This category has been viewed 11106 times
 Last Updated : Apr 03,2020


 भारतीय स्वस्थ > प्रोटीन भरपुर व्यंजन



High Protein - Read In English
પ્રોટીન યુક્ત વ્યંજન - ગુજરાતી માં વાંચો (High Protein recipes in Gujarati)

शाकाहारी प्रोटीन व्यंजनों, प्रोटीन युक्त व्यंजनों, प्रोटीन युक्त आहार :  High Protein Recipes in Hindi

 

शाकाहारी प्रोटीन व्यंजनों, प्रोटीन युक्त व्यंजनों, प्रोटीन युक्त आहार :  High Protein Recipes in Hindi


Top Recipes

रोटला रेसिपी | बाजरा का रोटला | गुजराती स्टाइल बाजरा रोटला | हेल्दी बाजरा रोटी | rotla recipe in hindi language | with 17 amazing images. रोटला रेसिपी बाजरा, ज्वार या नाचनी के आटे से बनाए जाते हैं और यह घी और गुड़ के साथ बेहद अच्छे लगते हैं। इस बात का ध्यान रखें कि गुजराती स्टाइल बाजरा रोटला को आटा गूँथने के तुरंत बाद बना लें, क्योंकि यह आटा जल्दी सख्त हो जाता है जिसकी वजह से इन्हें बेलना मुश्किल हो जाता है। बाजरा का रोटला को मोटा तौर पर रोल किया जाता है, एक तवा पर पकाया जाता है और फिर भूरे रंग के धब्बे आने तक खुली आंच पर भूनते हैं। परंपरागत रूप से सफेद मक्खन को रोटला पर उतारा जाता है या यदि यह उपलब्ध नहीं है तो आप घी का उपयोग कर सकते हैं। हेल्दी बाजरा रोटी बाजरे के आटे से बनती है जो प्रोटीन में उच्च होती है और दाल के साथ मिलाकर शाकाहारियों के लिए एक पूर्ण प्रोटीन है। धैर्य से और बार-बार बनाने से आप इन बाजरा का रोटला को बहुत अच्छे से बेलने योग्य हो जाऐंगे और यह अच्छी तरह फूलेंगे भी। रोटला आप रिंगणा वटाना , कड़ी और तुवर दाल नी खिचड़ी के साथ परोसें और सम्पूर्ण भोजन का मज़ा लें।
स्वाद से भरा और पौष्टिक एवकाडो आधारित डिप, ग्वाकामोल मेक्सिको में उत्तपन्न हुआ था और अब यह विश्व भर में ना केवल डिप के रुप में, लेकिन सलाद ड्रेसिंग और सेन्डविच टॉपिंग के रुप में भी मशहुर हो गया है। इस बात का ध्यान रखें कि आपने पके हुए एवकाडो चुने हैं, जिससे उनके कच्चा सवाद ना आए, कयोंकि यह इसके स्वाद को खराब कर देते हैं! सही तरह के फल चुनने के बाद, इस डिप में और कुछ नहीं चाहिए, बस काटे और विभिन्न प्रकार की सामग्री के साथ जैसे टमाटर, प्याज़, लहसुन आदि के साथ मिला लें। फ्रेश क्रीम की थोड़ी मात्रा इसके रुप और स्वाद को और भी निहार देते हैं, और वहीं नींबू का रस इसे ताज़ा खट्टापन प्रदान करने के साथ-साथ एवकाडो के रंग को बदलने से बचाता है।
प्रोटीन से भरपुर यह पनीर एण्ड स्पिनॅच सूप अपने आप मे संपुर्ण आहार है! मूंग दाल, पानीर और पालक का प्रयोग इस सूप को बेहद पौष्टिक और पुर्ण बनाता है, और साथ ही प्याज़ और कालीमिर्च इस सूप को सौम्य और तीखे स्वाद प्रदान करते है। अन्य सूप की रेसिपी को भी आजमाईए जैसे अनियन थाईम सूप या कॉर्न, टमॅटो एण्ड स्पिनच सूप
पौष्टिक अंकुरित दाने स्फूर्तिदायक संत्रे और टमाटर के साथ बेहतरीन तरीके से जजता है, जिसमे मीठे केले और अंगुर के स्वाद घुल जाते है। इस स्प्राऊटॅड फ्रूटी बीन सलाद मे सौम्य मसालों का स्वाद इसे और भी स्वादिष्ट बनाता है, जो इस सलाद को खाने वाले को एक मज़ेदार यात्रा मे ले जायेगा।
सादी हो या तीखी, दाल पौष्टिक होती है। लेकिन यह एक बेहतरीन दाल है जिसे आप मना नही कर पायेंगे! चार प्रकार के दाल से बना, जिन्हे प्याज़ और टमाटर के साथ पकाया गया है और चुनिन्दा मसालों के स्वाद से भरी यह मसाला दाल एक बेहतरीन व्यंजन है जिसे गरमा गरम चावल और रोटी के साथ परोसा जाता है।
दक्षिण भारत से उत्तपन्न एक सौम्य नाश्ता, यह उत्तपा अब विश्व भर में मशहुर हो गया है, कयोंकि इसे बहुत से अनोखे तरीके से बनाया जा सकता है। यह भी एक ऐसा ही विकल्प है, जिसे साबूत बाजरा और उसके आटे से बनाया गया है। गाजर और प्याज़ जैसी सब्ज़ीयाँ इस स्वादिष्ट व्यंजन को करारापन प्रदान करते हैं और वहीं धनिया, नींबू आदि मिलकर इसके स्वाद और खुशबु को निखारते हैं। इस बाजरा, कॅरट एण्ड अनियन उत्तपा को हेल्दी ग्रीन चटनी के साथ तवे से उतारकर तुरंत परोसें।
इडली पोडी रेसिपी | मल्गापोडी | गन पाउडर | इडली पोडि | idli podi in hindi | with 16 amazing images. इडली पोडी रेसिपी जिसे इडली मल्गापोडी के रूप में जाना जाता है, एक मसालेदार चटनी है जिसे इडली के साथ परोसा जाता है। मल्गापोडी को तिल के तेल या घी के साथ मिलाकर इडली या डोसे के साथ परोसा जाता है। इडली और दोसा के लिए एक त्वरित चटनी के रूप में परोसी जाने वाली, मल्गापोडी एक सुगंधित चटनी पाउडर है जो भुने हुए उड़द दाल और लाल मिर्च से बनती है जिनमें गुड और तिल मिलाया जाता है, जो स्वाद और सुगंध को उजागर करता है। दक्षिण भारतीय घरों और रेस्टॉरंट में, मल्गापोडी को भुले बिना परोसा जाता है भले ही अन्य संगतियों के साथ परोसा जाए या नहीं। ज्यादातर लोग इस ऑल-टाइम पसंदीदा के साथ कम से कम एक इडली या डोसा रखना पसंद करते हैं! इडली और डोसा को भी मल्गापोडी के मिश्रण के साथ पकाया जाता है, जब यात्रा के लिए भोजन के रूप में इडली, डोसा पैक किए जाते हैं। इडली को मल्गापोडी लंबे समय तक नम रखता है। आप लाल मिर्च की मात्रा अलग-अलग हो सकते हैं, यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपको यह कितना पसंद है। मैं सही इडली मल्गापोडी बनाने के लिए कुछ महत्वपूर्ण टिप्स देना चाहूंगी । 1. सबसे अच्छा परिणाम प्राप्त करने के लिए, सुनिश्चित करें कि दाल और मसाले ताजे हैं और पत्थरों के लिए उन्हें साफ करें। हमारे पास सब कुछ सूखा-भुना हुआ है, अगर आप चाहें तो भूनने के लिए तेल का उपयोग कर सकते हैं लेकिन, यह मल्गापोडी पाउडर की शेल्फ लाइफ को कम कर देगा। 2. बहुत से लोग तिल को मल्गापोडी की चटनी में मिलाते हैं, इसे जोड़ना आपके ऊपर निर्भर करता है। 3. हमने कश्मीरी लाल मिर्च का इस्तेमाल मल्गापोडी बनाने के लिए किया है, लेकिन आप पांडी मिर्च या ब्यादगी मिर्च भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके अलावा, मसाला स्तर के आधार पर मात्रा को बढ़ाया या घटाया जा सकता है। 4. इडली पोडी को थोड़े मोटे पाउडर में ब्लेंड करें। एक अच्छा मोटे पाउडर प्राप्त करने के लिए इसे अंतराल में पीसें, लेकिन अगर आपको अच्छा लगता है, तो बारीक होने तक पीसें। नीचे दिया गया है इडली पोडी रेसिपी | मल्गापोडी | गन पाउडर | इडली पोडि | idli podi in hindi | स्टेप बाय स्टेप फोटो के साथ।
इन पनीर मसूर पराठों में एक घरेलू एहसास है। शायद यह संतोषजनक तो हैं, पर साथ ही परंपरागत सामग्री का उपयोग करके एक संपूर्ण भोजन का एहसास देते हैं। इन मनमोहक पराठों में, गेहूं के आटे में मसूर और पनीर के साथ प्याज़ और मसालों के संयोजन से तैयार होते भरवां मिश्रण को भर दिया है। यह सुनिश्चित करें कि मसूर को अन्य सामग्री के साथ मिलाने से पहले, उन्हें अच्छी तरह से छान लें, नहीं तो पराठे नरम पड जाएँगे। इन पराठों को गरमा-गरम ताज़ा दही के साथ परोसें।
शाकाहारी खाने में विटामीन बी12 और प्रोटीन की कमी होती है और सोया एक शाकाहारी खाद्य स्रोत है जो विटामीन और प्रोटीन से भरपुर होता है। इस पौष्टिक पुलाव बहुत से स्वाद होते हैं जो आपके बच्चे के लिए नये हो सकते हैं। इसे दही या दाल के साथ परोसकर स्वाद को सौम्य बनायें, जिससे वह खाने में नये स्वाद को आसानी से अपना सके।
एक चम्मच तेल आश्चर्यजनक व्यंजन तैयार कर सकता जब उसके साथ उपयोग किए जाने वाले बाकी सारे अवयव सही चूने जाते हैं और इसका आदर्श उदाहरण है वह मूंग दाल और पनीर टिक्की। क्या आपने कभी कम तेल का उपयोग करके कुरकुरे और रसीले कबाब तैयार करने की कल्पना की है? यदि नहीं, तो इस व्यंजन में आपको ये देखने मिलेगा। मूंग दाल और पनीर के साथ रागी का आटा और मसालों को मिलाकर यह प्रोटिन युक्त कबाब तैयार किए गए हैं। आप इस कबाब को हरी चटनी के साथ परोस सकते हैं या फिर इन्हें रोटी में लपेटके तृप्त करनेवाला रॅप तैयार कर सकते हैं।

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन