This category has been viewed 41381 times
 Last Updated : Mar 12,2020


 कोर्स रेसिपी, भारतीय कोर्स रेसिपी, वेज मुख्य व्यंजनों > मेन कोर्स वेज > सब्जी़ रेसिपी , करी



Sabzis, Curries - Read In English
શાક રેસિપિ, કરી - ગુજરાતી માં વાંચો (Sabzis, Curries recipes in Gujarati)

सब्जी़  रेसिपी संग्रह, करी रेसिपी, Sabzis Curries Recipes in Hindi 


Top Recipes

लो-फैट दूध और लो-फैट दही से बने लो-फैट पनीर में फुल फैट पनीर की तुलना में ज्यादा प्रोटीन और कैल्शियम होता है। यह रेसिपी 1 कप कसा हुआ, टुकडे किए हुए या क्यूब किए हुए पनीर देती है। नींबू के रस के बजाय दही का उपयोग करने से न सिर्फ पनीर की अधिक मात्रा मिलती है, बल्कि यह उसे मुलायम भी बना देती है। बेहतर परिणाम पाने के लिए ताजा बने पनीर का उपयोग करें। लो-फैट पनीर से पनीर खीर , ग्रिल्ड हॉट एण्ड स्वीट पनीर या पनीर खुरचन रोल जैसे व्यंजन बनाकर देखें।
एक पारंपरिक महाराष्ट्रियन व्यंजन, जिसमें अंकुरित वाल डालकर इसे पौष्टिक बनाया गया है। आहार तत्व बढ़ाने के साथ-साथ, वाल को अंकुरित करने से यह पचाने में आसान हो जाते हैं, जो इस व्यंजन को दोनो बच्चे और वृद्धों के लिए लाभदायक बनाते हैं। बहुत सी खुशबुदार सामग्री के साथ, यह लौहतत्व भरपुर स्प्राउटड वाल की उसल आपके लिए तोहफे के समान है। इसके साथ ही, कोकम और गुड़ ना केवल खट्टा स्वाद प्रदान करते हैं, लेकिन साथ लौहतत्व की मात्रा को बढ़ाने में मदद करते हैं। विटामीन सी भरपुर हरे धनिया को मिलाने से यह लौह को सोखने में मदद करता है।
भारत के पश्चिमी तट में श्रेत्र में भरपुर मात्रा में पाये जाने वाला काजू, यह अकसर विभिन्न करी में सब्ज़ीयों के साथ जजता है। इसे अकसर सहजन फल्ली, फण्सी आदि के साथ मिलाया जाता है। काजू के सादे स्वाद को संतुलित बनाने के लिए अकसर बहुत से मसालों का प्रयोग किया जाता है।
वेजिटेबल कोरमा एक ऐसा व्यंजन है जो भारत में साल भर मिलता है, लेकिन यह देखकर आपको मज़ा आएगा कि कैसे श्रेत्र से श्रेत्र में इसके मसाले और इसका स्वाद अलग होता है। पेश है कोरमा का एक दक्षिण भारतीय विकल्प जो चावल, पुरी, अप्पम आदि के लिए एक मसालेदार व्यंजन बनाता है।
अवियल एक ऐसा व्यंजन है जिसका उत्पादन केरेला में हुआ था, लेकिन यह तमिल नाडू में भी उतना ही मशहुर हो गया है। बहुत ही कम होता है कि शादि या त्यौहारों में अवियल ना बना हो! बेहतरीन अवियल बनाने का राज़ यह है कि इन दोनों बात पर ध्यान दिया जाए कि गाजर, फण्सी, कद्दू आदि जैसी सब्ज़ीयों के चटकीले रंग पर ध्यान देते हुए, इन्हें पतले 1" के लंबे टुकड़ों मे काटा जाये और साथ ही इन्हें करारा होने तक अच्छी तरह पकाया जाए। अगर आपने ऐसा किया है, आपका आधा कार्य अच्छी तरह हो गया है!
मिले-जुले अंकुरित दानों का प्रयोग कर, एक पारंपरिक महाराष्ट्रियन व्यंजन को पौष्टिक बनाया गया है। अंकुरित करने से ना केवल प्रोटीन की मात्रा बढ़ती है लेकिन साथ ही इस व्यंजन को पचाने में आसान और कॅल्शियम से भरपुर बनाता है। जहाँ काफी विधी में कोकम का प्रयोग किया जाता है, खट्टापन प्रदान करने के लिए, हमने यहाँ टमाटर का प्रयोग किया है जिससे इस व्यंजन को कोई भी आसानी से बना सकता है, यहाँ तक कि ऐसे क्षेत्रों में जहाँ कोकम आसानी से नहीं मिलता।
यह एक ऐसा दक्षिण भारतीय व्यंजन है जिसे किसी परिचय की आवशआयक्ता नहीं है, और यह सभी में से सबसे ज़्यादा बहुउपयोगी है। हर परिवार अलग-अलग माप में सामग्री का प्रयोग करता है। आप अपनी पसंद अनुसार भी सामग्री के माप को बदल सकते हैं। साम्भर में (या किसी भी कूज़ाम्बू में) मिलाई गई सब्ज़ीयों को थान कहते हैं। विभिन्न थान इस प्रकार हैं- सहजन फल्ली, आलू, अरबी, गाजर, कद्दू, बैंगन, भिंडी आदि।
आपने बहुत से पनीर से बनी सब्ज़ीयाँ खाकर देखी होंगी, लेकिन अकसर उनका आधार मलाईदार और टमाटर से बना हुआ होता है। पेश है पनीर से बना एक बेहद अलग व्यंजन, जहाँ दही से बने आधार में मिले-जुले मसालों के अनोखे मेल को डाला गया है, जैसे जीरा, कलौंजी, सौंफ, सरसों और मेथी। दहीवाली पनीर सब्ज़ी को अपने पसंद की रोटी या पुरी के साथ गरमा गरम और ताज़ा परोसें और अपने मूँह में भरपुर स्वाद के मेल को अनुभव करें।
इस प्रोटीन युक्त ब्लेक बीन दाल में एक बहुत ही आनंददायक गुण है, जो बेहद स्वादिष्ट और बनाने में भी बहुत आसान है। सब मिलाकर, एक ही पैकेट में बहुत सारी अच्छी बातें है! इस दाल को बनाने के लिए आपको बस थोड़े से आयोजन की जरुरत है और रात भर दाल भीगोने की, और फिर टमाटर, प्याज़ और सामान्य मसालों का जादू अपना काम करेगा।
हर रोज़ बनने वाली यह दूधी और चना दाल सब्ज़ी पौष्टिक्ता से भरपुर होती है। अगर आपने दाल पहले से भिगो रखी है, तो इस प्रोटीन और फोलिक एसिड से भरपुर, जिसका श्रेय चना दाल और लौकी को जाता है, इस सब्ज़ी को आसानी से और झटपट बनाया जा सकता है। सबसे अच्छी बात यह है कि यह बिना किसी झंझट के और मेहनत के बनने वाली सब्ज़ी है और इसमें प्रयोग होने वाली सभी सामग्री आपके घर पर आसानी से मिल जाती है।

Categories

  • विभिन्न व्यंजन



  • कोर्स

  • बच्चों का आहार



  • संपूर्ण स्वास्थ्य व्यंजन

  • झट - पट व्यंजन