This category has been viewed 21259 times
 Last Updated : Oct 08,2019


 भारतीय स्वस्थ > पौष्टिक लो-कॉलेस्ट्रोल फूड



Low Cholesterol - Read In English
લો કૉલેસ્ટ્રોલ વ્યંજન - ગુજરાતી માં વાંચો (Low Cholesterol recipes in Gujarati)

पौष्टिक लो-कॉलेस्ट्रोल फूड, रेसिपी: Low Cholesterol Foods, Recipes in Hindi


Top Recipes

सामान्य लहसुन की चटनी में टमाटर और हरी प्याज़ मिलाकर, इसे एक अनोखा रुप प्रदान किया गया है। टमाटर इसे खट्टापन प्रदान करता है, वहीं, धनिया और हरी प्याज़ के पत्ते इसमे कुरकुरापन प्रदान करते हैं। यह चटनी होल व्हीट सलाद रैप और मसूर रोल के साथ बेहद जजता है।
साम्भर दक्षिण भारत का एक व्यंजन है। साम्भर अपने आप में ही बेहद पौष्टिक होता है, क्योंकि इसमें तुवर दाल और मिली-जुली सब्ज़ीयों के मेल का प्रयोग किया गया है। कद्दू, सहजन की फल्ली और लौकी जैसी सब्ज़ीयाँ इस व्यंजन को पौषण तत्व प्रदान करते हैं, वहीं मेथी भाजी से भरपुर मात्रा में लौष प्रदान होता है, जो साथ ही स्वाद और खुशबु प्रदान करता है। इस मेथी लीव्स् साम्भर को इडली, डोसा, चावल के साथ गरमा गरम परोसें या इसे रोटी के साथ भी परोसा जा सकता है।
दक्षिण भारत से उत्तपन्न एक सौम्य नाश्ता, यह उत्तपा अब विश्व भर में मशहुर हो गया है, कयोंकि इसे बहुत से अनोखे तरीके से बनाया जा सकता है। यह भी एक ऐसा ही विकल्प है, जिसे साबूत बाजरा और उसके आटे से बनाया गया है। गाजर और प्याज़ जैसी सब्ज़ीयाँ इस स्वादिष्ट व्यंजन को करारापन प्रदान करते हैं और वहीं धनिया, नींबू आदि मिलकर इसके स्वाद और खुशबु को निखारते हैं। इस बाजरा, कॅरट एण्ड अनियन उत्तपा को हेल्दी ग्रीन चटनी के साथ तवे से उतारकर तुरंत परोसें।
खाना खाने के बाद लिया जाने वाला एक शानदार मुखवास! अलसी के बीजों में निहित ओमेगा 3 फैटी एसिड्स हमारी कोशिका झिल्लियों (सेल मेंब्रेन्स), सिग्नलिंग के मार्गों और न्यूरोलॉजिकल प्रणालियों को बनाने में मदद करता है। इस मुखवास के रूप में इन बीजों को बड़ी सहजता से खाया जा सकता है। आप इन बीजों के मिश्रण के लुभावने स्वाद जरूर पसंद करेंगे।
रोटला बाजरा, ज्वार या नाचनी के आटे से बनाए जाते हैं और यह घी और गुड़ के साथ बेहद अच्छे लगते हैं। इस बात का ध्यान रखें कि रोटलों को आटा गूँथने के तुरंत बाद बना लें, क्योंकि यह आटा जल्दी सख्त हो जाता है जिसकी वजह से इन्हें बेलना मुश्किल हो जाता है। धैर्य से और बार-बार बनाने से आप इन रोटला को बहुत अच्छे से बेलने योग्य हो जाऐंगे और यह अच्छी तरह फूलेंगे भी। रोटला आप रिंगणा वटाना , कड़ी और तुवर दाल नी खिचड़ी के साथ परोसें और सम्पूर्ण भोजन का मज़ा लें।
जहाँ प्याज़ को अकसर सब्ज़ीयों का स्वाद बढ़ाने के लिए चर्चित माना जाता है, प्याज़वाले मटर एक मज़ेदार व्यंजन है जहाँ प्याज़ के रिंग्स् और हरे मटर साथ मिलकर इस सब्ज़ी की शान बनते हैं। यह रेशांक, लौहतत्व और विटामीन ई भरपुर व्यंजन, स्वाद, रुप और खुशबु के मामले में अव्वल है। खट्टे ताज़े टमाटर का पल्प और सोचे समझे मसालों का मेल, मिनटों में इन आम सामग्री को एक मूँह में पानी लाने वली सब्ज़ी में बदलते है। याद रखें कि मटर को बहुत ज़्यादा ना पकाऐं जिससे उनका रंग और पौष्टिक्ता बनी रहे।
एक अनोखा डोसा, जिसे भिगोए और पीसे उड़द दाल के खमीर वाले घोल को 4 तैयार आटे के पर्याप्त मात्रा के साथ मिलाकर बनाया गया है, यह 4 फ्लॉर डोसा बेहद स्वादिष्ट और पेट भरने वाला व्यंजन है! हाई ग्लाईसमिक चावल की जगह, इस स्वादिष्ट पॅनकेक को रेशांक भरपुर आटे जैसे गेहूं का आटा, बाजरा, ज्वार और नाचनी के आटे से बनाया गया है। चूंकी इसका घोल खमीर वाला है, यह पचाने में आसान है और साथ ही करारा और नरम रुप प्रदान करता है। यह 4 फ्लॉर डोसा मधुमेह के लिए एक अच्छा चुनाव है, लेकिन हम सलाह देते हैं इसका सेवन कम से कम मात्रा के सांभर के साथ करें, जिससे नारियल की चटनी के वसा से दुर रहा जा सके।
करेले के बारे में सोचते ही सबसे पहले हमारे मन मे आता है उसका कड़वापन। लेकिन करेला मधुमेह से पीड़ीत के लिए बहुत ही लाभदायक होता है और आगर आपको इसका स्वाद पसंद आ जाए तो आप इसका भरपुर मज़ा ले सकते हैं। इस अनोखे करेले के थेपले में करेले के छिलके का प्रयोग किया गया है जिसे हम अकसर फेक देते हैं। छिलको को धोकर छोटे टुकड़ों में काटकर आटे में मिलाऐं।
यह झटपट बननेवाला डोसे का मिश्रण में उर्जा, प्रोटिन और फाइबर की भरपूर मात्रा है। ओटस् में सोल्यूबल फाइबर 'बीटा ग्लूकन' की मात्रा अधिक होती है, इसलिए इनका सेवन हमें प्रतिदिन करना चाहिए। उड़द दाल और गाज़र मिलाने से इस डोसे में प्रोटिन और विटामिन ए की मात्रा में बढ़ोतरी होती है। इन्हें बनाकर तुरंत अपनी पसंदीदा चटनी के साथ परोसें।
एक हल्का खुशबुदार स्प्रैड जिसे लो-फॅट दही, पार्सले, लहसुन और हरी पयाज़ के पत्तों से बनाया गया है, यह पार्सले योगहर्ट स्प्रैड कॅल्शियम और प्रोटीन से भरपुर व्यंजन है जो आपके हृदय के लिए लाभदायक होता है और कलेस्ट्रॉल संतुलित रखने में मदद करता है। पराठे, चीला आदि के साथ इसे चटनी की जगह परोसा जा सकता है या फिंगर फूड के साथ डिप के रुप में परोसा जा सकता है।

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन