी की रेसिपी | हेल्दी प्याज और पुदीने की रोटी | pyaz aur pudina ki roti recipe in hindi | प्याज और पुदीने की रोटी इतनी स्वादिष्ट है कि आप उंगलियाँ चाटते रह जाएँगे। वैसे भी पुदिना के पत्ते इतने मजेदार होते हैं कि वे किसी भी व्यंजन को रूचिकारक बना देते हैं। इस प्याज और पुदीने की रोटी की रेसिपी में इन पुदिने के पत्ते को हरी मिर्च, नीबूं के रस और प्याज़ के साथ मिलाकर एक खास पेस्ट तैयार की गई है, जौ इन रोटियों को अत्यधिक मनमोहक बना देती है। इसे और रोमंचक बनाने के लिए एक कप दही के साथ परोसें। आलू पनीर रोटी और कॅरट एण्ड कोरीयेन्डर रोटी को भी आजमाईए, आप जरूर दंग रह जाएँगे।
जहाँ आटे मे पुदिने का पेस्ट मुख्य अंश है, पत्तागोभी, आलु और मकई जैसी सब्ज़ीयों का भरवां मिश्रण इसे और भी मज़ेदार बनाता है। कुछ आम लेकिन प्रभावशील सामग्री जैसे हरी मिर्च, नींबू का रस, धनिया और गरम मसाला इन पराठों को बेहद स्वादिष्ट बनाते है।
पत्ता गोभी एण्ड पनीर पराठा रेसिपी | कैबॅज एण्ड पनीर पराठा | हेल्दी पत्तागोभी पनीर पराठा | cabbage paneer paratha recipe in hindi | with 22 amazing images. आपने कभी पत्तागोभी और पनीर को किसी बी व्यंजन में साथ मिलाकर बनाना नही सोचा होगा क्योंकि दोनो का स्वाद सौम्य होता है-और एक बार इस व्यंजन को बनाने के बाद आपको यह एहसास होगा कि दोनो एक दुसरे के स्वाद और रुप के के साथ बेहरतीन तरीके के जजते है। यह पराठे समय ना होने पर झट-पट बन जाते है। इन्हे गरमा गरम दही के साथ परोसे और आपका खाना तैयार है!
इन पनीर मसूर पराठों में एक घरेलू एहसास है। शायद यह संतोषजनक तो हैं, पर साथ ही परंपरागत सामग्री का उपयोग करके एक संपूर्ण भोजन का एहसास देते हैं। इन मनमोहक पराठों में, गेहूं के आटे में मसूर और पनीर के साथ प्याज़ और मसालों के संयोजन से तैयार होते भरवां मिश्रण को भर दिया है। यह सुनिश्चित करें कि मसूर को अन्य सामग्री के साथ मिलाने से पहले, उन्हें अच्छी तरह से छान लें, नहीं तो पराठे नरम पड जाएँगे। इन पराठों को गरमा-गरम ताज़ा दही के साथ परोसें।
मिनी ग्रीन थेपला रेसिपी | स्वस्थ थेपला | मिनी पालक थेपला | उच्च फाइबर नाश्ता | mini green thepla in hindi. मिनी ग्रीन थेपला सभी स्वास्थ्य के प्रति जागरूक के लिए एक पौष्टिक सुबह का नाश्ता और स्नैक विकल्प है। मिनी पालक थेपला बनाना सीखें। ज्वार के आटे, रागी के आटे और जई के आटे के साथ फोर्टीफाइड, ये हेल्दी थेपला फाइबर से भरपूर और बेहद आनंददायक हैं। एक पूरी तरह से पौष्टिक नाश्ता जो आपको दिन भर सक्रिय रखेगा - यदि आप नियमित दलिया और उपमा से बदलाव चाहते हैं तो ये मिनी ग्रीन थेपला एक बढ़िया विकल्प हैं। 2 स्वस्थ थेपला सुबह में आपको संतृप्त करने के लिए पर्याप्त हैं और आपको लंबे समय तक भरा हुआ रखते हैं। मिनी ग्रीन थेपला बनाने के लिए सबसे पहले टॉपिंग बना लें। उसके लिए, एक नॉन-स्टिक पैन में तेल गरम करें, उसमें प्याज डालें और मध्यम आँच पर २ मिनट के लिए या जब तक प्याज पारभासी हो जाए, तब तक भूनें। शिमला मिर्च डालें और मध्यम आंच पर २ से ३ मिनट के लिए भूनें। पनीर, धनिया और नमक डालें, अच्छी तरह मिलाएँ और लगातार हिलाते हुए एक और १ से २ मिनट तक पकाएँ। आंच से उतार लें और इसे पूरी तरह से ठंडा होने दें। फिर एक कटोरे में सभी अवयवों को मिलाएं और पर्याप्त पानी का उपयोग करके नरम आटा गूंध लें। रोलिंग के लिए थोड़ा ज्वार के आटे का उपयोग करते हुए, १० मोटे गोल में रोल करें। एक नॉन-स्टिक तवा गरम करें और थेपला को थोड़ा सा तेल लगाकर दोनों तरफ से सुनहरा भूरा होने तक पकाएं। प्रत्येक मिनी ग्रीन थेपला पर समान रूप से टॉपिंग के एक हिस्से को फैलाएं और तुरंत परोसें। मिनी पालक थेपला में रंगीन शिमला मिर्च एंटीऑक्सिडेंट और विटामिन सी का एक स्पर्श जोड़ते हैं जो हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली का निर्माण करने में मदद करते हैं और हमें आम सर्दी और खांसी जैसी बीमारियों से लड़ने में मदद करते हैं जबकि हृदय रोग और कैंसर जैसी पुरानी बीमारियों की शुरुआत को रोकते हैं। बहु आटा, पालक और शिमला मिर्च के साथ आपके पाचन तंत्र को स्वस्थ रखने के लिए पर्याप्त फाइबर प्रदान करते हैं। यह कब्ज से बचाता है। इसके अलावा, पनीर और रागी के आटे के कारण यह उच्च फाइबर नाश्ता कैल्शियम और प्रोटीन का एक अच्छा स्रोत है। मिनी ग्रीन थेपला के लिए टिप्स 1. पालक को मेथी के पत्तों से बदला जा सकता है। 2. थेपला को धीमी से मध्यम आंच पर पकाएं क्योंकि वे मोटे तौर पर रोल करें होते हैं और उन्हें अंदर से पकाने के लिए समय की आवश्यकता होती है। 3. अगर आपको लगता है कि आप सुबह के समय दबाए जाते हैं, तो आटा बनाएं और पिछली रात को प्रशीतित करें। अगली सुबह, स्टफिंग बनाते समय इसे 15 मिनट के लिए कमरे के तापमान पर रखें। आनंद लें मिनी ग्रीन थेपला रेसिपी | स्वस्थ थेपला | मिनी पालक थेपला | उच्च फाइबर नाश्ता | mini green thepla in hindi स्टेप बाय स्टेप फोटो और वीडियो के साथ।
इस दिलचस्प पराठे का आधार है गेहूं के आटे और हरे मटर से बनाया हुआ अनूठा आटा। पनीर और रसदार किशमिश का भरवां मिश्रण इस पराठे को अत्यंत मोहक बनाता है। हरी मिर्च के तीखेपन को किशमिश की हल्की मिठास बहुत अच्छे से संतुलित करती है और इन पराठों को एक यादगार व्यंजन बनाती है। दरअसल, जिस दिन आप इन मज़ेदार पनीर और हरे मटर के भरवां पराठों को परोसेंगे, वह अपने आप में ही एक यादगार अवसर बन जाएगा। ओरियेन्टल स्टाईल स्टर-फ्राईड पराठा और डबल डेकर पराठा जैसे अन्य पराठे भी जरूर आज़माइए।

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन