This category has been viewed 9153 times
 Last Updated : Aug 02,2019


 भारतीय स्वस्थ > प्रोटीन भरपुर व्यंजन



High Protein - Read In English
પ્રોટીન યુક્ત વ્યંજન - ગુજરાતી માં વાંચો (High Protein recipes in Gujarati)

शाकाहारी प्रोटीन व्यंजनों, प्रोटीन युक्त व्यंजनों, प्रोटीन युक्त आहार :  High Protein Recipes in Hindi

 

शाकाहारी प्रोटीन व्यंजनों, प्रोटीन युक्त व्यंजनों, प्रोटीन युक्त आहार :  High Protein Recipes in Hindi



Top Recipes

अकसर रोज़ के खाने में, पालक को पनीर या आलू के साथ मिलाया जाता है। इस आसानी से बनने वाली सब्ज़ी में, इसके पौषणतत्व को और भी बढ़ाने के लिए, पालक को अंकुरित मटकी के साथ मिलाया गया है। अंकुरित करने से मोठ के लौहतत्व और विटामीन ए की मात्रा बढ़ जाती है, वहीं इस अनोखे व्यंजन में, पालक लौहतत्व, फोलिक एसिड और विटामीन सी प्रदान करता है। रोज़ प्रयोग होने वाले मसालों से बना एक खास मसाला पेस्ट इस स्पिनॅच एण्ड मोठ बीन्स् करी को और भी ज़्यादा स्वादिष्ट बनाता है।
जैसा हम सब को पता है, हम सबके जीवन मे, घुटनो के सहारे चलने से लेकर, लकड़ी के सहारे चलने तक, प्रोटीन का बहुत ज़्यादा महत्व होता है! इसका कारण है कि प्रोटीन ना केवल हड्डीयों को स्वस्थ रखने में मदद करती है, लेकिन साथ ही शरीर के प्रत्येक कण को स्वस्थ रखने में भी मदद करती है। गेहूं के आटे, पनीर और हरी प्याज़ के गुणों से भरपुर, यह पनीर स्प्रिंग अनियन पराठा आपके संपूर्ण शरीर के लिए एक बेहद स्वादिष्ट व्यंजन है! इसके प्रोटीन की मात्रा को बढ़ाने के लिए इसे दही के साथ परोसें।
क्रिमी मशरूम सूप के कप को कौन मना कर सकता है! और अगर आपको कहा जाए कि यह पौष्टिक विकल्प है, आपको इसे खाने के बाद और भी मज़ा आएगा। खूंभ में कार्बोहाईड्रेट की मात्रा कम होती है और इसलिए इनका ग्लाईसमिक ईन्डेक्स् भी कम होता है, जो इसे मधुमेह के लिए पर्याप्त सामग्री बनाता है। पौटॅशियम से भरपुर, खूंभ रक्त चाप को भी संतुलित रखने में मदद करता है, जो इसे और भी लाभदायक बनाता है। इसके साथ-साथ, सूप को गाढ़ा बनाने के लिए, लो फॅट दूध के साथ-साथ, गेहूं का आटा प्रयोग करने से हमनें क्रिमी रुप का मज़ा दुगना कर दिया है!
बादाम बेरी और नारियल का केक अपनी मुंह में पिघल जानेवाली बनावट और शानदार स्वाद धराने वाले केक है, जो आपके तालू जरूर ही पसंद आएगा। इस अनोखे केक में मैदे और चीनी के बजाय बदाम के आटे , नारियल, सूर्यमुखी के बीज़ और शहद का उपयोग किया गया है। इस केक में इस्तेमाल की गई हर एक सामग्री आपके शरीर के लिए फायदाकरक है। बादाम में स्वस्थ चरबी, प्रोटिन , मैगनिशियम और विटामिन ई भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। यह शरीर में रक्त शर्करा, रक्तचाप और कोलेस्ट्रोल के स्तर को कम करने में मदद रूप होते हैं। नारियल में मध्यम श्रृंखला ट्राइग्लिसराइड होते हैं, जो आंत्र पथ से थकृत (लीवर) में जाकर तुरंत ही उर्जा में परिवर्तित हो जाते हैं। सूर्यमुखी के बीज़ में एटिऑक्सिडंट का खजाना होता है। शहद के साथ, बेरी इस केक में एक मधुर मिठास जोड़ देते हैं। यदि आपको थोड़ा ज्यादा मिठा पसंद हो, तो आप इसमें थोडा और शहद मिला सकते हैं। यह स्वास्थ्यभरा नुस्खा वज़न पर नज़र रखने वाले और खेलकूद करने वालों के लिए एक उतत्म नाश्ता है, क्योंकि यह स्वस्थ वसा से समृद्ध हैं। आप चाहें तो इसका मज़ा नाश्ते में या फिर खाने के बाद डिज़र्ट के तौर पर ले सकते हैं। अन्य स्वास्थ्यदायक अंडारहित सूजी और नारियल का केक और एवकाडो और नारियल की क्रॉस्टिनी भी जरूर आज़माइए।
रोज़ाना बननेवाली तुवर दाल को मेथी के पत्तों के साथ मिलाकर दाल का एक नया रूपांतर तैयार किया गया है। मेथी के पत्तों का स्वाद और उसकी सुगंध बहुत ही मज़ेदार होती है। तो दूसरी और उसकी अनोखी कड़वाहट वास्तव में तालू को अक्सर सुखदायक लगती है। इस नुस्खे में मेथी अन्य मसालों, अदरक और प्याज़ के साथ मिलकर तुवर दाल के स्वाद को बढ़ाती है। यह मेथी तुवर दाल बेहद पौष्टिक भी है क्योंकि यह लोहतत्व, झींक और प्रोटिन जैसे पोषकतत्वों से समृद्ध है। यह दाल वज़न पर नज़र रखनेवालों, मधूमेह और वारिष्ठ नागरिकों के लिए भी उचित व्यंजन है। इस दाल को फूल्के के साथ परोसें और पूरे परिवार के साथ बैठकर इस पौष्टिक भोजन का आनंद लें।
भरपुर मात्रा में लौह की ज़रुरत है? इस सौम्य मसूर दाल एण्ड वेजिटेबल खिचड़ी को चुने! खुशबुसार मसालों में संपूर्ण दाल, ब्राउन राईस और सब्ज़ीयों के मेल से बनी, यह पारंपरिक खिचड़ी, प्रति मात्रा भरपुर मात्रा में लौहतत्व के साथ, विभिन्न प्रकार के आहार तत्व प्रदान करती है। स्वादों से भरी और पौष्टिक, यह स्वादिष्ट व्यंजन अपने आप में ही संपूर्ण खाना है।
एक हल्का खुशबुदार स्प्रैड जिसे लो-फॅट दही, पार्सले, लहसुन और हरी पयाज़ के पत्तों से बनाया गया है, यह पार्सले योगहर्ट स्प्रैड कॅल्शियम और प्रोटीन से भरपुर व्यंजन है जो आपके हृदय के लिए लाभदायक होता है और कलेस्ट्रॉल संतुलित रखने में मदद करता है। पराठे, चीला आदि के साथ इसे चटनी की जगह परोसा जा सकता है या फिंगर फूड के साथ डिप के रुप में परोसा जा सकता है।
आपने बाजरा खिचड़ी का नाम को सुना ही होगा, जो एक मशहुर राजस्थानी व्यंजन है। हालांकि यह एक संपूर्ण व्यंजन है, यह और भी ज़्यादा पौष्टिक और स्वस्थ सामग्री से बना है, जैसे साबूत मूंग, हरे मटर और टमाटर। यह इस खिचड़ौ को ना केवल करारापन और खट्टापन प्रदान करते हैं, लेकिन साथ ही रेशांक, लौहतत्व और प्रोटीन प्रदान करते हैं, जो इस बाजरा, होल मूंग एण्ड ग्रीन पी खिचड़ी को अपने आप में ही संपूर्ण बनाते हैं।
मिले-जुले अंकुरित दानों का प्रयोग करने से, यह व्यंजन प्रोटीन और लौहतत्व से भरपुर बनाता है, वहीं इन्हें अनोखे तरह से, कटी हुई ककड़ी के साथ मिलाने से एक संतुलित स्वाद और रुप भरा व्यंजन बनता है, खासतौर पर जब अंकुरित दानों को सही तरह से पकाया जाए जिससे उनका करारापन बना रहे। और तो और, जिस पानी में इन्हें पकाया जाता है, उसे फेका नहीं जाता, जिससे इस व्यंजन का पौषण तत्व बना रहता है। और भी खास बात यह है कि इसमें कम से कम मसालों के प्रयोग के बाद भी, यह कुकुम्बर एण्ड मिक्स्ड स्प्राउट्स सब्ज़ी स्वाद के मामले में अव्वल है!
आहार तत्वों से भरपुर, टेण्डली और मटकी से बनी इस सब्ज़ी को बनाना बेहद आसान है, जहाँ, ड्याज़, हरी मिर्च, टमाटर और मसाला पाडर जैसे आम स्वाद प्रदान वाले सामग्री का प्रयोग पारंपरिक तरह से इसे बनाया गया है। इस टेण्डली और मटकी की सब्ज़ी को जो अनोखा बनाता है, वह है टेण्डली और अंकुरित दानों का अनोखा मेल, जो एक ही स्वादिष्ट व्यंजन में कॅल्शियम, प्रोटीन और रेशांक प्रदान करता है; और पकाने के अंत में मिलाये हुए टमाटर इनके करारेपन और रस को काफी हद तक बनाए रखते हैं। इसे रोटी या चावल के साथ गरमा गरम परोसें। या बदलाव के लिए, इसके उपर करारी सेव डालकर नाश्ते के रुप में परोसें।

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन