This category has been viewed 35742 times
 Last Updated : Sep 17,2018


 कोर्स रेसिपी, भारतीय कोर्स रेसिपी, वेज मुख्य व्यंजनों > डेसर्टस् बिना अंडे डेसर्टस्



Desserts - Read In English
ઇંડા વગરની ડૅઝર્ટસ્ - ગુજરાતી માં વાંચો (Desserts recipes in Gujarati)

हमारे अन्य डेसर्टस् रेसिपी की कोशिश करो ...
बर्फी रेसिपी : Dessert Barfi Recipes in Hindi
सूखे फल के डेसर्टस् रेसिपी : Dessert Dry Fruit Flavours Recipes in Hindi
फल आधारित डेसर्टस् रेसिपी : Dessert Fruit Based Dessert Recipes in Hindi
हलवा रेसिपी : Dessert Halwa Recipes in Hindi
खीर रेसिपी : Dessert Kheer Recipes in Hindi
लो कॅल मिठाई डेसर्टस् रेसिपी : Dessert Low Calorie Sweets Recipes in Hindi
मूस की रेसिपी : Dessert Mousse Recipes in Hindi
लड्डू पेढ़ा की रेसिपी : Dessert Laddu/Peda Recipes in Hindi
शीरा की रेसिपी : Dessert Sheera Recipes in Hindi
संण्डे की रेसिपी : Dessert Sundae Recipes in Hindi
पारंपारिक भारतीय मिठाई की रेसिपी :Dessert Indian Desserts Recipes in Hindi
हैप्पी पाक कला!

 


Top Recipes

Goto Page: 1 2 3 
ग्लास में तैयार करके परोसे जाने वाला यह सन्डे इतना आकर्षक बनता है कि आप मुख्य व्यंजन छोड़कर इसे खाने के लिए ललचित हो जाएँगे। इस डिज़र्ट को सबसे बड़ी खासियत है कि यह कुछ ही मिनटों में तैयार किया जा सकता है। इसमें मारी बिस्कुट की परत पर स्ट्राबेरी और क्रीम डालकर, जैली के टुकड़ो से सजाया गया है। इस डिज़र्ट में विविध बनावट और स्वाद का एहसास एक ही ग्लास में मिल जाता है। इसे परोसने से पहले ही तैयार कीजिए ताकी बिस्कुट की करकरी परत बनी रहे। अन्य सन्डे रेसिपी को भी आजमाईए जैसे फ्रूट एण्ड जैली सन्डे और कुल्फी एण्ड जलेबी सन्डे
यह स्ट्रॉबेरी प्रालाइन केक एक मज़ेदार डिज़र्ट है जिसमें संतरे के रस में डुबोए हुए नाईस बिस्कुट के उपर व्हीप्ड क्रिम की परत और उपर से स्ट्रोबेरी और क्रश की हुई चिक्की का छिड़काव किया गया है। ध्यान रहे कि चिक्की दरदरी ही क्रश की हुई होनी चाहिए जैसे अक्सर प्रालाईन होता है। परोसने के समय तक इसका संग्रह फ्रिज में ही करें क्योंकि इस डिज़र्ट को ठंडा खाने का मज़ा बहुत ही अनोखा है। एप्पल हनी पॅनकेक और क्रन्ची पाईनएप्पल केक भी जरूर आज़माइए।
आपने आज तक गुलाब जामुन या आइसक्रीम के साथ गाज़र के हलवे का मज़ा लिया होगा। हालांकि, यह थाई स्टाल बनाना एक ताज़गी भरा और बहुत ही अनोखा व्यंजन है। आपने इससे पहले ऐसा अनोखा व्यंजन कभी नहीं खाया होगा क्योंकि केले के फ्रिटर्स्, जो इस नुस्खे का आधार रूप हैं वह तिल मिलाकर बनाए गए सुगंधीदार घोल से बनाए गए हैं। नारियल का दूध इन फ्रिटर्स् की बनावट को बढ़ावा देता है और इससे यह काफ़ी रोमांचक बन जाता हैं। घोल के आवरण वाले केले की स्लाइस को तलकर भूरे और करकरे बनने के लिए थोड़ा समय लगता है इसलिए थोड़ा धीरज रखना जरूरी है। इन तले हुए फ्रिटर्स् को मुँह में पानी लाने वाली वैनिला आइसक्रीम के साथ तुरंत परोसें। अन्य थाई रेसिपी को भी आजमाईए जैसे पैड थाई नूडल्स और थाई ग्रीन राईस
यह व्यंजन सभी मीठा पसंद करने वालों के लिए अमृत है, खासतोर पर उनके लिए जिन्हें शीरा बेहद पसंद आता है। इस दरदरे, गरमा गरम मिठाई को बनाने के लिए लंबा समय लगता है- क्योंकि इसे पकाने के लिए लगातार हिलाते हुए धिमी आँच पर पकाना ज़रुरी होता है- लेकिन यह व्यर्थ नहीं है! केसर को गुनगुने दूध में कम से कम 20 मिनट के लिए भिगोऐं क्योंकि यह रंग प्रदान करने के साथ-साथ खुशबु भी प्रदान करता है।
एक बेहद स्वादिष्ट गुजराती व्यंजन जो दलिये की पौष्टिक्ता और इलायची की मज़ेदार खुशबु को दर्शाता है। यह विश्व भर में सबका पसंदिदा व्यंजन है!
गुजराती बासुंदी एक शाही और स्वादिष्ट गाढ़े दूध की गुजराती मिठाई है, जो उत्तर भारतीय रबड़ी के समान है। मूल रूप से दूध को मोटे सतह वाले पॅन में उबालकर कम किया जाता हैं। बादाम और पिस्ता इस समृद्ध और मलाईदार मिठाई में करकरापन जोडते हैँ। बासुंदी पकाते समय ध्यान रहे कि पॅन को खुरचते रहने है, ताकि बासुंदी गाढ़ी तैयार हो और उसे अपनी सही मलाईदार बनावट भी प्राप्त हो। दूसरी बात यह भी ध्यान में रखें कि खुरचते के लिए एक गोल चम्मच का उपयोग न करके एक सपाट चम्मच का उपयोग करें तो खुरचना सुविधाजनक होगा। इसे आप गरम या ठंडा तली हुई पुरी और उंधियु के साथ परोस सकते हैं। अक्सर रक्षा बंधन, जन्माष्टमी या नवरात्री जैसे त्यौहारों के आने से मेरे पिताजी 5 बजे से दूध उबालना शुरू कर देते थे ताकि माँ के उठने से पहले गैस भोजन बनाने के लिए मु्क्त हो। प्रामाणिक बासुंदी के नुस्खे को हल्का मोड़ देकर आप फलों के स्वाद भरी अनानस की बासुंदी भी तैयार कर सकते हैं। बासुंदी के पकाने की प्रक्रिया को तेज़ करने के लिए आप कंडेन्सड मिल्क का भी प्रयोग कर सकते हैं। बासुंदी बनाने का नुस्खा यहाँ क्रमशः तस्वीरो के साथ दर्शाया गया है। गोलपापडी, कोपरा पाक और मोहनथाल जैसी अन्य गुजराती मिठाई भी जरूर आज़माईए।
दूध पाक एक हल्की गाढ़ी मिठाई है, जो दूध की पौष्टिक्ता से भरपुर है। दूध को थोड़ी देर के लिए धिमी आँच पर उबाला जाता है, बाद में चावल डालकर धिमी आँच पर पकाया जाता है। जैसे ही चावल पूरी तरह पक जाते हैं, इसमें इसे एक मज़ेदार मनमोहक खुशबु आती है। अंत में मिलाए इलायची पाउडर और केसर इस व्यंजन को एक बेहतरीन रुप प्रदान करते हैं।
मोहनथाल एक और मशहुर गुजराती मिठाई है। इस मिठाई को सही तरह से बनाना ज़रुरी होता है, कयोंकि एक तार वाली चाशनी इस व्यंजन को अच्छी तरह से बनाने का मूल है। अगर बहुत ज़्यादा पक जाए, इस व्यंजन के रंग और स्वाद पर प्रभाव पड़ता है। साथ ही, इस व्यंजन को नरम रुप प्रदान करने वाले मावा को बेसन के अच्छी तरह सुनहरा होने के बाद डालने के बाद मिलाना चाहिए।
यह गेहूं से बना मीठा, किसी भी पारंपरिक गुजराती मिठाई की तुलना मे बनाने में बेहद आसान है। चूंकी इसमें बहुत ज़्यादा घी का प्रयोग नही किया जाता है और इसे बनाना भी बेहद आसान है, आप इसे शाम के नाश्ते के लिए भी बना सकते हैं। गुड़ को पतला कीसने का ध्यान रखें, जिससे इसके मिश्रण में डल्ले ना बने। सर्दीयों के मौसम में, आप इसमें गौंद भी डाल सकते हैं, जैसे बहुत से गुजरात के श्रेत्रों में किया जाता है।
कहते हैं कि एक अच्छी पुरन पोली बनाना आसान कार्य नहीं है और काफी अभ्यास के बाद ही इसे बनाया जा सकता है…देखा गया तो यह एक कला है! महाराष्ट्रियन पपुरन पोली के अनुकुल, जिनमें चना दाल का प्रयोग किया जाता है, गुजराती विकल्प में तुवर दाल का प्रयोग किया जाता है। इसके अनोखे स्वाद और खुशबु का श्रेय इसमें प्रयोग होने वाले भारतीय मसालों को दिया जा सकता है।

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन