This category has been viewed 11080 times
 Last Updated : May 12,2019


 कोर्स रेसिपी, भारतीय कोर्स रेसिपी, वेज मुख्य व्यंजनों > लंच



Lunch - Read In English
બપોરના અલ્પાહાર - ગુજરાતી માં વાંચો (Lunch recipes in Gujarati)
हमारे अन्य लंच रेसिपी की कोशिश करो ...
लंच मे फरसाण रेसिपी : Farsan Recipes for Lunch in Hindi
लंच मे बिरयानी रेसिपी : Biryani Recipes for Lunch, Recipes in Hindi
लंच मे दाल रेसिपी : Dal Recipes for Lunch in Hindi
लंच मे कढ़ी रेसिपी : Kadhi Recipes for Lunch in Hindi
लंच मे मिठाई रेसिपी : Mithai Recipes for Lunch in Hindi
लंच मे पराठा रेसिपी : Paratha Recipes for Lunch in Hindi
लंच मे रायता रेसिपी : Raita Recipes for Lunch in Hindi
लंच मे रोटी की रेसिपी : Roti Recipes for Lunch in Hindi
लंच मे रायता रेसिपी : Raita Recipes for Lunch in Hindi
लंच मे सब्जी़ रेसिपी : Sabzi Recipes for Lunch in Hindi
लंच मे सलाद की रेसिपी : Salad Recipes for Lunch in Hindi
हैप्पी पाक कला!


Top Recipes

कद्दू और दाल से बना एक ग्रेवी जैसा व्यंजन। चाऊ-चाऊ, परवल, पत्तागोभी, गाजर आदि जैसी सब्ज़ीयों को भी इस तरह पकाया जा सकता है। अकसर, एक पारंपरिक दक्षिण भारतीय खाने में एक सूखी करी और कूटु ज़रुर होता है।
सरल और सामान्य अवयवों को मिलाकर यह मनोरंजक रोटी तैयार की गई है, जो उच्च रक्तचाप के भोजन के लिए बखूबी उपयुक्त है। प्याज़ और पत्तागोभी के करकरेपन के साथ लहसुन और हरी मिर्च का चटाकेदार स्वाद इस रोटी की खासियत है। स्वाद और बनावट जोड़ने के अलावा प्याज़ और लहसुन हृदय के लिए यह उच्च रक्तचाप के आहार के लिए उपयुक्त है।
कर्ड राईस हर दक्षिण भारतीय के हृदय के करीब होता है, खासतौर पर ब्राम्हन के लिए, जो यह मानने में नहीं कतराते हैं कि यह व्यंजन उनके लिए प्रशाद के समान है। किसी भी प्रकार के दक्षिण भारतीय खाने को परोसें, लेकिन वह खाना अधुरा होता है जब तक अंत में कर्ड राईस ना परोसा जाये, जो शरीर को ठंडक प्रदान करता है, जो अन्य तीखे व्यंजन के स्वाद को संतुलित बनाता है।
चाहे तड़के के रुप में या स्वाद प्रदान करने के लिए, कड़ी पत्ता का प्रयोग दक्षिण भारतीय खाने में अलग स्थान रखता है। यह दक्षिण भारतीय व्यंजन इस बात को सत्य बनाता है, जहाँ कड़ी पत्ते की अनोखी खुशबु और इसका अनोखा स्वाद हवा में फैल जायेगा और आपके मूँह में ज़रुर पानी ले आएगा।
पुदीने में ऐसी खुशबु होती है जिसे छुपाया नहीं जा सकता ! जैसे ही पुदिना पराठा तवे पर पकाया जाता है, पुदीने और अजवायन की हल्की सी खुशबु हवा में घुल जाती है। यह पराठे बहुत ही स्वादिष्ट होते हैं, जिसे आप दही या आचार के साथ परोस सकते हैं। इन्हें सुबह के खाने या लम्बी यात्रा के लिए भी बाँधा जा सकता है।
आलू मेथी एक रोज़ का नुस्खा है जो बहुत ही आसान स्वादिष्ट और मज़ेदार है। जब भी आप इसे चखेंगे आपकी आलू के साथ मेथी की सुखद कडवाहट जरूर ही अच्छी लगेगी। इस सब्ज़ी में मिलाए जानेवाले बाकी सारी रोज़मर्रा अवयव जैसे कि अदरक, लहसुन, ज़ीरा और लाल मिर्च इसे समृद्ध सुगंध और स्वाद प्रदान करते हैं। यह सब्ज़ी चपाती के साथ बहुत ही अच्छा संयोजन बनाती है। लंबे समय के लिए आलू को पकाने के कारण उन्हें थोड़ा कुरकुरा बनाते हैं और साथ ही भूरा रंग भी देते हैं। और तो वास्तव में इसी के कारण लहसुन, हरी मिर्च और अदरक का स्वाद आलू बखूबी सोख लेते है। मैथी के साथ अन्य सब्ज़ी के संयोजन भी आज़माएं जैसे मेथी पालक पनीर सब्ज़ी, केला मेथी नू शाक और फूलगोभी के पत्ते, मेथी और पालक की सब्ज़ी
यह नुस्खा कच्चे कटहल का आनंद लेने का एक झटपट और आसान तरीका है। आम तौर इस सब्ज़ी में कटहल को उपलब्ध मसालों, मसाले के पाउडर और प्याज़, टमाटर, अदरक आदि जैसे अव्ययों के साथ मिलाकर प्रेशर कुकर में पकाया गया है। प्रेशर कुकर में पकाने के बाद इस सब्ज़ी को कुछ मिनट के लिए फिर पकाना ज़रूरी है, ताकि कटहल की कच्ची गंध न रह जाए। असल में कटहल की अनूठी बनावट ही इस करी को आकर्षक बनाती है। इस करी का आनंद दाल और रोटी के साथ लें।
यह जायकेदार हैदराबादी बगारा बैंगन खास आप के लिए है, जो अनेक विविध सुगंधीदार बीज और मसालों से बनाया गया है। यहाँ चीरे हुए बैंगन को कड़ीपत्ते और हरी मिर्च के सुगंधित और तीखे वघार और प्याज़, अदरक, मसाला पाउडर और मूंगफली से बनती एक शाही पेस्ट के साथ पकाया गया है। दरअसल, इस सब्ज़ी के हर निवाले में स्वाद भरा हुआ है और यह सादे चावल या रोटी के साथ एक यादगार भोजन बनाता है।
भिंडी जिसे ओकरा भी कहा जाता है, यह भारत में सबसे अधिक उपयोग होने वाली सब्ज़ी में से एक है। पंजाबियों को भिंडी हर रूप में पसंद आती है - फिर चाहे वो करी के रूप में परोसी जाए हो या भरवां बनाकर। इस नुस्खे में भिंडी को तलकर करकरी बनाने के बाद मसालों के साथ पकाया गया है। इस सूखी भिंडी को पंजाबी दाल / कढ़ी और चावल के साथ परोसें।
आलू और पालक का संयोजन, जो बहुत ही प्रख्यात है, वह यहाँ इस सब्ज़ी में भी पाया गया है। एक बार आपने आलू को छिलकर काट लिया हो और पालक को धोकर काट लिया हो, फिर रोज़मर्रा के मसालों से यह सब्ज़ी बहुत ही आसानी से बनाई जा सकती है। हालांकि यह बहुत ही साधारण लगती है, पर उपयुक्त संयोजन से बनती यह सब्ज़ी वास्तव में बहुत ही मज़ेदार बनती है। अपनी पसंदीदा रोटी के साथ गरमा-गरम इसका आनंद लीजिए।

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन