This category has been viewed 18627 times
 Last Updated : Nov 28,2019


 भारतीय स्वस्थ > पौष्टिक लोह युक्त रेसिपी



Iron Rich - Read In English
આયર્ન ભરપૂર રેસિપિ - ગુજરાતી માં વાંચો (Iron Rich recipes in Gujarati)

पौष्टिक लोह युक्त  रेसिपी, Healthy Iron Rich Recipes in Hindi

 

पौष्टिक लोह युक्त  रेसिपी, Healthy Iron Rich Recipes in Hindi

 

 

 

 

 

 

 


Top Recipes

नाचनी लौहतत्व के बहतरीन स्रोत में से एक है और इसकी रोटी बनाना बहुत अच्छा तरीका है। लेकिन इसे एक ही रुप में बनाने में हम बोर सकते हैं। इसलिए, इस सामग्री के पौषणतत्व को समझने के बाद, आप इसे विभिन्न तरीकों से बनाकर अपने आहार का भाग बना सकते हैं। यहाँ हमनें नाचनी परोसने का एक बेहद स्वादिष्ट तरीका बताया है, जिससे आप अपने आहार में लौहतत्व की मात्रा को बढ़ाकर रक्तक्षीण्ता से बच सकते हैं। मसालें और नींबू के रस से बने चटपटे नाचनी का आटे को सेव के रुप में बनाकर पर्याप्त रुप से बेक किया गया है। आधे घंटे से कम में तैयार, इस स्वादिष्ट बेक्ड नाचनी सेव को हवा बद डब्बे में रखकर संगह्र कर सकते हैं और किसी भी समय इसका मज़ा ले सकते हैं।
झटपट बनने वाला, यह ज्वार उपमा एक पौष्टिक नाश्ता है जिसे आप सुबह के नाश्ते, खाने या दिन के किसी भी समय के लिए बना सकते हैं। रवा से बने पारंपरिक उपमा एक काफी पौष्टिक विकल्प, इस ज्वार उपमा को काफी मात्रा की सूजी को रेशांक और लौहतत्व भरपुर ज्वार के आटे से और हरे मटर से बदलकर बनाया गया है। हालांकि इसके रुप को अच्छा रखने के लिए कम मात्रा में सूजी का प्रयोग किया गया है। आप इसमें स्वाद, करारापन और पौषण तत्व प्रदान करने के लिए गाजर और टमाटर जैसी सब्ज़ीयाँ भी मिला सकते हैं। अन्य अनाज से बने व्यंजन की तरह, इस ज्वार उपमा को भी बनाकर तुरंत परोसना ज़रुरी है।
पंडोली एक गुजराती नाश्ता है, जो बहुत ही अनोखे तरीके से डबल बॉयलर में पकाया जाता है। छोला दाल इस व्यंजन में प्रोटिन, कैल्शियम, लोहतत्व और फोलिक एसिड की मात्रा बढ़ाने में मददरूप होती है। परंतु छोला दाल को कुछ घंटों के लिए भिगोना आवश्यक है, ताकि उसकी चाहे तो पंडोली मोल्ड में भी बना सकते हैं। हमने इस पंडोली मोल्ड को रोमांचक और रंगीन बनाने के लिए इसमें पालक मिलाई है, पर आप किसी भी हरी सब्जी का उपयोग कर सकते हैं। इस पंडोली के स्वाद का आनंद हरी चटनी या नारियल की चटनी के साथ लें।
साम्भर दक्षिण भारत का एक व्यंजन है। साम्भर अपने आप में ही बेहद पौष्टिक होता है, क्योंकि इसमें तुवर दाल और मिली-जुली सब्ज़ीयों के मेल का प्रयोग किया गया है। कद्दू, सहजन की फल्ली और लौकी जैसी सब्ज़ीयाँ इस व्यंजन को पौषण तत्व प्रदान करते हैं, वहीं मेथी भाजी से भरपुर मात्रा में लौष प्रदान होता है, जो साथ ही स्वाद और खुशबु प्रदान करता है। इस मेथी लीव्स् साम्भर को इडली, डोसा, चावल के साथ गरमा गरम परोसें या इसे रोटी के साथ भी परोसा जा सकता है।
लोग अकसर सब्ज़ीयों की पौष्टिक्ता को मैदा से बने रैप में लपेटकर उसकी पौष्टिक्ता को अनदेखा कर देते हैँ। इस रैप के लिए, क्यों ना हम बची हुई चपाती का प्रयोग करें-जैसा इस व्यंजन में दिया गया है? बचे हुए खाने को प्रयोग करने का यह एक अनोखा तरीका है जो पौषण ततव भी प्रदान करते हैं। अगर आपके पास गार्लिक-टमॅटो चटनी तैयार है तो, इस होल व्हीट सलाद गार्लिक टमॅटो चटनी रैप को झटपट बनाया जा सकता है। बीन सप्राउटस् और अन्य ताज़ी सब्ज़ीयों का प्रयोग इस रैप को विटामीन और लौह से भरपुर बनाता है।
एक पारंपरिक महाराष्ट्रियन व्यंजन, जिसमें अंकुरित वाल डालकर इसे पौष्टिक बनाया गया है। आहार तत्व बढ़ाने के साथ-साथ, वाल को अंकुरित करने से यह पचाने में आसान हो जाते हैं, जो इस व्यंजन को दोनो बच्चे और वृद्धों के लिए लाभदायक बनाते हैं। बहुत सी खुशबुदार सामग्री के साथ, यह लौहतत्व भरपुर स्प्राउटड वाल की उसल आपके लिए तोहफे के समान है। इसके साथ ही, कोकम और गुड़ ना केवल खट्टा स्वाद प्रदान करते हैं, लेकिन साथ लौहतत्व की मात्रा को बढ़ाने में मदद करते हैं। विटामीन सी भरपुर हरे धनिया को मिलाने से यह लौह को सोखने में मदद करता है।
लौह भरपुर तीन सामग्री- चवली के पत्ते, राजमा और काबुली चनों के मेल का प्रयोग इस स्वादिष्ट दाल में किया गया है! रोज़ प्रयोग होने वाली सामग्री से बनी, यह स्वादिष्ट बीन्स् और चवली से बनी दाल बनाने में बेहद आसान है। अब आप इस व्यंजन का मज़ा अपने स्वास्थ और तेज़ मस्टिष्क के लिए लें, क्योंकि हिमोग्लोबिन की मात्रा बढ़ाने के साथ-साथ, लौह रक्त को ऑक्सीजन प्रदान करने के लिए काम आता है, जो स्वस्थ मस्तिष्क के लिए ज़रुरी होता है।
क्या आप फूलगोभी का इस्तेमाल करके उसके पत्तों को फेंक देते हैं? ऐसा फिर न करें, क्योंकि आप जिसे कचरा समझकर फंक देते हैं वह वास्तव में स्वादिष्ट और पौष्टिकहोते हैं जिसका इस्तेमाल स्वादिष्ट व्यंजन बनाने के लिए किया जा सकता है। फूलगोभी के पत्ते, मेथी और पालक की सब्ज़ी में ताज़ी हरी सब्जियों के साथ प्याज़, टमाटर और रोज़ के मसालों का संयोजन है। फूलगोभी के पत्ते और अन्य हरी सब्जियों लोह और फोलिक एसिड से समृद्ध होते है जो हिमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाने में मदद रूप होते हैं। यह पौष्टिक सब्ज़ी खास करके गर्भवती महिलाओं के लिए फायदाकारक है। यह सब्ज़ी हल्की मसालेदार होने के साथ-साथ बहुत कम तेल में पकाई गई है, इसलिए मधूमेह और हृदय की समस्या वालों के लिए फायदेमंद है।
अक्सर हम बाजार से जब फूलगोभी खरीदते हैं तब उसके हरे भाग को जल्दी से फेंक देते हैं और सिर्फ फूलगोभी के सफेद भाग को फ्रिज में रख देते हैं! यह रेसिपी आपको इस फूलगोभी के इस्तेमाल नहीं किए जाने वाले भाग की खूबी का अनुभव लेने में मदद करेगी। यह फूलगोभी के हरे पत्ते लोह और फोलिक एसिड का एक बड़ा स्रोत हैं, जो गर्भवती महिलाओं के लिए उति आवश्यक पोषक तत्व हैं। फूलगोभी के पत्ते और बेसन मुठिया एक स्वादिष्ट और पौष्टिक स्टीम्ड नाश्ता है, जो आपके लोहे और फोलिक एसिड के स्तर में बढ़ावा करने के साथ-साथ हीमोग्लोबिन की मात्रा भी बढ़ाते हैं। आपको पारंपरिक तरीके से छौंके गए मुठिया का स्वादिष्ट टेक्सचर और लुभावना स्वाद भी खूब अच्छा लगेगा। गर्भावस्था के दौरान अन्य लोह युक्त व्यंजन भी आजमाईए जैसे पोहा कटलेट , चवली बीन्स् एण्ड मिन्ट बर्गर और कोलोकैशिया लीफ उसली
सबका पसंदिदा, गर्मी की धूप से बचने के लिए, मनुष्य के लिए तरबूज़ भगवान का एक तोहफा है! यहाँ इस ताज़े फल को पसंद करने की एक और वजह है- यह लौहतत्व का बेहतरीन स्रोत है! संतरे, मौसंबी और नींबू के रस जैसे विटामीन सी भरपुर फलों के साथ इसका सलाद बनाने से, आपके शरीर में लौहतत्व को बेहतर सोखने में मदद मिलती है। इस सिटरस वॉटरमेलन सलाद की लौह की मात्रा बढ़ाकर और इसके रंग और स्वाद को निहारकर, खुशबुदार पार्सले निखारने में मदद करता है।

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन